बिपिन रावत बने चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी हेड,धनोआ ने सौंपी बैटन

नई दिल्ली में एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ ने एक कार्यक्रम में COSC चीफ के बैटन को बिपिन रावत को पास किया. इस दौरान यहां पर नेवी प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह भी मौजूद रहे.
नेवी प्रमुख, वायुसेना प्रमुख और सेना प्रमुख (बाएं से दाएं)नेवी प्रमुख, वायुसेना प्रमुख और सेना प्रमुख (बाएं से दाएं)
नई दिल्ली, 27 सितंबर ! बिपिन रावत को COSC की कमान30 सितंबर को खाली हो रहा पदबीएस धनोआ के पास था पद
वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने शुक्रवार को चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (COSC) की कमान सेना प्रमुख बिपिन रावत के हाथ में सौंप दी. बीएस धनोआ 30 सितंबर को अपने पद से रिटायर हो रहे हैं और इसी के साथ COSC के प्रमुख का पद भी खाली हो रहा है. जिसकी जिम्मेदारी अब वरिष्ठ होने के नाते बिपिन रावत संभालेंगे.
शुक्रवार को नई दिल्ली में एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ ने एक कार्यक्रम में COSC चीफ के बैटन को बिपिन रावत को पास किया. इस दौरान यहां पर नेवी प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह भी मौजूद रहे.आपको बता दें कि ये कमेटी अभी सेना से जुड़े सभी बड़े फैसले लेती है, जिसकी अध्यक्षता तीनों सेना प्रमुखों से सबसे वरिष्ठ अधिकारी करता है.
एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ इस महीने के आखिर में वायुसेना प्रमुख के पद से रिटायर हो रहे हैं, उनकी जगह आरकेएस भदौरिया इस पद को संभालेंगे. बता दें कि 8 अक्टूबर को ही वायुसेना दिवस है ऐसे में इस बड़े दिन से पहले वायुसेना को उनका नया प्रमुख मिल चुका होगा.
नया पद संभालने के बाद बिपिन रावत को बधाई मिलना भी शुरू हो गया है, भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ट्वीट कर उन्हें नई जिम्मेदारी के लिए शुभकामनाएं दीं.
Rajyavardhan Rathore

@Ra_THORe
Many Congratulations to Army Chief General Bipin Rawat as he takes on the prestigious role of Chairman, Chiefs of Staff Committee. A seasoned, decorated and highly respected army man, he will strengthen collaboration between our forces and lead them to greater glory
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने थलसेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत द्वारा चीफ ऑफ स्टॉफ कमेटी (सीओएससी) का अध्यक्ष पद ग्रहण करने पर उन्हें शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि जनरल रावत को सीओएससी का अध्यक्ष बनाया जाना उत्तराखण्ड का भी सम्मान है। मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि उनके कुशल नेतृत्व में देश की सीमायें और अधिक सुरक्षित रहेंगी तथा हमारे सैन्य बलों का मनोबल और ऊँचा होगा।
क्या करती है ये कमेटी?
आपको बता दें कि चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (COSC) के चेयरमेन के पास तीनों सेनाओं के बीच तालमेल सुनिश्चित करने और देश के सामने मौजूद बाहरी सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए सामान्य रणनीति तैयार करने की जिम्मेदारी होती है.
जल्द लागू होगी नई व्यवस्था
गौरतलब है कि इसी साल 15 अगस्त को लालकिले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CODS) की नियुक्ति करने का ऐलान किया था. इसकी मांग करगिल युद्ध के बाद से हो रही थी, लेकिन इस मांग को पूरा किया मोदी सरकार ने.
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CODS) सिस्टम भारत के अलावा कई देशों के पास है, जिनमें अमेरिका, चीन, यूनाइटेड किंगडम, जापान सहित दुनिया के कई देशों के पास चीफ ऑफ डिफेंस जैसी व्यवस्था है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *