मूसलाधार बारिश में भी उत्तराखंड में कनेक्टिविटी बनाये रखी इंडस टावर्स ने

मूसलाधार बारिश के बावजूद इंडस टॉवर्स ने उत्तराखण्ड में नेटवर्क कनेक्टिविटी बनाए रखी

इंडस टॉवर्स के फील्ड कर्मचारियों ने पिथोरागढ़, अल्मोड़ा और बागेश्वर क्षेत्रों में मोबाइल टॉवर्स की बहाली एवं रखरखाव के लिए 24सों घण्टे काम किया है

देहरादून, 9 सितम्बर 2020ः भारत को प्राथमिकता देने की प्रतिबद्धता के साथ इंडस टावर्स के फील्ड स्टाफ इंजीनियरों और टेकनिशियनों ने कई चुनौतियों के बावजूद उत्तराखण्ड की पहाड़ियों में सभी मोबाइल टॉवर्स साईट्स की बहाली और रखरखाव के लिए उल्लेखनीय प्रयास किए हैं। कई चुनौतियों जैसे भूस्खलन के चलते प्रतिबंधित सड़क संचार, जल भराव और डीज़ल के परिवहन में लाजिस्टिकल बाधाओं के बावजूद इंडस टावर्स की टीम ने अथक प्रयास करते हुए सुनिश्चित किया है कि 100 फीसदी अपटाईम के साथ राज्य में सभी साईट्स में सुधार और रखरखाव किया जाए।

कुछ मामलों में, जैसे पिथोरागढ़ ज़िले के थलंड मुनस्यारी क्षेत्र एवं अल्मोड़ा ज़िले के कई क्षेत्रों में फील्ड स्टाफ इंजीनियरों को पैदल चल कर साईट तक जाना पड़ा, यहां तक कि कुछ मामलों में उन्हें 7 से 10 किलोमीटर की दूरी पैदल तय करनी पड़ी।

सिवा प्रकाश राव, सर्कल सीईओ-यूपी वेस्ट सर्कल, इंडस टावर्स ने कहा, ‘‘प्राकृतिक आपदा के समय कनेक्टेड बने रहना बेहद महत्वपूर्ण होता है। इंडस टॉवर्स में हम स्थिति की गंभीरता को समझते हैं और हर साल मानसून के दौरान हमारी टीमें जल भराव एवं भूस्खलन की चुनौतियों को हल करने के लिए अथक प्रयास करती हैं, मुश्किलों के बावजूद जल्द से जल्द प्रभावित टावर साईट्स को ठीक किया जाता है। पिछले दो सप्ताहों में, हमारी टीम राज्य में 87 वर्षा प्रभावित क्षेत्रों तक पहुंची है, जहां भारी बारिश के कारण प्रभाव पड़ा था।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *