वर्ल्‍ड रिकॉर्ड:अनुजा रिझाने को भाजपा ने पकाई 5000 किलो खिचड़ी, तीन लाख घरों से आया दाल-चावल

जानकारी के मुताबिक मौजूदा विश्व रिकार्ड 918.8 किलोग्राम खिचड़ी बनाने का है. नवंबर 2017 में दिल्ली में आयोजित वर्ल्ड फूड इंडिया फेस्टिवल में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय और मशहूर शेफ संजीव कपूर के नेतृत्व में यह रिकार्ड बनाया गया था.

5,000 Kg khichdi being Cooked in BJP Mega Rally, Party Aims dalit voters
 नई दिल्‍ली, । भाजपा ने आज हल्‍की बूंदाबांदी के बाद सियासी खिचड़ी पकाई। सियासी खिचड़ी पकने के दौरान कार्यकर्ताओं में नेताओं ने जोश भर कर मोदी को जहां फिर से पीएम बनाने का आह्वान किया है वहीं कांग्रेस पर हमला बोला। भाजपा के भीम महासंगम विजय संकल्‍प कार्यक्रम में 5000 किलोग्राम खिचड़ी बनाने का दावा किया गया जो एक वर्ल्‍ड रिकॉर्ड हो सकता है। लोकसभा चुनाव से पहले हर समुदाय को अपने पाले में करने की कोशिश हो रही है. दिल्ली के रामलीला मैदान में  बीजेपी 5 हजार किलो खिचड़ी पका रही है. खिचड़ी के लिए दाल चावल अनुसूचित जाति के लोगों के घर से जुटाए गए हैं. इस आयोजन को ‘भीम महासंगम रैली’ का नाम दिया गया है, जिसमें समरसता खिचड़ी पक रही है.समरसता खिचड़ी के जरिए बीजेपी अनुसूचित जाति के वोटरों को लुभाने की कोशिश में है. बीजेपी की कोशिश 5 हजार किलोग्राम खिचड़ी पकाकर विश्व रिकॉर्ड बनाने की भी है. मौजूदा विश्व रिकार्ड 918.8 किलोग्राम खिचड़ी बनाने का है.दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित भीम महासंगम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि समरसता खिचड़ी खाने के लिए सभी पार्टियों के नेताओं को बुलाया गया था। उन्‍होंने कांग्रेस और आप के नेताओं पर सियासी खिचड़ी के जरिए कटाक्ष करते हुए कहा कि समरसता खिचड़ी रामलीला मैदान में बन रही है और इसके भाप से अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी परेशान हैं।

राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने कहा कि मोदी सरकार आंबेडकर की नीतियों पर चलते हुए सबका साथ सबका विकास के लिए काम कर रही है। इस कार्यक्रम के जरिए कार्यकर्ता घर-घर जाकर मोदी की नीतियों को पहुंचाएंगे। उन्‍होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि सभी मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लें।
केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत ने कहा कि अनुसूचित जाति को कोई भी समाज नजरअंदाज नहीं कर सकता है। भाजपा हमेशा आंबेडकर की नीतियों को आगे बढ़ाते हुए समाज में समरसता के लिए काम कर रही है। वाजपेयी सरकार के बाद मोदी सरकार गरीबों के लिए काम कर रही है।
भीम महासंगम कार्यक्रम में 5 हजार किलो खिचड़ी बनाई गई है। भाजपा का दावा है कि यह विश्व रिकार्ड है। नागपुर से आए शेफ विष्णु मनोहर और उनकी टीम ने खिचड़ी बनाकर यह रिकार्ड बनाया।चुके हैं। वह भी इस समरसता की खिचड़ी बनाने में जुट गए हैं।


इन्‍होंने बनाई खिचड़ी 
नागपुर से शेफ विष्णु मनोहर को भीम महासम्मेलन में खिचड़ी बनाने के लिए आए। उन्‍होंनेे नागपुर में कुछ महीने पहले तीन हजार किलो खिचड़ी बनाने का रिकॉर्ड बनाया था वह अपनी टीम के साथ 20 फीट व्यास वाले और छह फीट गहरे बर्तन में खिचड़ी बनाई।
खिचड़ी बनाते मनोज तिवारी इससे पहले खिचड़ी का रिकॉर्ड 
भाजपा ने दावा किया है यह विश्व रिकार्ड होगा, क्योंकि इससे पहले नवंबर 2017 में दिल्ली के इंडिया गेट पर खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के सहयोग से लगे व‌र्ल्ड फूड फेस्टिवल में शेफ संजीव कपूर ने 918.8 किलो खिचड़ी बनाकर यह रिकॉर्ड बनाया था। भाजपा नेताओं का कहना है कि घर-घर कार्यकर्ताओं के जाने से अनुसूचित जाति के लोगों को पार्टी के साथ जोड़ने में मदद मिल रही है।

उन्हें नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों व जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दे रहे हैा। कार्यकर्ता लोगों को बता रहे हैं कि केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति व गरीबों के जीवन स्तर को उठाने के लिए किस तरह से काम कर रही है।

देश को पांच साल मोदी की जरूरत है: मनोज तिवारी
समरसता खिचड़ी पर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, ”ये खिचड़ी मोदीजी के साढ़े 4 सालों की सफलता की खिचड़ी है. अनुसूचित जाति के 3 लाख लोगों के घर से सामान लाए हैं. ये खिचड़ी जातिवादी और झूठे लोगों की ज़ुबान ठीक कर देगी.” अपने खास अंदाज में गाते हुए कहा कि समरसता की खिचड़ी महूर्त है, पांच साल देश को मेरे मोदी की जरूरत है.

5000 किलो खिचड़ी में क्या-क्या और कितनी सामग्री?
-एक हजार किलो दाल-चावल
-200 किलो घी
-100 लीटर तेल
-300-400 किलो सब्जियां
-पांच हजार लीटर पानी
-70 किलो नमक
-पकाने के लिए 10 फीट के बर्तन का इस्तेमाल
-बर्तन का वजन 850 किलो

अनुसूचित जाति की ताकत समझिए
-भारत में आबादी में हिस्सेदारी- 16.63%
-20 करोड़ 14 लाख लोग अनुसूचित जाति से
-लोकसभा की 84 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित
-2014 का रिजल्ट: 84 में 46 एनडीए, कांग्रेस- 7

य़हां देखें वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *