जयपुर के शास्त्री नगर क्षेत्र में सात वर्ष की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपित को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। जीवाणु उर्फ सिकंदर नाम के आरोपित को कोटा से गिरफ्तार किया गया। वारदात एक जुलाई को हुई थी। पुलिस के अनुसार, आरोपित पर पहले से ही 10 केस दर्ज हैं, इनमें 11 साल के लड़के के साथ दुष्कृत्य के बाद उसकी हत्या का मामला भी शामिल है। इस बीच, पुलिस ने जयपुर के 13 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट पर लगा प्रतिबंध भी हटा दिया है।

पुलिस के मुताबिक, शास्त्री नगर इलाके में छह दिन पहले आरोपित बच्ची को अपनी मोटर साइकिल पर बैठाकर ले गया था और सुनसान इलाके में उसके साथ दुष्कर्म किया था। आरोपित दो घंटे बाद बच्ची को लहूलुहान हालत में शास्त्री नगर के पास सड़क पर छोड़कर भाग गया था। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई थी और कई तरह की अफवाह फैलने लगी थी। इसके चलते पुलिस ने जयपुर के 13 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट पर रोक लगा दी थी।

जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित ने इस इलाके में 22 जून को भी ऐसी ही वारदात को अंजाम दिया था। आरोपित 35 वर्ष का है और खानाबदोश है। यह एक तरह का साइको अपराधी है। इसने पहला अपराध 2001 में किया था। उस पर बाइक चोरी और नकबजनी के तीन-तीन, दुष्कर्म के दो, दुष्कर्म और हत्या व पुलिस पर हमले का एक मामला दर्ज है। इसने 2004 में 11 साल के एक लडके से दुष्कृत्य कर उसे पानी की टंकी में फेंककर उसकी हत्या कर दी थी। इस मामले में उसे सजा भी हुई थी। वर्ष 2015 में वह जेल से बाहर आ गया था। श्रीवास्तव ने बताया कि वारदात के बाद से वह फरार था। पुलिस की 15 टीमें उसकी तलाश कर रही थीं।