आजम खां- पुत्र अब्दुल्ला से बंद कमरे में एसआइटी की पूछताछ

सपा सांसद आजम खां बयान दर्ज कराने फिर रामपुर के महिला थाने पहुंचे। सांसद के साथ उनके पुत्र विधायक अब्दुल्ला भी महिला थाने आए हैं। दोनों से बंद कमरे में पूछताछ की जा रही है।
मुरादाबाद : जमीन हड़पने और चोरी के कई मामलों में 80 से भी ज्यादा मामलों में आरोप झेल रहे रामपुर से सपा सांसद आजम खां बुधवार दोपहर चार मामलों में बयान दर्ज कराने के लिए महिला थाने पहुंचे। यहां आजम खां खुद पर लगे आरोपों को लेकर एसआईटी को बयान देंगे।
इस दौरान कई मामलों में आरोपी आजम की पत्नी ताजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला भी उनके साथ थाने पहुंचे हैं। बता दें कि मंगलवार को ही उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा गया था।
बता दें कि इससे पहले आजम खां के वकील ने अजीमनगर थाने की पुलिस को पत्र भेजकर कहा था कि आजम खां इन दिनों बीमार हैं। वह रामपुर से बाहर कहीं अपना इलाज करा रहे हैं। ऐसी स्थिति में वह पुलिस को अपना बयान दर्ज नहीं कराने नहीं आ सकते हैं, इसलिए उन्हें 15 दिन की मोहलत दी जाए।
बता दें कि सांसद आजम खां के खिलाफ आलियागंज के किसानों की जमीन कब्जाने के आरोप में कई मुकदमे दर्ज हैं। इन मुकदमों की विवेचना कर रहे अधिकारी आजम खां का बयान लेना चाहते हैं। इसे लेकर उन्हें 23 सितंबर को भी 27 नोटिस जारी किए गए थे, जिसमें उनसे 25 सितंबर तक महिला थाने में आकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया था। इसके बाद मंगलवार को भी उन्हें नोटिस भेजा गया, जिसके बाद पत्नी और बेटे के साथ वे महिला थाने पहुंचे।सपा सांसद आजम खां बयान दर्ज कराने फिर रामपुर के महिला थाने पहुंचे। सांसद के साथ उनके पुत्र विधायक अब्दुल्ला भी महिला थाने आए हैं। बंद कमरे में पूछताछ की जा रही है।
जौहर यूनिवर्सिटी के नाम पर किसानों की जमीने कब्जाने के मामले हैं दर्ज
जौहर यूनिवर्सिटी के नाम पर किसानों की जमीने कब्जाने के मामले में मुकदमे दर्ज हुए थे। इनकी जांच के लिए एसपी अजयपाल शर्मा ने विशेष जांच दल बनाया है। दल ने बयानों के लिए बुलाया था। सोमवार को ही आजम ने महिला थाने पहुंचकर एसआइटी से चार दिन का समय मांगा गया था, जो उन्हें दे दिया गया था। इसके बाद फिर चार अन्य मुकदमों में नोटिस जारी कर दिया गया। इसमें उन्हें बयान दर्ज कराने के लिए एक दिन का ही समय दिया गया था।
मामलों की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ने एसआइटी गठित की
जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन कब्जाने के आरोप में आजम के खिलाफ 27 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। इन मामलों की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ने एसआइटी गठित की है। हालांकि हाईकोर्ट ने इन सभी मामलों में आजम की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है लेकिन, विवेचना जारी है। एसआइटी दो बार पहले भी आजम को नोटिस जारी कर चुकी है। एसआइटी प्रभारी दिनेश गौड़ ने बताया अब चार अन्य मामलों में आजम से पूछताछ की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *