हाइवे किनारे योग करते छह कुचल डाले अनियंत्रित कार ने, सभी की मौत

राजस्थान के भरतपुर जिले कुम्हेर इलाके में छह लोग हाइवे के किनारे सुबह-सुबह योग कर रहे थे तभी अनियंत्रित कार ने कुचल डाला।

performing yoga

performing yoga  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • भरतपुर के कुम्हेर-धनवाडा हाईवे किनारे 6 लोग योग कर रहे थे
  • तेज रफ्तार कार ने सभी को रौंदा, चार की मौके पर मौत, दो ने अस्पताल में दम तोड़ा
  • राजस्थान के पर्यटन और देवस्थान विभाग के मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने पीड़ित परिवारों को मदद का भरोसा दिया

भरतपुर : सेहत के लिए योग करना उचित है लेकिन कहां करें इसका ख्याल हमेशा रखना चाहिए। राजस्थान के भरतपुर जिले कुम्हेर इलाके में कुछ लोग सुबह-सुबह सड़क किनारे योग कर रहे थे तभी सड़क पर तेज रफ्तार आती हुए एक कार अनियंत्रित हो गई और योग कर रहे 6 लोगों को कुचल दिया। इस  में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि कुम्हेर-धनवाडा हाईवे पर एक अनियंत्रित कार ने सड़क के किनारे योग कर रहे 6 लोगों को कुचल दिया जिससे 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। बाद में घायलों की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। उन्होंने बताया कि हादसे में 62 साल के रघुबर बघेल, 55 साल के प्रेमसिंह बघेल, 65 साल के निरोतीलाल सैनी, 60 साल के मक्खनलाल खटीक, 65 साल के हरिशंकर तम्बोली और 45 साल के रामेश्वर बघेल मौत हो गई।

पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद लाशें परिजनों को सौंप दी गई है। हालाकि इस हादसे का कोई केस दर्ज नहीं कराया गया है। राज्य के पर्यटन और देवस्थान विभाग के मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने हादसे पर अपनी दुख व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवारों को मदद का भरोसा दिया है।

गौर हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने सुझाव दिया और यूएन ने उनके सुझाव को मान लिया और सबसे लंबे दिन 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित कर दिया। उसके बाद से योग जन आंदोलन बन गया। 2015 से प्रति वर्ष अंतरराष्ट्रीय योग दिवस देश ही नहीं दुनिया भर में मनाया जाने लगे। हालांकि योग को जन-जन तक फैलाने काम योग गुरु बाबा  रामदेव ने किया।

इतना ही नहीं लोगों ने इसे दिनचर्या में शामिल कर लिया। स्वस्थ्य रहने के लिए देश भर में लोग घरों में पार्कों हर रोज सुबह योग करने लगे। लेकिन राजस्थान के भरतपुर में छह लोग गुरुवार सुबह सड़क किनारे योग कर रहे थे और हादसे मे उनकी मौत हो गई। उन्हें सड़क किनारे योग नहीं करना चाहिए था क्योंकि यह योग के लिए सुरक्षित स्थान नहीं हो सकता।  घटना से नाराज लोगों ने अस्पताल के बाहर जाम लगा दिया। हालांकि, बाद में पुलिस ने लोगों को समझाया और जाम हटवाया। राजस्थान के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *