वर्ल्ड कप क्रिकेट २०१९: भारत की इंग्लैंड के हाथों ३१ रन से पहली हार

गांगुली ने धोनी और जाघव पर उठाए सवाल कि पांच विकेट हाथ में होने पर भी नाट आऊट रह कर क्या हासिल कर लिया? मैच जिताने की जिम्मेदारी सिर्फ विराट कोहली और राहुल शर्मा की थोड़े है! जब रनों की जरूरत थी तो धोनी और जाघव विकेट बचाए रखने को खेल रहे थे।

​इंग्लैंड के खिलाफ 338 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया 31 रन से यह मैच हार गई। इस मैच में भारत की ओर से रोहित शर्मा (102) ने शतक और कप्तान विराट कोहली (66) ने हाफ सेंचुरी बनाई थी। इन दोनों के बाद हार्दिक पंड्या (45) ने कुछ कोशिशें जरूर कीं लेकिन उनके अलावा कोई भी दूसरा बल्लेबाज जरूरत के मुताबिक टीम को जरूरी स्कोर तक नहीं पहुंचा पाया।

navbharat times
बर्मिंगम
इंग्लैंड के खिलाफ 338 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया 31 रन से यह मैच हार गई। इस मैच में भारत की ओर से रोहित शर्मा (102) ने शतक और कप्तान विराट कोहली (66) ने हाफ सेंचुरी बनाई थी। इन दोनों के बाद हार्दिक पंड्या (45) ने कुछ कोशिशें जरूर कीं लेकिन उनके अलावा कोई भी दूसरा बल्लेबाज जरूरत के मुताबिक टीम को जरूरी स्कोर तक नहीं पहुंचा पाया। मौजूदा वर्ल्ड कप में यह टीम इंडिया की पहली हार है। इतना ही नहीं 1992 वर्ल्ड कप बाद टीम इंडिया वर्ल्ड कप में इंग्लैंड से पहले बार हारी है। इससे पहले 27 साल पहले इंग्लैंड ने वर्ल्ड कप 1992 में खेले गए वर्ल्ड कप मुकाबले में भारत को आखिरी बार मात दी थी।

अब तक सिर्फ टीम इंडिया ही इस टूर्नमेंट ने अपना अजेय अभियान बचाया हुआ था। लेकिन इंग्लैंड ने आज उसके अजेय अभियान क्रम तोड़ दिया। इंग्लैंड की ओर से लियाम प्लेंकेट (3/55) ने सर्वाधिक तीन और क्रिस वोक्स ने 2/46 रन देकर दो विकेट अपने नाम किए। इससे पहले टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने उतरी इंग्लैंड ने जॉनी बेयरस्टो (111) के शतक के अलावा जेसन रॉय (66) और बेन स्टोक्स (79) ने उम्दा हाफ सेंचुरी जड़ी थीं। इसकी बदौलत मेजबान इंग्लैंड ने भारत के सामने 338 रन की विशाल चुनौती रखी थी।

बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही और ओपनिंग बल्लेबाज केएल राहुल (0) बगैर खाता खोले पविलियन लौट गए। इसके बाद रोहित शर्मा ने कप्तान विराट कोहली के साथ मिलकर पारी को संभाला। कप्तान और उपकप्तान की इस जोड़ी ने दूसरे विकेट के लिए 138 रन जोड़े। यहां विराट कोहली वर्ल्ड कप में अपनी लगातार 5वीं हाफ सेंचुरी जड़ने के बाद पविलियन लौट गए। इसके बाद रोहित का साथ देने क्रीज पर इस वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच खेल रहे ऋषभ पंत आए। उन्होंने रोहित के साथ 52 रन की साझेदारी की। यहां रोहित शर्मा इस वर्ल्ड कप में अपनी तीसरा और वनडे करियर की 25वां शतक जमाने के बाद पारी को ज्यादा आगे नहीं ले जा पाए और क्रिस वोक्स की गेंद पर विकेटकीपर जॉस बटलर को कैच थमा गए।

इसके बाद पंत (32) और हार्दिक (45) ने टीम के जरूरी रन जुटाने की कोशिश जरूर की लेकिन वे दोनों ही टीम इंडिया को जीत नहीं दिला पाए। अंत में एमएस धोनी (42) की नाबाद पारी और केदार जाधव (12*) ने मिलकर टीम इंडिया के स्कोर को 300 पार तो पहुंचा दिया लेकिन 50 ओवर के खत्म होने के बाद टीम इंडिया इस मैच में इंग्लैंड से 31रन से हार गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *