पिथौरागढ़,। उत्तराखंड में पिथौरागढ़ और बेरीनाग में गुरुवार को बाजार बंद हैं। सोशल मीडिया से फैली एक खबर पर भरोसा करके यहां के व्यापारियों ने अपनी दुकानें नहीं खोलीं। इसमें कहा गया कि आरक्षण के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया गया है, जबकि ऐसा कुछ नहीं है और यह खबर झूठी है। सोशल मीडिया से फैलायी जाने वाली अफवाहों के प्रति दैनिक जागरण अपने पाठकों को समय-समय पर सचेत करता रहता है। हम आपको बताते रहते हैं कि सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों पर आंख बंद करके भरोसा न करें।

सोशल मीडिया से आरक्षण के विरोध में भारत बंद के आह्वान की झूठी खबर पर व्‍यापारियों ने पिथौरागढ़ और बेरीनाग में अपनी दुकानें बंद रखीं। वहीं, पुलिस ने नैनीताल जिले के लालकुआं में सोशल मीडिया पर भारत बंद की अफवाह फैलाने पर दो लोगों का चालान किया है।

पिथौरागढ़ में समानता मंच और व्यापार मंडल के आह्वान पर गुरुवार को बाजार बंद हैं। इस दौरान सारे शिक्षण संस्थाए भी बंद हैं। समानता मंच और व्यापार मंडल अध्यक्ष शमशेर महर सहित अन्य पदाधिकारी सहित लगभग चार दर्जन के आसपास लोगों ने सभा की। व्यापारियों ने दुकानें बंद रखी हैं, लेकिन कोई भी प्रदर्शन नहीं किया। उनका कहना है कि व्यापार संघ के आह्वान पर दुकानें बंद की हैं।

नौ अगस्त को भारत बंद की अफवाह फैलाने पर दो का चालान
पिछले कई दिन से सोशल मीडिया में आरक्षण के विरोध में भारत बंद की अफवाह फैलाई जा रही थी। जिससे आम जनता में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। पूरे दिन कामकाजी लोग मीडिया कर्मियों से हड़ताल के बारे में जानकारी लेते रहे। जिसको देखते हुए बुधवार की देर सांय को कोतवाल रवि कुमार सैनी के निर्देश पर पुलिस ने सोशल मीडिया पर पैनी नजर रख अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई। पुलिस द्वारा हल्दूचौड़ निवासी दुर्गापुर दत्त पुत्र कृष्णानंद भट्ट व रोहित जोशी पुत्र तारा दत्त जोशी के खिलाफ 81 पुलिस एक्ट के अंतर्गत चालान किया गया।

प्रमोशन में आरक्षण के विरोध में गुरुवार 9 अगस्त आज भारत बंद का आह्वान था लेकिन कोई भी बड़ा संगठन इसका एलान कर सामने नहीं आने से पुलिस प्रशासन भी खासा टेंशन में रहा। हालांकि खुफिया एजेंसियों ने पुलिस प्रशासन को जनता की ओर से मिल रहे इनपुट पर बंद को लेकर जानकारी दी, लेकिन कोई बड़ा संगठन सामने नहीं आने से प्रशासन भी भ्रम की स्थिति रही।