स्टडी / टॉयलेट सीट से 7 गुना ज्यादा गंदे हैं मोबाइल फोन

 क्योंकि लोग इन्हें बाथरूम में भी इस्तेमाल करने लगे हैं

  • लेदर कवर वाले फोन पर टॉयलेट सीट से 17 गुना ज्यादा बैक्टिरिया
  • बाथरूम में फोन इस्तेमाल करने के बाद सिर्फ आधे लोग ही फोन साफ करते हैं

गैजेट डेस्क. स्मार्टफोन से दूर रहना शायद आज हमारे बस में नहीं है, लेकिन एक नई स्टडी में ऐसी बात सामने आई है जिसके बाद लोग शायद स्मार्टफोन से थोड़ा समय दूर रहने की कोशिश करें। ज्यादातर लोग मॉर्निंग वॉक से लेकर डिनर तक में हर जगह अपने मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं. लोग हाथ धुले बगैर कॉल करने से लेकर इंटरनेट सर्फिंग में मोबाइल यूज करते हैं. डेलॉयट के एक सर्वे के मुताबिक लोग जितना सोचते हैं, उनका मोबाइल फोन उससे कहीं अधिक गंदा होता है. रिपोर्ट के मुताबिक, मोबाइल को गंदा करने में सबसे बड़ा रोल आपके हाथों का होता है. सर्वे के मुताबिक, अमेरिका में एक दिन में लोग कम से कम 47 बार अपना मोबाइल चेक करते हैं, जिससे उनके हाथों से जर्म्स (कीटाणु) मोबाइल में चले जाते हैं.Image result for टॉयलेट सीट से 7 गुना ज्यादा गंदे हैं मोबाइल फोन

मोबाइल में 17,000 से ज्यादा बैटीरियल जीन्स
रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि हाई स्कूल के स्टूडेंट्स के मोबाइल में 17,000 से ज्यादा बैटीरियल जीन्स पाए गए. एरिजोना यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने पाया है कि मोबाइल फोन में टॉयलेट सीट्स से कहीं ज्यादा जर्म्स होते हैं.

मोबाइल फोन्स में मिले 12 तरह के बैक्टीरियाRelated image

यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफोर्निया के प्रोफेसर डॉक्टर विलियम डीपाउलो ने भी इस बारे में एक स्टडी की है. उनकी टीम ने टॉयलेट सीट के मुकाबले मोबाइल फोन में बैक्टीरिया का पता लगाने के लिए एक कंपनी के एंप्लॉयीज की मोबाइल स्क्रीन्स से स्वाब कलेक्ट किए. रिसर्च में यह बात सामने आई कि जहां टॉयलेट सीट्स में बैक्टीरिया की 3 स्पीसीज (प्रजातियां) पाई गईं. वहीं, मोबाइल में बैक्टीरिया की एवरेज 10-12 स्पीसीज मिलीं. मोबाइल स्क्रीन्स में ई-कोलाइ और फीकल जैसे घातक बैक्टीरिया पाए गए.दरअसल, इनिशियल वॉशरूम हाइजिन की नई स्टडी में पता चला है कि जितने बैक्टिरिया टॉयलेट सीट पर होते हैं, उससे 7 गुना ज्यादा बैक्टिरिया मोबाइल फोन पर होते हैं। रिसर्चर ने बताया कि ऐसा इसलिए है क्योंकि अब ज्यादातर लोग बाथरूम में भी अपने फोन को लेकर जाते हैं। इस स्टडी में रिसर्चर ने टॉयलेट सीट को स्कैन करने पर 220 ऐसे स्पॉट की पहचान की, जहां बैक्टिरिया मिले। जबकि मोबाइल फोन को स्कैन करने पर ऐसे 1479 स्पॉट मिले, जो टॉयलेट सीट के मुकाबले 7 गुना ज्यादा है।Image result for टॉयलेट सीट से 7 गुना ज्यादा गंदे हैं मोबाइल फोन

लेदर कवर पर 17 गुना ज्यादा बैक्टिरिया : रिसर्चर ने पता लगाया कि जिन मोबाइल फोन में लेदर का कवर लगाया गया था, उसपर टॉयलेट सीट से 17 गुना ज्यादा बैक्टिरिया मिले। जबकि प्लास्टिक कवर वाले मोबाइल फोन पर 1,454 बैक्टिरिया मिले जो टॉयलेट सीट से करीब 7 गुना ज्यादा है।

बाथरूम में भी इस्तेमाल से बढ़े बैक्टिरिया : इस रिसर्च में शामिल 2000 लोगों में से 40% लोगों ने इस बात को माना कि वे बाथरूम में भी अपने फोन का इस्तेमाल करते हैं। यही वजह है कि आजकल टॉयलेट सीट से भी ज्यादा गंदे मोबाइल फोन हो गए हैं। वहीं इनमें से सिर्फ 20% ही ऐसे लोग थे जिन्होंने टॉयलेट से निकलकर अपने फोन को साफ किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *