शहरों में नये क्षेत्र शामिल करने के फैसले पर जनता ने लगाई मुहर

देहरादून:मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश भाजपा कार्यलय देहरादून में आयोजित कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि स्थानीय निकायों के  रिजल्ट बताते हैं कि  उत्तराखण्ड के नगर निकाय चुनाव इतिहास में पहली बार रिकार्ड सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की है। यद्यपि तीनों निकायों के चुनाव में स्थानीय मुदे हावी रहते है। विशेषकर वार्डों के चुनाव लोकलाइज्ड होते है और वह चुनाव को प्रभावित करते है। और जो पार्षद  प्रत्याशी का व्यक्तिगत संपर्क कैसा है वह किसी के सुख- दुख में कितना खडा होता है ,यह सभी चीजें पार्षद के चुनाव में डिपेंड करती है। जो अध्यक्ष एवं मेयर के चुनाव होते हैं वह कही न कही पार्टी से प्रभावित होते है।
इस बार नगर निगमों में 7 में से 5 सीटों में भाजपा जीती है। तरह तरह के राजनैतिक षडयंत्र विपक्ष ने अपनाये । लेकिन विषम परिस्थितियों में भी उत्तराखण्ड की जनता ने भाजपा पर अपना विश्वास जताया है और सरकार को भी समर्थन दिया है| जो डेढ़ साल का सरकार का कार्यकाल रहा है उसको भी जनता ने अपना समर्थन दिया है। इस बार जिन 83 सीटों पर चुनाव हुये उनमें से 34 पर भाजपा, 25 पर कांग्रेस, 23 निर्दलीय एवं 01 सीट पर  बसपा ने जीत दर्ज की है इसके साथ ही चमोली जिले की 01 सीट पर आज पुन: मतदान है।  भाजपा के 323 पार्षद जीते हैं। अगर आप यहां के तमाम विधानसभा एवं लोक सभा के चुनावों को देखें तो निर्दलीयों को केवल 2-3 सीटों से ज्यादा कभी नहीं मिली है।  स्थानीय निकाय के चुनाव में देखें तो 500 से अधिक निर्दलीय चुनाव जीतकर आते है। इससे यह स्पष्ट है कि पार्षदों के चुनाव स्थानीय होते है व इन पर स्थानीयता हावी रहती है। फिर भी एक राजनैतिक दल के नाते भाजपा सर्वाधिक सीट जीत कर आयी है। पिछली बार हमारे कुल 177 पार्षद थे | इस तरह पिछली बार की तुलना में हमने अच्छा प्रदर्शन किया है। जो नये क्षेत्र शहरों में जोडे गये उसका विरोध विपक्ष ने हर तरह सेे किया  और वह प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष न्यायालय में भी गये। लेकिन आप अगर उन नये क्षेत्रों में देखें तो भाजपा वहां से जीत कर आयी है। इसलिये माना जाना चाहिये कि  हमारा यह निर्णय  जनता ने स्वीकार किया हैै । विपक्ष के न्यायालय जाने के कारण ही निकाय चुनाव विलंब हुए।  मैं सभी प्रदेशवासियों एवं मतदाताओं का आभार प्रकट करता और उन्होंने जो अपेक्षा की है सरकार की कोशिश रहेगी कि उनकी अपेक्षाओं को पूरा करें। यह भाजपा संगठन तथा सरकार का सामूहिक प्रयास रहा, कि इस तरह के परिणाम हमें प्राप्त हुए है।

एक सवाल के जवाब में उन्होने बताया कि हमारी परंपरा रही है कि हम हारे या जीते सभी की समीक्षा करते है।

वार्ता में वित्त मंत्री प्रकाश पंत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ,महामत्री नरेश बसल,सुशीला बलूनी,नगर अध्यक्ष विनय गोयल आदि भी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *