सर्वे: छत्तीसगढ़ में बीजेपी सेफ, राजस्थान में कांग्रेस से बड़ा झटका, म प्र में मुश्किल से सत्ता

एबीपी न्यूज, लोकनीति-सीएसडीएस के सर्वे के मुताबिक, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी को सीटों का नुकसान जरूर हो रहा है लेकिन सत्ता में पार्टी बरकरार रहेगी. वहीं राजस्थान बीजेपी के हाथों से निकलता दिख रहा है. यहां कांग्रेस वापसी कर सकती है.

ABP News Lokniti CSDS Survey Over Assembly Election 2018: BJP to Retain Madhya Pradesh and Chhattisgarh, Congress To Bag Rajasthan

छत्तीसगढ़ में मौजूदा स्थिति
फिलहाल छत्तीसगढ़ में रमन सिंह मुख्यमंत्री हैं और बीजेपी के खाते में 49 सीटें हैं. वहीं कांग्रेस 39 सीटों के साथ मुख्य विपक्षी पार्टी है. सर्वे पर नजर डालें तो कांग्रेस को इस चुनाव में नुकसान हो सकता है.

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस और बीजेपी पूरे दम-खम से जुटी है. तीनों ही राज्यों में फिलहाल बीजेपी का कब्जा है. सत्ता बचाने और वापसी की कवायद के बीच धीरे-धीरे जनमत तैयार हो रहा है. एबीपी न्यूज ने लोकनीति सीएसडीएस के साथ मिलकर उसी जनमत का मिजाज जानने की कोशिश की है. सर्वे के मुताबिक, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सत्ता बरकरार रहेगी. तो वहीं राजस्थान में उसे झटका लग सकता है. सूबे में कांग्रेस की वापसी होगी.तीनों राज्यों में होने वाले चुनाव ज्यादा महत्वपूर्ण इसलिए हैं क्योंकि इसे लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है. यानि जिस पार्टी की जीत होगी उसके लिए दिल्ली का रास्ता और आसान होगा.

मध्य प्रदेश 
सर्वे के मुताबिक, मध्य प्रदेश में कांटे की टक्कर देखने को मिल सकती है. 41 फीसदी वोट बीजेपी को मिल सकती है. कड़ी टक्कर देते हुए कांग्रेस 40 फीसद वोट पाने में कामयाब होती दिख रही है. वहीं अन्य के खाते में 19 फीसदी वोट जाने का अनुमान है.

कुल 230 सीटों में से सत्तारूढ़ बीजेपी को 116 सीटें मिल सकती है. वहीं करीब 15 साल से सत्ता से दूर कांग्रेस को 105 सीटें मिल सकती है. अन्य के खाते में 9 सीटें जाने का अनुमान है.

मध्य प्रदेश में मौजूदा स्थिति
230 सदस्यों वाली मध्य प्रदेश विधानसभा में फिलहाल बीजेपी के 166 और कांग्रेस के 57 सदस्य हैं. यानि सर्वे के मुताबिक, भले ही बीजेपी एक बार फिर सत्ता में आ जाए लेकिन उसे सीटों का नुकसान हो सकता है. कांग्रेस सत्ता से दूर रहने के बावजूद राज्य में मजबूत होती दिख रही है.

मध्य प्रदेश में किसे कितनी औसत सीटें?
कुल- 230 सीटें
बीजेपी- 116 सीटें
कांग्रेस- 105 सीटें
अन्य- 9 सीटें

छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ में जनता एक बार फिर रमन सिंह पर भरोसा जता सकती है. सर्वे के मुताबिक, बीजेपी को 43 फीसदी वोट, कांग्रेस को 36 फीसदी वोट और अजीत जोगी गठबंधन को 15 फीसदी वोट मिलने के आसार हैं. अजीत जोगी का गठबंधन कांग्रेस के लिए बड़ा खतरा साबित होता दिख रहा है. सूबे में दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. वहीं इसकी गिनती 11 दिसंबर को होगी.

एबीपी न्यूज के लिए लोकनीति सीएसडीएस ने जो सर्वे किया है उसके मुताबिक, बीजेपी को कुल 90 सीटों में से 56 सीटें मिल सकती है. वहीं विपक्षी पार्टी कांग्रेस को 25 सीटें मिल सकती है. पहली बार कांग्रेस से अलग होकर अलग पार्टी बनाने वाले अजीत जोगी के खाते में 4 सीटें जा सकती है.

छत्तीसगढ़ में किसे कितनी औसत सीटें ?
कुल- 90 सीटें

बीजेपी- 56 सीटें
कांग्रेस- 25 सीटें
जोगी गठबंधन – 4 सीटें

राजस्थान
राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है. सूबे की सत्ता वसुंधरा राजे के हाथ से निकल सकती है. राजस्थान के 45 फीसदी मतदाता कांग्रेस के पक्ष में वोट कर सकते हैं. 41 फीसदी मतदाता अब भी बीजेपी की सरकार बनाने के लिए वोट करना चाहते हैं. सर्वे के मुताबिक, कुल 200 सीटों में से सत्तारूढ़ बीजेपी को 84 सीटें मिल सकती है. वहीं कांग्रेस के खाते में 110 सीट जाने का अनुमान है. अन्य को तीन से 6 सीटें मिल सकती है. सूबे में सात दिसंबर को वोट डाले जाएंगे और वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी.

राजस्थान में मौजूदा स्थिति
फिलहाल राजस्थान में बीजेपी के खाते में 160 सीटें हैं. वहीं कांग्रेस 25 सीटों पर काबिज है. बीएसपी ने दो सीटों पर जीत दर्ज की है. राज्य में 2013 के चुनाव में कांग्रेस को हार मिली थी और अशोक गहलोत को सत्ता से हाथ धोना पड़ा था.

राजस्थान में किसे कितनी औसत सीटें
कुल- 200 सीटें

बीजेपी- 84 सीटें
कांग्रेस- 110 सीटें
अन्य – 6 सीटें

एबीपी न्यूज के लिए लोकनीति सीएसडीएस ने तीन राज्यों का मूड जानने की कोशिश की है. ये फाइनल ओपिनियन पोल अक्टूबर के आखिरी हफ्ते तक का है. सर्वे में 14 हजार 92 लोगों से बात की गई है. इन तीन राज्यों में 137 विधानसभा सीटों पर एससी, एसटी, महिला, मुस्लिम और शहरी वोटरों से बात की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *