शव लाने में लगेंगे पांच दिन, पिथौरागढ़ में होगा पंत का अंतिम संस्कार

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने बताया कि पंत के निधन के शोक में प्रदेश में भाजपा के सभी कार्यक्रम तीन दिन तक स्थगित रहेंगे. साथ ही प्रदेश में एक दिन के अवकाश का एलान किया गया है.

देहरादूनः अपने व्यवहार और ज्ञान से सबको प्रभावित करने वाले उत्तराखंड के संसदीय कार्य और वित्त मंत्री प्रकाश पंत अब हमारे बीच नहीं रहे. वह अपने पीछे पत्नी और दो पुत्रियों को छोड़ गए हैं. वह बीते कुछ माह से बीमार चल रहे थे. उन्हें कुछ दिन पहले ही इलाज के लिए दिल्ली से अमेरिका ले जाया गया था, जहां बुधवार शाम को उन्होंने दम तोड़ दिया. प्रकाश पंत के निधन पर राज्य सरकार ने तीन दिन के राजकीय शोक की घोषण की है. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने बताया कि पंत के निधन के शोक में प्रदेश में भाजपा के सभी कार्यक्रम तीन दिन तक स्थगित रहेंगे. साथ ही प्रदेश में एक दिन के अवकाश का एलान किया गया है.

उनके निधन की खबर से पूरे प्रदेश में शोक की लहर फैल गई है. पंत के निधन पर सरकार ने गुरुवार को प्रदेश के सभी सरकारी और अर्धसरकारी कार्यालयों में अवकाश रखने के साथ ही तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है. इस दौरान सभी कार्यालय में ध्वज आधे झुके रहेंगे. उनकी अंत्येष्टि पूरे राजकीय सम्मान के साथ की जाएगी.

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने दुःख की इस घड़ी में उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए शोक व्यक्त करते हुए परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है. अपने शोक संदेश में राज्यपाल ने कहा कि स्वर्गीय प्रकाश पंत एक अत्यंत मृदुभाषी, मिलनसार और लोकप्रिय राजनेता थे. प्रकाश पंत एक बेहद सक्षम और कुशल प्रशासक थे. वे जनता के बीच अत्यंत लोकप्रिय थे और सामाजिक सरोकारों से हमेशा जुड़े रहते थे. उन्होंने उत्तराखंड की राजनीति में अपना एक विशेष स्थान बनाया था. उनके निधन से उत्तराखंड को अपूरणीय क्षति हुई है. रिकी समय अनुसार सुबह 6. 45 पर प्रकाश पंत ने ली अंतिम सांस, परिवार ने फोन न करने की अपील की

प्रकाश पंत के आखिरी समय में बेटी, पत्नी और छोटे भाई के साथ एक और पारिवारिक मित्र मौजूद थे. Etv भारत को दी जानकारी.

उत्तराखंड के वित्तमंत्री प्रकाश पंत (58 वर्ष) का निधन हो गया है. वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे और उन्होंने अमेरिका के ह्यूस्टन में एमडी एंडरसन हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दम तोड़ा. पीएम मोदी, राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया है. बताया जा रहा है कि अमेरिकी समय के अनुसार सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर सांसे थम गईं.

प्रकाश पंत के आखिरी समय में बेटी, पत्नी और छोटे भाई के साथ एक और पारिवारिक मित्र मौजूद थे. साथ ही दिल्ली वित्त विभाग के अधिकारी भी एमडी एंडरसन हॉस्पिटल में थे. अमेरिका में मौजूद परिवार के सदस्य ने ईटीवी भारत को जानकारी दी. बताया गया कि सोमवार को आखरी बार प्रकाश पंत ने परिवार से हल्की आवाज में बात की थी.

परिवार के सदस्य ने ईटीवी भारत के जरिए अपिल की है कि इस दुख की घड़ी में उन्हें कोई फोन कर परेशान नहीं करे. बताया गया कि 4 घण्टे में परिवार के पास 13 हजार से अधिक कॉल आ चुकी है.

प्रकाश पंत का शव भारत पहुंचने में 4 से 5 दिन का समय लग सकता है. ह्यूस्टन में इस वक्त तेज हवाओं के साथ ही जोरदार बारिश हो रही है. वहीं साइक्लोन का भी खतरा बना हुआ है. बताया गया कि दो दिन तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा. पिथौरागढ़ में अंतिम संस्कार किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *