सुब्रमण्यम स्वामी  शशि थरूर को – ‘इतना ही पाक से प्रेम है तो मुस्लिम बन जाओ’

कांग्रेस का थरूर के बयान का समर्थन , भाजपा दीन दयाल उपाध्याय को मानती रही तो देश हिंदू पाकिस्तान ही बनेगा: शशि थरूर,भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने शशि थरूर पर निशाना साधा- अगर उन्हें पाकिस्तान से इतना ही प्रेम है तो उन्हें वहीं चले जाना चाहिए.

सुब्रमण्यम स्वामी का शशि थरूर पर हमला, 'इतना ही पाकिस्तान से प्रेम है तो मुस्लिम बन जाओ'
नई दिल्ली : कांग्रेस सांसद शशि थरूर के बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है. केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए शशि थरूर ने यदि 2019 में भारतीय जनता पार्टी जीती, तो देश में धार्मिक कट्टरता बढ़ेगी और भारत में पाकिस्तान जैसे हालात पैदा हो जाएंगे. उन्होंने तिरुवनंतपुरम में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 2019 में बीजेपी जीती तो संविधान को तहस नहस कर देगी और एक ऐसे संविधान का निर्माण करेगी जो सिर्फ हिंदू हितों की रक्षा करेगा.

उनके इस बयान के बाद अब भाजपा भी हमलावर हो गई है. भाजपा की ओर से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने शशि थरूर पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि अगर उन्हें पाकिस्तान से इतना ही प्रेम है तो उन्हें वहीं चले जाना चाहिए. स्वामी ने कहा, इस मामले में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को बयान देना चाहिए.  बातचीत के कुछ अंश…

सवाल : 2014 से पहले हिन्दू आतंकवाद और अब 2019 से पहले हिन्दू पाकिस्तान

स्वामी : मुझे आश्चर्य होता है कि उन्होंने हिन्दू पाकिस्तान कहा. अभी एक पुस्तक लिखी थी ”मैं क्यों हिन्दू हूं…” और लंबा चौड़ा वृतांत दिया. इतना ही नहीं जिस लड़की के कारण सुनंदा पुष्कर को दुखी किया वो पाकिस्तानी है. अगर वो पाकिस्तान के साथ इस तरह के रिश्ते रख सकते हैं तो पाकिस्तान में क्या बुरा है.

हिन्दू पाकिस्तान कहने का क्या मतलब है? वे कह रहे है कि जिस तरह से पाकिस्तान में तानाशाही है, उसी तरह से यहां तानाशाही होगी? हिन्दू तो तानाशाह हो ही नहीं सकता. हिन्दू तो सभी धर्मों के साथ अच्छा व्यवहार करता है. हो सकता है कि ये जो चार्जशीट (सुनंदा पुष्कर के मामले में) हुई है. इससे उन्होंने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है. हमार प्रधानमंत्री पीएम पूरी दुनिया में घूमते है. वहां लोग क्या कहेंगे कि आपका एक मेंबर ऑफ पार्लियामेंट कहता है कि आप हिन्दू पाकिस्तान बनाना चाहते हैं. ये हमारे देश के लिये कितना घातक होगा. अब कांग्रेस कहे की ये हमारा बयान नहीं है.

सवाल : एक तरफ राहुल गांधी जनेऊ धारण करते हैं. मंदिर मंदिर जाते हैं. दूसरी तरफ उन्ही के पार्टी के नेता हिंदुओ का डर दिखा रहे हैं?
स्वामी : इस मामले में राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए. शशि थरूर ने पुस्तक लिखी है… ”मैं क्यों हिन्दू हूं” अगर ऐसा है तो हिन्दू धर्म छोड़ दो, मुस्लिम बन जाओ, पाकिस्तान चले जाओ. ये मानसिक संतुलन खोने का लक्षण होता है.

सवाल : राहुल मौलानाओं, मौलवियो से मिल रहे हैं, इस पर क्या कहेंगे…?
स्वामी : ऐसा करने से कांग्रेस को कुछ मिलने वाला नहीं है. ट्रिपल तलाक़ के बाद मुस्लिमो में विभाजन हो गया है. आधे मुसलमान तो उनसे अब दूर हो ही गए हैं. केवल कट्टर लोग ही उनके साथ हैं मुस्लिम समुदाय अब उनके साथ नहीं जाएगा.

सवाल : अब चारों ओर राम-राम की बात हो रही है…
स्वामी : रामचंद्र जी के जन्मभूमि में मंदिर बनेगा. दिवाली तक निर्माण की कहानी शुरू होनी चाहिये. राम मंदिर जहा यानि अयोध्या से रामेश्वरम तक फ़ास्ट ट्रैन होगा तो राष्ट्रीय एकता को भी बढ़ावा मिलेगा. सरकार का ट्रैन चलने का फैसला बिलकुल सही है. हम उनको बधाई देते हैं.

शशि थरूरशशि थरूर

उधर कांग्रेसी नेता शशि थरूर अपने ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाले बयान को लेकर  इंडिया टुडे से खास बातचीत में कहा है कि अगर बीजेपी दीन दयाल उपाध्याय को फॉलो करने का दावा करती है तो वह देश को हिंदू पाकिस्तान बनाने की ही कोशिश करेगी.

उन्होंने कहा कि आरएसएस और बीजेपी हिंदुत्व की विचारधारा को मानते हैं. बीजेपी नेता सावरकर,  गोवलवकर और दीन दयाल उपाध्याय Image result for दीन दयाल उपाध्यायको अपना मेंटर मानते हैं. ये लोग संविधान को नहीं मानते थे. कांग्रेसी नेता ने कहा कि यह खतरा लगातार बना हुआ है कि वे अपनी विचारधारा के आधार पर इस देश को हिंदू पाकिस्तान बनाने जा रहे हैं.

थरूर ने कहा कि उन्होंने आरएसएस और बीजेपी के नेताओं का लिखा हुआ गंभीरता से पढ़ा है. वह उनके लिखे हुए को गंभीरता से लेते हैं. आरएसएस ने हिंदू राष्ट्र का सिद्धांत दिया. सबसे पहले सावरकर ने ऐसा लिखा. बीजेपी ने उनकी तस्वीर संसद में भी लगाई. सावरकर और दीन दयाल उपाध्याय ने भी इसी विचार को आगे बढ़ाया.

थरूर ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री ने तो हर मंत्रालय को निर्देश दिए हैं कि दीन दयाल उपाध्याय Image result for दीन दयाल उपाध्यायको लेकर कार्यक्रम किए जाएं. दीन दयाल उपाध्याय भारत के संविधान को नकारते थे. वह सावरकर और गोलवलकर को फॉलो करते थे. इसी आधार पर उपाध्याय संविधान द्वारा दी गई भारत की परिभाषा को नकारते हैं और कहते हैं कि भारत का मतलब किसी क्षेत्र से न होकर हिंदुओं से है. यहां रहने वाले दूसरे धर्म के लोग बाहरी हैं. यही विचार मौजूदा सरकार के हैं. मैं तो केवल लोगों को यह बताने का काम कर रहा हूं कि इन लोगों के राष्ट्र के बारे में क्या विचार हैं.Image result for दीन दयाल उपाध्याय

उन्होंने आगे कहा कि अब अगर बीजेपी सरकार यह कहती है कि वह इन लोगों के विचारों को नहीं मानती है और वे अब इस देश को हिंदू राष्ट्र नहीं बनाना चाहते हैं तो वे मेरी आलोचना कर सकते हैं. उन्होंने अब तक इन लोगों के विचारों से हटने की घोषणा नहीं की है. इसलिए देश के ‘हिंदू पाकिस्तान’ बनने का खतरा कम नहीं हुआ है. इससे मेरे जैसे उदारवादी लोग चिंतित होते हैं और इसके लिए तैयार नहीं हैं, क्योंकि हम मेलजोल-भाईचारे और समावेशी दौर में पले-बढ़े हैं.

‘नहीं हटूंगा बयान से पीछे’

थरूर ने कहा है कि अगर 2019 में बीजेपी की जीत होगी तो हमारा देश ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा. थरूर ने कहा है कि उनका इस बयान से पीछे हटने का कोई इरादा नहीं है और वह इसे बार-बार दोहराते रहेंगे.

कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने गुरुवार को ट्विटर और फेसबुक पर अपने बयान को लेकर सफाई भी जारी की है. थरूर ने ट्विटर पर कहा है कि कई जगहों पर उनके बीजेपी की जीत से भारत के ‘हिंदू पाकिस्तान’ बनने के बयान को तोड़ा-मरोड़ा गया है. इसलिए वह अपने बयान को फिर से स्पष्ट कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट का लिंक दिया है.

Shashi Tharoor
@ShashiTharoor

Since some have bizarrely misconstrued my statement on the BJP seeking to turn India into a , a short explanation of what the term means: https://www.facebook.com/ShashiTharoor/posts/10155962318898167 

फेसबुक पर उन्होंने लिखा, ‘मैंने यह पहले भी कहा है और फिर से कहूंगा. पाकिस्तान का निर्माण बहुसंख्यकों के धर्म के आधार पर हुआ था. इससे धार्मिक अल्पसंख्यकों से भेदभाव होता है और उन्हें समान अधिकार नहीं मिलते. भारत ने यह तर्क कभी स्वीकार नहीं किया जिससे देश का विभाजन भी हुआ. लेकिन बीजेपी/आरएसएस के हिंदू राष्ट्र का विचार देश को पाकिस्तान जैसा बनाने का है. ऐसा देश जहां अल्पसंख्यकों के धर्म को बहुसंख्यकों का धर्म के अधीन समझा जाता है. ऐसा करने से देश ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा और हमारा स्वाधीनता संग्राम इसलिए नहीं लड़ा गया था. न ही ऐसे देश का विचार हमारे संविधान में संकलित है.’

बीजेपी बोली- राहुल मांगें माफी

आपको बता दें कि थरूर ने बुधवार को कहा था कि अगर साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी जीती, तो हिंदुस्तान का संविधान खतरे में पड़ जाएगा. भारत ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा.

उन्होंने था कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी की जीत से लोकतांत्रिक मूल्य खतरे में पड़ जाएंगे. कांग्रेस सांसद शशि थरूर के इस बयान पर बीजेपी ने पलटवार भी किया था. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि थरूर के बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए. हालांकि कांग्रेस ने थरूर के बयान का समर्थन किया है.

थरूर के बयान पर कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा, ‘उन्होंने क्या कहा और उनकी मंशा क्या थी, वही बताएंगे. मेरा मानना है कि आप अगर सरकार की आलोचना कर दो तो आप राष्ट्रद्रोही हो. अघोषित इमरजेंसी जैसा माहौल बन गया है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *