सवा लाख का गाय का गोबर चोरी, लिप्त पशुपालन सुपरवाइजर बंदी

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में सवा लाख की कीमत के गाय के गोबर की चोरी की घटना सामने आई है। पुलिस ने मामले की छानबीन करते हुए एक सरकारी कर्मचारी को दोषी पाए जाने पर उसे गिरफ्तार कर लिया है। 

cow dung worth 1.25 stolen

कर्नाटक में सवा लाख रुपए के गाय के गोबर की चोरी   |
 चिकमंगलुरु :कीमती सामानों को चोरी के आपने कई मामले देखे होंगे। लेकिन कर्नाटक के चिकमंगलुरु में चोरी का एक अनोखा मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि यहां गाय का गोबर चोरी हो गया। हैरानी की बात यह है कि चोरी के इस मामले में पुलिस ने एक सरकारी कर्मचारी को गिरफ्तार किया है।
घटना जिले के बिरूर थाना क्षेत्र की है। बिरूर के सीपीआई सत्यनारायण स्वामी ने बताया कि पशुपालन विभाग के जॉइंट डायरेक्टर की तरफ से गाय के गोबर की चोरी के मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। उन्होंने शिकायत की थी कि अमृतमहल कवल के स्टॉक में गोबर रखा था जहां से 35-40 ट्रैक्टर गोबर चोरी हो गया। इस गोबर की कीमत 1.25 लाख रुपये थी।
जांच के बाद पुलिस ने पशुपालन विभाग के सुपरवाइजर को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही जिस व्यक्ति की जमीन पर चोरी का गोबर पाया गया है उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने बरामद किया गया गोबर पशुपालन विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया है। 
आपको बता दें कि गाय का गोबर और गोमूत्र खेती-बाड़ी में प्रयोग किया जाता है। इसका इस्तेमाल देसी खाद बनाने में भी होता है। प्रदेश में गोमूत्र और गाय के गोबर की काफी मांग है। इसके अलावा आयुर्वेद में भी गाय के गोबर की डिमांड रहती है। विशेषज्ञों की मानें तो गोमूत्र और गाय के गोबर का खेतों में इस्तेमाल करने से फसल की पैदावार अच्छी होती है। दरअसल यहां डिपार्टमेंट ऑफ एनिमल हसबैंडरी की तरफ से गाय के गोबर की चोरी की शिकायत की गई थी। गौरतलब है कि गाय के गोबर का इस्तेमाल कृषि के क्षेत्र में काफी बड़े पैमाने पर किया जाता है इसलिए किसानों की तरफ से इसकी काफी डिमांड होती है। एनिमल हसबैंडरी डिपार्टमेंट की एक सुपरवाइजर को इस मामले में दोषी पाए जाने पर गिरफ्तार किया गया है। टीओआई के मुताबिक बिरुर सीपीआई सत्यनारायण स्वामी ने एनिमल हसबैंडरी डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारियों को चोरी की सूचना दी।शिकायत में कहा गया कि 35 से 40 ट्रक गाय के गोबर की चोरी स्टॉक से हो गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि गाय के गोबर को अमृतमहल कवल से किसी निजी जमीन पर ले जाया गया है। पुलिस ने बताया कि ज्वाइंट डायरेक्टर के पास आए शिकायत के आधार पर थाने में एफआईआर दर्ज कर लिया गया है।यहां तक कि जिस जमीन पर गोबर के स्टॉक को ले जाया गया है उस जमीन के मालिक के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज किया गया है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि जांच के बाद गाय गोबर को एनिमल हसबैंडरी डिपार्टमेंट को सौंप दिया जाएगा। आपको बता दें कि गाय के गोबर औऱ गौमूत्र का इस्तेमाल कृषि के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर होता है। खेतों में खाद के तौर पर इसका काफी इस्तेमाल किया जाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *