पति,पत्नी,बच्चे को मार लाशों से भी‘सेक्स उन्मत्त’नसीरुद्दीन का 3 घंटे रेप, वीडियो

मुबारकपुर थाना क्षेत्र में एक सप्ताह पूर्व हुए तिहरे हत्याकांड का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर लिया। आरोपित युवक ने हमले में घायल पत्नी व उसकी दस वर्षीय बेटी के साथ दुष्कर्म किया।
आजमगढ़ : मुबारकपुर थाना क्षेत्र में एक सप्ताह पूर्व हुए तिहरे हत्याकांड का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर लिया। आरोपित युवक ने हमले में घायल पत्नी व उसकी दस वर्षीय बेटी के साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के पूर्व ईंट से सिर पर प्रहार कर पहले पति व चार माह के मासूम बेटा की हत्या कर दी थी। बाद में पत्नी को भी मार डाला। इतना ही नहीं दस वर्षीय बेटी व पांच वर्ष के बेटा को भी सिर पर प्रहार कर घायल कर दिया था। तिहरे हत्याकांड व घटना के दौरान अमानवीय कृत्यों की सभी हदें पार करने वाले आरोपित को पुलिस ने उसके घर से रविवार की रात को गिरफ्तार कर लिया।
एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह ने खुलासा करते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गया आरोपित नसीरुद्दीन उर्फ अउवा पउवा भी उसी गांव का है। उससे पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपने सारे जुर्म स्वीकार कर लिए। एसपी का कहना है कि आरोपित कामवासना का मनोरोगी है। हरियाणा में रहकर जब वह नौकरी करता था तो दिल्ली में रेड लाइट क्षेत्र में हवस को शांत करने के लिए पहुंच जाता था। पुलिस ने बताया है कि आरोपित नसीरुद्दीन ‘सेक्स-उन्मत्त’ है। वह हमेशा ‘सेक्स की भूख’ लिए पागलों की तरह घूमता रहता है और लोगों को मार कर लाशों को अपना शिकार बनाता है। नसीरुद्दीन ज़िंदा लोगों के साथ बलात्कार कर उन्हें मार डालता था और फिर उनकी लाशों का भी रेप करता था। वह मर्द, औरत और बच्चे- किसी को भी नहीं छोड़ता था।
नसीरुद्दीन को पुलिस ने ‘Necrophile’ करार दिया है, अर्थात लाशों के साथ सेक्स करने का भूखा। उसे पुलिस ने ‘Sex Maniac’ पाया है, अर्थात हमेशा सेक्स की इच्छा लिए घूमने वाला मानसिक पागल। नसीरुद्दीन ने स्वीकार किया है कि वह दिल्ली, हरियाणा और पश्चिम बंगाल में ऐसे कई अपराधों को अंजाम दे चुका है। पुलिस ने पाया है कि वो पूर्व में कई भयावह अपराध कर चुका है और उन सबके पीछे उसका एक ही उद्देश्य था- सेक्स।उसके हवस की दरिदगी से त्रस्त आकर उसकी पत्नी भी उसे एक माह पूर्व छोड़कर चली गई थी। पत्नी के जाने के बाद वह हवस शांत के लिए इधर उधर मौके की तलाश में लगा था। इसी दौरान उसे आबादी से दूर एक परिवार दिखा। उसने योजना बनाई। घटना से चार-पांच दिन पूर्व मृत युवक के घर में घुसना चाहा तो उस दौरान उसकी पत्नी किसी से मोबाइल पर बात कर रही थी। पत्नी को जागते देख चला गया। घटना की रात को वह एक दवा की दुकान से कामोत्तेजक दवा आदि खरीदा। कामोत्तेजक दवा खाकर मृत युवक के घर पहुंचा। घर के अंदर घुसते ही आरोपित ने गृह स्वामी के सिर पर ईंट से प्रहार कर हत्या कर दी। उसकी पत्नी जब जग गई तो पत्नी के सिर पर व पास में सो रहे मासूम बच्चे के भी सिर पर ईंट से प्रहार कर दिया। हमले में मासूम बच्चा की मौत हो गई। घायल पत्नी को बेहोशी की हालत में उसे निर्वस्त्र कर दुराचार किया। घायल पत्नी ने जब हाथ पांव डुलाने लगी तो पुन: उसके सिर पर प्रहार कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। बेड पर सो रही दस वर्षीय बच्ची जग गई और पानी मांगने लगी तो उसके साथ ही पांच वर्षीय बेटा के भी सिर पर ईंट से प्रहार कर दिया। जिससे दोनों भाई-बहन घायल हो गये। घायल होकर बेसुध पड़ी बालिका के साथ भी उसने अप्राकृतिक दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के दौरान उसने अपने मोबाइल से वीडियो भी बनाया था। उक्त वीडियो को घर पहुंच कर जब अपनी भाभी को दिखाया तो वह भी वीडियो देख सन्न रह गई। भाभी की प्रतिक्रिया की डर से उसने अपनी मोबाइल गांव से कुछ दूर स्थित नदी में ले जाकर फेंक दिया।
तिहरे हत्याकांड की यह थी घटना
मुबारकपुर क्षेत्र के एक गांव निवासी 35 वर्षीय युवक बुनाई का कार्य कर किसी तरह से अपने बच्चों व पत्नी का पालन पोषण करता था। उसका मकान गांव के आबादी से दूर था। 24 नवंबर की रात को घर में घुस कर हमलावर ने उक्त युवक के साथ उसकी 32 वर्षीय पत्नी, चार माह के मासूम बेटा की सिर पर प्रहार कर हत्या कर दी थी। जबकि दस वर्षीय बेटी व पांच वर्षीय पुत्र के सिर पर किए गए हमले से वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे। दूसरे दिन घटना की जानकारी होने पर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो घर के अंदर तीन शवों को पड़ा देख सन्न रह गई। घायल दोनों बच्चों को पुलिस ने अस्पताल भर्ती कराया। मृत महिला निर्वस्त्र हालत में मिली थी। जिससे दुराचार का कयास लगाया जा रहा था। इस तिहरे हत्याकांड के संबंध में मुबारकपुर पुलिस ने मृत युवक के भाई की तहरीर पर गांव के ही नट बस्ती निवासी एक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। उक्त आरोपित युवक हिरासत में लिया। घायल बालिका ने भी उक्त आरोपित की पहचान की। इधर पूछताछ में भी उक्त आरोपित अपने को बेगुनाह बता रहा था। कोई अहमद सुराग न मिलने से पुलिस पुन: घटना की नये सीरे से छानबीन शुरू कर दी।
मोबाइल टावर व फैंटम की मदद से पकड़ा गया आरोपित
मुबारकपुर क्षेत्र में एक सप्ताह पूर्व हुए तिहरे हत्याकांड पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई थी। हिरासत में लिए गए मुख्य आरोपित पूछताछ में भी जब अपने को बेकसुर बताने लगा तो पुलिस ने नए सिरे से छानबीन शुरू की। छानबीन के दौरान उक्त क्षेत्र में लगे मोबाइल टावर डंप से एक ऐसे मोबाइल नंबर का पता चला जो घटना के समय उक्त स्थान पर तीन घंटे तक होना दर्शाया। उक्त मोबाइल नंबर का काल डिटेल के आधार पर पुलिस आरोपित तक पहुंची। इतना ही नहीं डॉग स्क्वायड टीम में शामिल श्वान फैंटम भी आरेापित तक पुलिस को पहुंचाने में अहम भूमिका निर्वहन किया। तीन दिनों तक आरोपित का पुलिस गोपनीय तरीके से पीछा कर उसके सारे गतिविधियों के बारे में पता किया। ठोस सबुत हाथ लगने के बाद पुलिस ने सोमवार की रात को आरोपित नजीरुद्दीन उर्फ अउवा पउवा पुत्र अजीज अंसारी को उसके धर से गिरफ्तार कर लिया।
मोबाइल बरामद के लिए लगे हैं गोताखोर
गांव से कुछ दूर नदी में आरोपित द्वारा फेंके गए उसके मोबाइल की तलाश में गोताखोर लगाए गए हैं। सुबह से ही गोताखोर नदी के अंदर मोबाइल की तलाश कर रहे हैं, लेकिन शाम तक मोबाइल बरामद नहीं हो सका था। एसपी का कहना है कि मोबाइल मिलने से वह वीडियो पुलिस को साक्ष्य के रूप में मिल सकता है जो वीडियो उसने घटना के दौरान बनाया था। इस वीडियो के आधार पर आरोपित की सजा हो सकती है।
डीजीपी पुलिस टीम को करेंगे सम्मानित, इनाम भी
जघन्य तिहरे हत्याकांड का खुलासा करने के लिए डीजीपी ओपी सिंह ने एसपी, एसपी सिटी, सीओ सदर समेत पूरी टीम को प्रशंसा चिह्न देकर सम्मानित करने की घोषणा की है। साथ ही एसपी ने पुलिस टीम को अपनी ओर से इस खुलासे के लिए पच्चीस हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।
थाने पर लगे पुलिस जिदाबाद के नारे
तिहरे हत्याकांड के खुलासे और आरोपित के गिरफ्तार कर लिए जाने की जानकारी जब क्षेत्र के लोगों को हुई तो सोमवार की सुबह सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मुबारकपुर थाने पर पहुंच गए। थाने पर मौजूद एसपी, एसपी सिटी व सीओ सदर से ग्रामीण गिरफ्तार आरोपित को अपने हवाले करने की मांग करने लगे। उनका कहना था कि इस तरह के जघन्य हत्याकांड करने वाले आरोपित को मुबारकपुर की जनता स्वयं सजा देगी। एसपी ने किसी तरह से लोगों को समझा बुझाकर शांत किया। शांत होते ही लोग पुलिस जिदाबाद, एसपी जिदाबाद के नारे लगाने लगे। क्षेत्र की जनता ने पुलिस टीम को अपनी ओर से सम्मानित करने की घोषणा की है।
अफसोस जताने कब्र पर भी जाता था आरोपित
तिहरे हत्याकांड व दुष्कर्म के बाद आरोपित को जब पता चला कि मृतक उसके दूर के रिश्तेदार है तो उसे अपने किए पर पछतावा होने लगा। रात के अंधेरे में वह तीनों मृतकों के कब्र पर पहुंच कर दो दिन अफसोस जताने के लिए भी गया था। उनकी कब्र पर पहुंच कर अपने गुनाहों के लिए उनसे मांफी मांग रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *