वीडियोकॉन लोन : चंदा कोचर की एफआईआर साइन करने वाले सीबीआई अफसर का ट्रांसफर

कोचर पर एफआईआर को लेकर वित्त मंत्री जेटली ने सीबीआई पर ही सवाल उठाए थे. जेटली ने कहा है कि जांच एजेंसियों को पेशेवर रुख अपनाना चाहिए. हालांकि अरुण जेटली का ट्वीट सीबीआई एसपी सुधांशु धर के तबादले के दो दिन बाद यानि 25 तारीख को आया था.

नई दिल्ली: वीडियोकॉन कर्ज मामले में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर की एफआईआर पर दस्तखत करने वाले सीबीआई अधिकारी सुधांशु धर का तबादला कर दिया गया है. सुधांशु धर ने एफआईआर पर 22 जनवरी को एफआईआर पर दस्तखत किए और उन्हें 23 जनवरी को हटा दिया गया. बता दें कि सीबीआई ने चंदा कोचर जो उस वक्त आईसीआईसीआई बैंक के तत्कालीन एमडी और सीईओ थी उनके खिलाफ और साथ ही उनके पति दीपक कोचर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है. इसके अलावा वी एन धूत, वीडियोकॉन समूह के एमडी और अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

एएनआई के अनुसार, सीबीआई (CBI) की बैंकिंग ऐंड सिक्यॉरिटीज फ्रॉड सेल के एसपी सुधांशु धर मिश्रा का ट्रांसफर रांची किया गया गया है। मिश्रा ने कोचर के अलावा दीपक कोचर, वीएन धूत और अन्य के खिलाफ दर्ज एएफआईआर पर दस्तखत किए थे। मिश्रा की जगह कोलकाता में सीबीआई की आर्थिक अपराध शाखा में एसपी रहे बिस्वजीत दास को चार्ज दिया गया है। वहीं, सीबीआई की आर्थिक अपराध शाखा के नए एसपी सुदीप रॉय होंगे।

सीबीआई लक्ष्य से भटक कर जांच का दायरा बढ़ा रही- जेटलीImage result for जेटली

बता दें कि केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने चंदा कोचर मामले में सीबीआई को शुक्रवार को निशाने पर लिया था। उन्होंने सीबीआई को दुस्साहस से बचने तथा सिर्फ दोषियों पर ध्यान देने की नसीहत दी थी। जेटली ने यह टिप्पणी ऐसे समय की थी जब एक दिन पहले सीबीआई ने चंदा कोचर के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में बैंकिंग क्षेत्र के के.वी.कामत तथा अन्य को पूछताछ के लिये नामजद किया था।

जेटली ने ट्वीट किया था कि भारत में दोषियों को सजा मिलने की बेहद खराब दर का एक कारण जांच तथा पेशेवर रवैये पर दुस्साहस एवं प्रशंसा पाने की आदत का हावी हो जाना है।

वित्त मंत्री जेटली ने उठाए थे सवाल
चंदा कोचर पर एफआईआर को लेकर वित्त मंत्री जेटली ने सीबीआई पर ही सवाल उठाए थे. जेटली ने कहा है कि जांच एजेंसियों को पेशेवर रुख अपनाना चाहिए. हालांकि अरुण जेटली का ट्वीट सीबीआई एसपी सुधांशु धर के तबादले के दो दिन बाद यानि 25 तारीख को आया था.

जेटली ने ट्वीट में लिखा, ”पेशेवर जांच और जांच में दुस्साहस के बीच आधारभूत अंतर है. हजारों किलोमीटर दूर बैठा, मैं जब आइसीआइसीआइ केस में संभावित लक्ष्यों की सूची पढ़ता हूं तो एक ही बात मेरे दिमाग में आती है कि लक्ष्य पर ध्यान देने की जगह अंतहीन यात्रा का रास्ता क्यों चुना जा रहा है? अगर हम बैंकिंग क्षेत्र से जुड़े हर किसी को इस जांच में सुबूत या सुबूत के बिना शामिल करेंगे तो वास्तव में हम इससे क्या हासिल करने वाले हैं या नुकसान उठाने वाले हैं.”

चंदा कोचर से जुड़ा मामला है क्या?Image result for वीडियोकॉन वेणुगोपाल धूत
ICICI बैंक और वीडियोकॉन के शेयर होल्डर अरविंद गुप्ता ने प्रधानमंत्री, रिजर्व बैंक और सेबी को एक खत लिखकर वीडियोकॉन के अध्यक्ष वेणुगोपाल धूत और ICICI की सीईओ व एमडी चंदा कोचर पर एक-दूसरे को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया था.

दावा किया गया है कि धूत की कंपनी वीडियोकॉन को आईसीआईसीआई बैंक से 3250 करोड़ रुपये का लोन दिया गया और इसके बदले धूत ने चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की वैकल्पिक ऊर्जा कंपनी ‘नूपावर’ में अपना पैसा निवेश किया. आरोप है कि चंदा कोचर ने अपने पति की कंपनी के लिए वेणुगोपाल धूत को लाभ पहुंचाया.

  1. क्या है पूरा मामला ?

    वीडियोकॉन ग्रुप की पांच कंपनियों को आईसीआईसीआई बैंक ने अप्रैल 2012 में 3,250 करोड़ रुपए का लोन दिया था। ग्रुप ने इस लोन में से 86% यानी 2810 करोड़ रुपए नहीं चुकाए। इसके बाद लोन को 2017 में एनपीए घोषित कर दिया गया। लोन स्वीकृत करने वाली कमेटी में चंदा कोचर शामिल थीं। चंदा कोचर पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप है। उनके खिलाफ आरोपों की जांच चल रही है। यह आरोप भी है कि वीडियोकॉन ग्रुप के एमडी वेणुगोपाल धूत ने दीपक कोचर की कंपनी न्यूपावर रिन्यूएबल्स में पैसा लगाया था।

  2. चंदा कोचर ने 3 महीने पहले इस्तीफा दिया

    चंदा कोचर ने पिछले साल अक्टूबर में आईसीआईसीआई बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया था। वीडियोकॉन को लोन दिए जाने के मामले में उनके खिलाफ आईसीआईसीआई बैंक स्वतंत्र जांच भी करवा रहा है।

आरोप के बाद दिया था इस्तीफा
आईसीआईसीआई बैंक की एमडी और सीईओ चंदा कोचर ने आरोपों के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. चंदा कोचर के द्वारा आईसीआईसीआई बैंक की एमडी और सीईओ पोस्ट से रिटायरमेंट के लिए दी गई अर्जी को बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने स्वीकार कर लिया था.

बैंक ने कहा है कि तत्काल प्रभाव से बैंक ने चंदा कोचर को रिटायरमेंट दे दी गई है. बैंक ने चंदा के बाद नए एमडी और सीईओ के पद पर संदीप बख्शी को पांच साल के लिए नियुक्त किया है. संदीप बख्शी इस पद पर 3 अक्टूबर, 2023 तक रहेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *