बेटे मुंडन कराने ड्योढ़ी घाट गया था परिवार
चकेरी अंबेडकर नगर निवासी कालिका नगर निगम में चालक हैं। बेटे का मुंडन कराने के सिलसिले में उनकी बेटी ममता मायके आई थी। मंगलवार की सुबह ममता रिश्तेदारों, परिजनों और परिचितों के साथ बेटे का मुंडन कराने के लिए महाराजपुर स्थित गंगा किनारे ड्योढ़ी घाट ट्रैक्टर- ट्राली से गई थीं। मुंडन संस्कार होने के बाद सभी लोग ट्रैक्टर -ट्राली पर सवार होकर रूमा स्थित ब्रह्मदेव के दर्शन करने पहुंचे।
उल्टी दिशा से जा रहा था ट्रैक्टर
दर्शन पूजन के बाद ट्रैक्टर-ट्राली हाईवे पर फतेहपुर की ओर जाने वाली लेन उल्टी दिशा से शो रूम के सामने कट की ओर जा रहा था। इस बीच सामने से आ रहे कंटेनर ट्रक ने ट्रैक्टर- ट्राली में जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि ट्रैक्टर और ट्राली में सवार लोग उछलकर नीचे आ गिरे। ट्रक के कंटेनर में फंसा ट्रैक्टर करीब पांच सौ मीटर घिसटता चला गया।

हादसे में मां-बेटे और मामा-भांजे समेत पांच  की मौत हो गई जबकि 12 से अधिक लोग जख्मी हो गए। भीषण हादसा देखकर आसपास से लोग दौड़ पड़े और राहगीर भी रुक गए। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आनन फानन घायलों को एंबुलेंस, रोडवेज बस और निजी वाहनों से कांशीराम ट्रामा सेंटर पहुंचाया गया। घटना में घायल हुए लोगों को उपचार के लिए ट्रामा सेंटर भेजा जा रहा है। अस्पताल में तुरंत घायलों के उपचार की व्यवस्था की गई।  जानकारी के अनुसार हादसे के वक्त ट्रैक्टर में करीब 35 लोग सवार थे। घायलों में गंगा (55), पिपरौता देवी (60), आयुष (6), मनोज. रामनिवास (28), गुलशन (14), गजल (11), संगीता (26), रमेश (35), सुनीता (45), अजय (13), विजय (15), उजाला (11), रोशनी, रतुला (55), पायल (15), रामकांति आदि लोग शामिल हैं।

हादसे के बाद लगा भीषण जाम
हाईवे पर हादसे के बाद वाहनों का आवागमन थम गया। आसपास के ग्रामीणों की भीड़ भी हाईवे पर पहुंच गई। घायलों को अस्पताल पहुंचाए जाने तक ग्रामीण मदद में जुटे रहे। इस दौरान एक लेन का यातायात बंद ही रहा। काफी देर तक यातायात बाधित होने से हाईवे पर जाम की स्थिति बनी रही। पुलिस ने ग्रामीणों को समझाकर हाईवे पर यातायात बहाल कराया।