सांसद डॉक्टर रमेश पोखरियाल निशंक के विकास कार्यों पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि पांच साल तक वह जनता के बीच में नहीं रहे, अब एन वक्त पर शिलान्यास कर वह विकास का झूठा दावा कर रहे हैं। अब किए गए शिलान्यास कब धरातल पर आएंगे, सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है।

सोमवार को कैंप कार्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने अपनी पत्नी रानी देवयानी सिंह के लिए टिकट की मांग की है। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी लगातार काम कर रही है और सुशिक्षित है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार जिले से जो भी सांसद बने यह स्थानीय नहीं है। उन्होंने कहा कि इस बार स्थानीय प्रत्याशी की मांग की जा रही है। इसलिए उनकी प्रबल दावेदार है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से तमाम योजनाएं संचालित की जा रही है।

ऐसे में पढ़ा-लिखा और बात करने वाला सांसद हो तो तमाम योजनाएं ला सकता है। उन्होंने कहा कि पांच साल तक लोगों के सुख-दुख में सांसद दिखाई नहीं दिए। अब पांच सप्ताह में उन्होंने करोड़ों रुपये के विकास कार्यों का शिलान्यास किया है। ऐसे में सवाल यह  उठता है कि क्या इन विकास कार्यों के आर्डर हुए है क्या टेंडर जारी हो चुके हैं। आगे क्या होगा, सब भविष्य के गर्भ में है।

विकास कार्य पांच साल से होने चाहिए थे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यदि गठबंधन का प्रत्याशी आता है तो डाक्टर निशंक चुनाव नहीं जीत सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि उनकी पत्नी ही चुनाव में हरीश रावत

को हरा सकती हैविधायक चैंपियन के बयान से भाजपा असहज

विधायक चैंपियन के बया।न

मोदी की तीन रैलियां प्रस्तावित
चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कम से कम तीन जनसभाएं कराना चाहती है। इनमें दो जनसभाएं गढ़वाल की हरिद्वार व पौड़ी संसदीय सीट पर और एक कुमाऊं मंडल में कराने की तैयारी है। इसी तरह राष्ट्रीय अध्यक्ष की पांचों संसदीय क्षेत्रों में जनसभाएं और रोड शो होने की संभावना है। केंद्र व प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में रहे चारधाम ऑलवेदर रोड, राष्ट्रीय राजमार्गों की योजनाओं पर चल रहे कार्यों का भी पार्टी चुनावी फायदा लेगी। इसके  लिए पार्टी केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को प्रचार में उतारेगी। इनके अलावा सुषमा स्वराज, स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण, राधामोहन सिंह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सांसद डॉ.मुरली मनोहर जोशी समेत कई अन्य राष्ट्रीय नेताओं को पार्टी लोकसभा क्षेत्रों के समीकरणों के हिसाब से प्रचार में उतारेगी।

डबल इंजन के इन फैसलों को भुनाएगी सरकार

– चारधाम को जोड़ने वाली ऑलवेदर रोड
– ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेलमार्ग परियोजना
– चार साल के दौरान रेलवे में निवेश बढ़ोतरी
– हरिद्वार, देहरादून और हल्द्वानी रिंग रोड की स्वीकृति
– हरिद्वार-देहरादून को गैस पाइप लाइन को मंजूरी
– केदारनाथ धाम का पुनर्निर्माण
– नमामि गंगे योजना से घाटों के पुनरोद्धार को 600 करोड़
– 3340 करोड़ की समेकित सहकारी विकास परियोजना
– सरकारी नौकरियों में 10 प्रतिशत का आर्थिक आरक्षण
– आयुष्मान, उज्ज्वला, मुद्रा व किसान, मजदूर पेंशन योजना