1589  स्कूली बच्चों ने एक साथ ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी याद कर बनाया विश्व रिकॉर्ड

नई दिल्ली, 15 जून ! स्कूली बच्चों और कॉलेज स्टूडेंट्स को सबसे ज्यादा डर लंबे फॉर्मूला, जटिल कैल्कुलेशन्स, टेबल्स और डिक्शनरी को रटने से लगता है, लेकिन गुरुग्राम से करीब 40 किलोमीटर दूर फार्रुखनगर स्थित कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों ने इन्हीं चीजों पर महारत हासिल कर गिनीज बुक में नाम दर्ज करा  लिया है.

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के कठिन शब्दावली को याद करने के हुनर पर महारत हासिल कर कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल और उसके संस्थापक राजेश ठक्कर ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है. एक साथ 1589  स्कूली बच्चों और  राजेश ठक्कर ने 21 मई 2018 को ये हुनर दिखाया जो कि अब एक विश्व रिकॉर्ड बन गया है.

पिक्चर यानी तस्वीरों के माध्यम से बच्चों को जटिल शब्दावली को याद रखने का फॉर्मूला सीखाया राजेश ठक्कर ने एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में उसी दिन अपना नाम दर्ज करा दिया था, लेकिन अब वर्ल्ड गिनीज रिकॉर्ड्स की ओर से सर्टिफिकेट भेजकर इसकी सूचना दी गई है. इस अनोखी कक्षा में रॉयल पब्लिक स्कूल वजीरपुर, श्रीराम स्कूल भौड़ा कलां, सीएमएम स्कूल दुजाना और कैम्ब्रिज स्कूल के छात्र मौजूद थे.

ह्यूमन कैलकुलेटर के नाम से जाने जाने वाले राजेश ठक्कर पहले भी गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं. 2005 में अपनी पत्नी सुचेता ठक्कर के साथ मिल कर उन्होंने सबसे तेज 13 अंकों का पहाड़ा याद कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था और तब से ही उन्होंने जटिल, लंबे कैलकुलेशन्स और मुश्किल शब्दों के अर्थ को याद रखने के नए और सरल उपायों की खोज कर ली है और अपने स्कूल के बच्चों को भी ये फॉर्मूला सिखाने का काम शुरू कर दिया है.

उन्होंने कहा, ‘पहले मेरा ध्यान पढ़ाई में नही था क्योंकि मुझे लंबे कैलकुलेशन और फॉर्मूला याद रखने में दिक्कतें आती थी, फिर मैंने शॉर्टकट्स निकाले उनको स्टडी किया तो पता चला कि ये कितना आसान है और सबसे बड़ी बात आपकी कैल्कुलटिंग स्पीड भी बढ़ जाती है, तभी मैंने ठान लिया था कि मैं इसी डायरेक्शन में बच्चों को भी प्रशिक्षित करूंगा जिससे उनको भी मैथ्स और इंग्लिश के जटिल शब्द कोष से प्यार हो जाएगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *