बुध 535 नये कोरोना केसों में 170 दून से,प्रदेश में 16549

उत्तराखंड में कोरोना के 535 नए मामले, छह संक्रमितों की मौत
देहरादून, 26 अगस्त। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को 535 नए मामले सामने आए हैं,जिनमें सबसे अधिक मामले 170 मामले देहरादून में सामने आए हैं। इसके अलावा 80 हरिद्वार, 81 नैनीताल,80 हरिद्वार,64 ऊधमसिंह नगर,36 टिहरी गढ़वाल, 25 पौड़ी गढ़वाल,22 चमोली,20 चंपावत,15 उत्तरकाशी, 13 बागेश्वर, सात पिथौरागढ़ और दो रुद्रप्रयाग में सामने आए हैं। वहीं,323 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि छह की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 16549 हो गई है। इनमें से 11524 पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। वर्तमान में 4749 मामले एक्टिव हैं,जबकि 219 की मौत हो गई है। इसके अलावा 57 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं।

एम्स में चार संक्रमितों की मौत

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्‍स) ऋषिकेश में कोरोना संक्रमित चार रोगियों की मौत हुई है। इनमें तीन महिलाएं शामिल है। एम्स प्रशासन के मुताबिक ऋषिकेश निवासी 52 वर्षीय पुरुष,चंपावत निवासी 47 वर्षीय महिला, हरिद्वार निवासी 62 वर्ष और 47 वर्ष की महिलाओं की मौत हुई है। यह चारों रोगी अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित थे।

मसूरी विधायक गणेश जोशी सेल्फ क्वारंटाइन हुए

मसूरी विधायक गणेश जोशी सेल्फ क्वारंटाइन हुए हैं। बता दें कि दो दिन पूर्व मसूरी में क्षेत्रवासियों से विधायक मिले थे, जिनमें से एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना है। इस पर विधायक ने सावधानी के लिए खुद को क्वारंटाइन करने का फैसला किया है।

पीएनबी शाखा दो सितंबर तक को बंद

गैरसैंण नगर स्थित पीएनबी शाखा के एक कर्मचारी में कोरोना की पुष्टि होने पर शाखा को दो सितंबर तक के लिए बंद कर दिया गया है। सामुदायिक स्वाथ्य केंद्र के चीफ फार्मासिस्ट आरबीएस पंवार ने इस संबंध में बताया कि शाखा का एक बैंक कर्मी सप्ताह भर पहले हरिद्वार गया, जहां उसका कोरोना सैंपल पॉजिटिव पाया गया। वह हरिद्वार में ही क्वारंटाइन किया गया है। कहा कि सुरक्षा के दृष्टिगत सभी बैंक कर्मियों के सैंपल लिए जा रहे हैं। नगर पंचायत ने बैंक को सैनिटाइजर किए जाने के आदेश दिए गए हैं।

वृद्ध की उपचार के दौरान मौत

उत्तरकाशी के कोविड सेंडर में उपचार के दौरान एक बुजुर्ग की मौत हुई है। 70 वर्षीय वृद्ध जोशियाड़ा निवासी था और बीते मंगलवार को कोविड अस्पताल में भर्ती हुआ। ट्रूनेट मशीन से जांच करने पर वृद्ध कोरोना पॉजिटिव आया। कोविड प्रभारी डॉक्टर विपुल विश्वास ने इसकी पुष्टि की है।

लैंसडौन में पांच और लोगों की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजीटिव

लैंसडौन में पांच और लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जिससे कोरोना संक्रामित लोगों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है। छावनी परिषद ने बुधवार को प्रस्तावित कैंट की बोर्ड बैठक को स्थागित कर दिया है। परगनाधिकारी अर्पणा ढौढि‍याल ने बताया की संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची तैयार करने के बाद कैंट क्षेत्र को सील करने पर विचार किया जाएगा।

उत्तराखंड में पिछले 25 दिन में सामने आए कोरोना के 8831 नए मामले

कोरोना की दृष्टि से अगस्त का महीना उत्तराखंड के लिए भारी पड़ रहा है। पिछले 25 दिन में कोरोना के 8831 नए मामले सामने आए हैं, यानी हर दिन औसतन 350 संक्रमित। मंगलवार को 485 लोग में कोरोना की पुष्टि हुई है। इन्हें मिलाकर अब तक प्रदेश में कुल 16014 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 11201 लोग ठीक हो गए हैं। अभी अलग-अलग अस्पतालों व कोविड केयर सेंटर में 4537 मरीज भर्ती हैं। 55 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक,अलग-अलग लैब से 7546 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिनमें 7061 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। हरिद्वार में सबसे अधिक 126 लोग संक्रमित मिले हैं। देहरादून में भी 120 लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। ऊधमसिंह नगर में 90 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा उत्तरकाशी में 40,नैनीताल में 39,टिहरी में 38,पौड़ी व रुद्रप्रयाग में 10-10 और बागेश्वर व चंपावत में छह-छह नए मामले मिले हैं। जिस तेजी से मामले बढ़ रहे हैं,अब अस्पतालों में भी मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड कम पड़ रहे हैं। ऐसे में कम लक्षण या बिना लक्षण वाले मरीजों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया जा रहा है। संक्रमितों की संख्या बढ़ने के साथ स्वास्थ्य विभाग की चुनौती की बढ़ रही है।

पीएससी के प्लाटून कमांडर और लोनिवि के जेई समेत छह की मौत

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों की मौत का ग्राफ भी लगातार बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे के दौरान प्रदेश में छह मरीजों की मौत हुई है। इनमें पीएससी 46वीं बटालियन में तैनात 41 वर्षीय प्लाटून कमांडर व लोनिवि के 55 वर्षीय जूनियर इंजीनियर भी शामिल हैं। प्लाटून कमांडर सितारगंज के रहने वाले थे और कुछ दिन पहले घर से लौटे थे। जेई की तैनाती हरिद्वार में थी। दोनों की दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में मौत हुई है। एम्स ऋषिकेश में भी चार मरीजों की मौत हुई है। इनमें मुजफ्फनगर निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति को 21 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह श्वास रोग से पीड़ित थे। इसके अलावा पूर्वीनाथ नगर,हरिद्वार निवासी 51 वर्षीय व्यक्ति की भी मौत हुई है। वह हाइपरटेंशन व डायबिटीज से ग्रसित थे। वहीं, किडनी रोग से ग्रसित अपर रोड,हरिद्वार निवासी 58 वर्षीय व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ व खांसी की शिकायत पर 21 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके अलावा बुखार, सांस लेने में तकलीफ, खांसी व पेट दर्द की शिकायत पर भीरवाली हरिद्वार निवासी 51 वर्षीय व्यक्ति को 16 अगस्त को भर्ती कराया गया था। उन्हें हाइपरटेंशन व डायबिटीज की शिकायत थी। इन सभी की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

48 घंटे को बंद किया गया गांधी शताब्दी अस्पताल

राजधानी में कोरोना का प्रसार तेज होता जा रहा है। सरकारी दफ्तर,धर्मस्थल,बाजार और अस्पताल,अब हर कहीं कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। मंगलवार को गांधी शताब्दी अस्पताल में भर्ती एक गर्भवती,एक स्टाफ नर्स,एक लैब टेक्नीशियन व एक लैब अटेंडेंट में कोरोना की पुष्टि हुई है। कोरोना के एकसाथ चार मामले आने के बाद ज्यादातर चिकित्सक-कर्मचारी अस्पताल नहीं पहुंचे। इसके अलावा मरीज भी लौट गए। फिलहाल अस्पताल 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। यहां से ज्यादातर मरीज पटेलनगर स्थित श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल शिफ्ट कर दिए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर भागीरथी जंगपांगी ने बताया कि संक्रमितों के संपर्क में आए सभी चिकित्सकों व स्टाफ की जांच करवाई जाएगी। यह प्रयास किया जा रहा है कि ओपीडी जल्द खोल दी जाए। अस्पताल परिसर को सैनिटाइज करवाया जा रहा है।

डॉक्टर दिनेश को दोबारा सर्विलांस अधिकारी का जिम्मा

एसीएमओ डॉक्टर दिनेश चौहान को दोबारा जिला सर्विलांस अधिकारी बनाया गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर बीसी रमोला ने जिलाधिकारी के निर्देश पर इस बारे में आदेश जारी कर दिए हैं। डॉक्टर चौहान ने कोरोना के शुरुआती चरण में सर्विलांस अधिकारी के तौर पर बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभाई थी। कंटेनमेंट प्लान से लेकर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग तक उनके काम की तारीफ हुई,पर बीच में उन्हें हटाकर डॉक्टर राजीव दीक्षित को यह जिम्मेदारी दे दी गई थी।

कर्मचारी संक्रमित मिलने पर हाईकोर्ट दो दिन के लिए बंद

नैनीताल हाईकोर्ट के एक कर्मचारी के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद पूरे परिसर को दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। ऐसे में मंगलवार के लिस्टेड मामलों की सुनवाई अब 27 अगस्त को होगी। हाईकोर्ट में शनिवार को 98 और सोमवार को 101 अधिकारी-कर्मचारियों के सैंपल लिए गए थे। मंगलवार को कोर्ट के एक कर्मचारी संक्रमित मिला। यह जानकारी रजिस्ट्रार जनरल हीरा सिंह बोनाल ने दी।

स्वस्थ होने वाले भी बढ़े

प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती 289 संक्रमित मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज भी हुए हैं। इनमें चार अल्मोड़ा,11 चंपावत, 48 देहरादून,55 हरिद्वार,80 नैनीताल,दस पौड़ी,सात रुद्र प्रयाग,13 टिहरी,50 ऊधमसिंह नगर और 11 उत्तरकाशी से हैं।

भानियावाला क्षेत्र में बना कंटेनमेंट जोन

कोरोना वायरस का संक्रमण जैसे-जैसे बढ़ रहा है,नए कंटेनमेंट जोन भी बन रहे हैं। मंगलवार को भानियावाला क्षेत्र में कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद यहां के वार्ड-10 के एक हिस्से को कंटेनमेंट जोन बनाया गया। अब दून में कंटेनमेंट जोन की संख्या 13 हो गई है। जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष श्रीवास्तव के आदेश के अनुसार,अग्रिम आदेश तक यहां के लोग कंटेनमेंट जोन से बाहर नहीं जा पाएंगे। जरूरत की वस्तुओं की आपूर्ति जिला प्रशासन मोबाइल वैन से करेगा।

मुख्यमंत्री ने जताया शोक

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 46वीं वाहिनी पीएसी के प्लाटून कमांडर शिवराज सिंह राणा के निधन पर शोक जताया है। शोक संदेश में उन्होंने कहा कि राणा इस कठिन दौर में जनसेवा करते हुए कोरोना संक्रमित हुए थे। उनके बलिदान को नमन करते हुए मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिवार को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *