10 हजार वीडियो से सोशल मीडिया पर विपक्ष से मुकाबला करेगी भाजपा

  • सरकार की योजनाओं को नमो एप समेत सोशल मीडिया पर वायरल कर माहौल बनाने की रणनीति
  • अमित शाह के निर्देश पर पहली बार 344 सांसद 6 योजनाओं पर बनाएंगे वीडियो

नई दिल्ली. 2014 के आम चुनाव में भाजपा ने सोशल मीडिया पर वाॅलंटियर और कुछ किरदारों के सहारे माहौल बनाया था। लेकिन, अब सरकार के पांचवें साल में विपक्षी खेमा सोशल मीडिया पर हावी होने की कोशिश कर रहा है। 15 लाख देने के वादे, नोटबंदी, पेट्रोल-डीजल की कीमतें, पाकिस्तान को जवाब देने जैसे मुद्दों पर विपक्ष सरकार को घेर रहा है।

 इसे देखते हुए भाजपा 2019 के आम चुनाव में विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के जरिए विपक्ष को जवाब देने की रणनीति बना रही है। इसके लिए सांसदों कोे निर्देश दिया गया है कि वे खुद लाभार्थियों से मिलकर उनका वीडियो बनाएं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की एक खास टीम इस तरह के प्रचार की रणनीति को अंजाम देने में जुटी है।Image result for सोशल मीडिया पर भाजपा

शाह के निर्देश पर भाजपा के दोनों सदनों के मौजूदा 344 सांसदों को पत्र जारी किया गया है। इसमें आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएम-जय) की 23 सितंबर को लाॅन्चिंग के बाद से अब तक 2 लाख से ज्यादा लोगों के लाभ उठाने का जिक्र किया गया है। सांसदों को लाभार्थियों की सूची भेजी गई है। उन्हें निर्देेश है कि अपने संसदीय क्षेत्र में कम से कम 5 लाभार्थियों से संपर्क करें और योजना से लाभ के उनके अनुभवों पर वीडियो रिकॉर्ड करें।

सांसदों से कहा गया है कि आयुष्मान भारत योजना के अलावा मोदी सरकार की पांच अन्य अहम सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के भी पांच-पांच लाभार्थियों से फीडबैक लें और उस संवाद (लाभार्थी-सांसद संवाद) का वीडियो रिकॉर्ड करें। ये योजनाएं हैं- उज्ज्वला, जनधन, सौभाग्य, प्रधानमंत्री ग्राम आवास योजना और फसल बीमा योजना। सांसदों को ये वीडियो सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी के नमो एप पर अपलोड करने होंगे। यह काम संसद के शीतकालीन सत्र तक पूरा करना है, ताकि पार्टी उस वीडियो को चुनावी लिहाज से सोशल मीडिया पर वायरल करने की रणनीति को जल्द से जल्द अंजाम दे सके।

आयुष्मान भारत योजना के 1720 वीडियो
344 सांसदों के जरिए करीब 1720 वीडियो आयुष्मान भारत योजना के तैयार होंगे, जिसमें लाभार्थियों की पृष्ठभूमि, बीमारी की गंभीरता और मुफ्त में इलाज से मिले फायदे से परिवार को मिली राहत की कहानी होगी। जबकि अन्य पांच योजनाओं- उज्ज्वला, जनधन, सौभाग्य, प्रधानमंत्री ग्राम आवास योजना, फसल बीमा योजना के वीडियो को सांसद-लाभार्थी संवाद के रूप में तैयार किया जाएगा। इस तरह भाजपा करीब 10000 वीडियो संदेश का बैंक बनाकर उसे रणनीतिक तरीके से आगे बढ़ाएगी। वीडियो तैयार होने के बाद पार्टी की आईटी टीम संपादन करके सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म- ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, वॉट्सऐप और स्थानीय चैनलों-रेडियो के माध्यम से इसे प्रसारित करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *