शनि शाम 124 नये कोरोना केसों में दून से 34, टिहरी से 24,प्रदेश में संख्या हुई 2301

उत्तराखंड में कोरोना के 124 नए मामले, 2301 हुई मरीजों की संख्या
देहरादून,। उत्तराखंड में कोरोना वायरस का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। शनिवार को 124 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है,जिनमें 34 देहरादून,11 अल्मोड़ा,सात चमोली,पांच हरिद्वार,दो पौड़ी गढ़वाल,चार रुद्रप्रयाग,24 टिहरी गढ़वाल,12 ऊधमसिंह नगर,पांच बागेश्‍वर,पांच नैनीताल और 15 उत्तरकाशी के हैं। इसके बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 2301 तक पहुंच गई है। हालांकि, इनमें से 1450 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं,जबकि 27 लोगों की मौत हो चुकी थी। वहीं,809 केस एक्टिव हैं। आपको बता दें कि अब तक सबसे अधिक मामले 600 देहरादून,370 टिहरी गढ़वाल और 366 नैनीताल में सामने आए हैं।

कोरोना पॉजिटिव एक और मरीज की मौत

हल्द्वानी में कोरोना पॉजिटिव एक और मरीज की मौत हो गई है। अल्मोड़ा निवासी 66 वर्षीय महिला की तबीयत खराब हो चुकी थी। 14 जून को एसटीएच रेफर किया गया था। चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर अरुण जोशी ने बताया कि महिला की तबीयत गंभीर थी। उसे निमोनिया,डायबिटीज,उच्च रक्तचाप व अन्य बीमारियां थी। कोरोना टेस्ट भी पॉजिटिव निकला था। शनिवार को उसकी मौत हो गई। वहीं जिले में पांच मरीजों की मौत हो चुकी है। इसमें एक चंपावत,दो अल्मोड़ा व एक नैनीताल जिले का मरीज था।

उत्तरकाशी में 12 लोग कोरोना संक्रमित

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर 16 जून को लिए गए सैंपल में से कुल 57 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त मिली है, जिनमें से 45 की रिपोर्ट नेगेटिव और 12 सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें धारकोट चिन्यालीसौड़ में एक परिवार के दो लोग, जोगत के एक परिवार के चार और बड़ेथी और दशगी में एक-एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसी के साथ ही मिश्र गांव डुंडा में एक ही परिवार के चार लोगों के सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। ये सभी हरियाणा और दिल्ली से लौटे हैं। फिलहाल, जिले में अब तक 53 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

रुद्रप्रयाग में महिला समेत चार लोग संक्रमित

रुद्रप्रयाग जिले में कोरोना के चार और मामले सामने आए हैं। इममें तीन पुरूष और एक महिला शामिल है, जो जखोली ब्लॉक के हैं। ये चारों 16 जून को दिल्ली से वापस लौटे थे, जिसके बाद से ही वे संस्थागत क्वारंटाइन हैं। स्वास्थ्य विभाग ने 17 जून को सैंपल टेस्ट के लिए श्रीनगर भेजा था। इन चारों को स्वास्थ्य विभाग आइसोलेशन वॉर्ड में शिफ्ट कर रहा है। आपको बता दें कि अब जिले में कोरोमा के कुल 56 मामले हो गए हैं।

रुड़की के युवक में कोरोना की पुष्टि

कोतवाली रुड़की क्षेत्र के डबल फाटक निवासी एक युवक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। युवक 12 जून को करनाल हरियाणा से वापस लौटा था। 18 जून को सिविल अस्पताल रुड़की में उसका सैंपल लिया गया था। ऋषिकेश एम्स में उसके सैंपल की जांच हुई, जिसमें युवक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

मंडी समिति के अध्यक्ष की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद बैठक

कृषि उत्पादन मंडी समिति ऋषिकेश के अध्यक्ष की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती के सिटी रिस्पॉन्स टीम की बैठक बुलाई गई। नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती सभागार में सीआरटी टीम के नोडल अधिकारी और अधिशासी अधिकारी बद्री प्रसाद भट्ट ने सीआरटी टीम के तीन प्रभारियों सहित सभी 15 सदस्यों की बैठक बुलाई।

बैठक में पालिका अध्यक्ष रोशन रतूड़ी सहित अधिशासी अधिकारी ने टीम के सदस्यों को कोविड पॉजिटिव व्यक्ति के प्रथम और द्वितीय संपर्कों की सर्चिंग के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि यह कार्य अत्यधिक महत्वपूर्ण है। इसको लेकर गंभीरता बरते जाने की जरूरत है। अधिशासी अधिकारी ने बताया कि मंडी समिति अध्यक्ष के प्रथम संपर्क वाली लोगों में 31 लोग शामिल हैं। उनकी पत्नी और पुत्र को सीमा डेंटल कॉलेज कोरेन्टीन सेंटर में आइसोलेट किया गया है।शेष 29 लोगों को मुनिकीरेती क्षेत्र में ही होम और संस्थागत कोरेन्टीन किया गया है। बैठक में टीम लीडर जाबिर अली, रूपेश भट्ट, शिल्पा शामिल रहे।

आइसोलेट थे चिकित्सक

पिछले दिनों दून अस्पताल से डिस्चार्ज एक युवती के होम आइसोलेशन के बजाए भाई संग कोरोनेशन अस्पताल पहुंचने से हड़कंप मच गया था। उसके बाद से ही एक वरिष्ठ फिजीशियन और कुछ अन्य डॉक्टरों को संदेह के आधार पर आइसोलेट कर दिया गया था। साथ ही उनके कोरोना सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए थे। अब उनमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने पर अस्पताल के दूसरे कर्मचारियों और भर्ती मरीजों को लेकर भी संशय पैदा हो गया है।

दोबारा लिए जाएंगे सैंपल

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर बीसी रमोला ने कहा कि 33 स्वास्थ्य कर्मियों में से 17 की रिपोर्ट पॉजिटिव आना शक पैदा कर रहा है। इसे देखते हुए सभी के दोबारा से सैंपल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजे जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *