6 राज्‍यों को नए राज्‍यपाल, आनंदीबेन पटेल उ.प्र.को

राष्‍ट्रपति के प्रेस सेक्रेटरी अशोक मलिक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक आनंदीबेन पटेल को उत्‍तर प्रदेश का नया राज्‍यपाल नियुक्‍त किया गया है.

नई दिल्‍ली : राज्‍यपालों की नियुक्ति को लेकर शनिवार को बड़ा फैसला लिया गया है. राष्‍ट्रपति के प्रेस सेक्रेटरी अशोक मलिक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक आनंदीबेन पटेल को उत्‍तर प्रदेश का नया राज्‍यपाल नियुक्‍त किया गया है. वह अब तक मध्‍य प्रदेश की राज्‍यपाल थीं. इससे पहले राम नाईक यूपी के राज्यपाल पद पर थे जिनका कार्यकाल अब खत्म होने वाला है..बता दें कि 16 जनवरी 2018 को गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को मध्य प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया था. तब आंनदीबेन पटेल ने ओम प्रकाश कोहली की जगह ली थी.इसके अलावा बिहार के मौजूदा राज्‍यपाल लालजी टंडन को मध्‍य प्रदेश का नया राज्‍यपाल बनाया गया है.

देखें LIVE TV

राष्‍ट्रपति भवन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक जगदीप धानकड़ को पश्चिम बंगाल का नया राज्‍यपाल बनाया गया है. रमेश बैस को त्रिपुरा के राज्‍यपाल की जिम्‍मेदारी दी गई है. फागू चौहान को बिहार का नया राज्‍यपाल बनाया गया है. उत्तर प्रदेश में उन्हें भारतीय जनता पार्टी के बड़े पिछड़े चेहरों में माना जाता है. वे उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में घोसी विधानसभा क्षेत्र से छह बार जीतने वाले एकमात्र विधायक हैं. फिलहाल वे वहीं से विधायक हैं.उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1985 में दलित मजदूर किसान पार्टी से की और पहली बार विधायक बने. इसके बाद उन्होंने अलग-अलग पार्टी से कई विधान सभा चुनाव लड़ा और कई बार जीते. 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उन्होंने घोसी से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और अपने करीबी उम्मीदवार बीएसपी के अब्बास अंसारी को  हराया.

वहीं आरएन रवि को नगालैंड का राज्‍यपाल नियुक्‍त किया गया है. राष्‍ट्रपति भवन की ओर से कहा गया है कि इन सभी राज्‍यपालों की नियुक्ति उसी दिन से मान्‍य हो जाएगी, जिस दिन वे अपने ऑफिस का कार्यभार संभाल लेंगे.

बता दें कि इसी महीने 15 जुलाई को मोदी सरकार में मंत्री रहे कलराज मिश्र को राष्‍ट्रपति ने हिमाचल प्रदेश का राज्‍यपाल नियुक्‍त किया था. वहीं दूसरी तरफ हिमाचल प्रदेश के गवर्नर आचार्य देवव्रत का स्‍थानांतरण कर गुजरात का राज्‍यपाल बनाया गया है. 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार के लगातार दूसरी बार सत्‍ता में आने के बाद राज्‍यपाल के पद पर इस तरह की यह पहली बड़ी नियुक्ति थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *