लोस चुनाव 2019: 11 अप्रैल से 19 मई तक 7 चरण में वोट‍िंग, 10 बड़ी बातें

दस प्वाइंट में समझते हैं चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी घोषणाएं.

लोकसभा चुनाव 2019: 11 अप्रैल से 19 मई तक 7 चरण में वोट‍िंग, जानें 10 बड़ी बातें
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा.

नई दिल्ली: भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनली अरोड़ा ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान कर दिया है. दस प्वाइंट में समझते हैं चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी घोषणाएं.

1-लोकसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही चुनाव आचार संहिता रविवार से लागू हो गई है.

2-सभी पोलिंग स्टेशन पर वीवीपैट का इस्तेमाल होगा

3-सात चरणों में होंगे लोकसभा चुनाव

4-पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा. दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को होगा.

5-तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल को होगा. चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा.

6-पांचवे चरण का मतदान 6 मई को होगा. छठे चरण का मतदान 12 मई को होगा.

7-सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा.

8-प्रथम चरण के चुनाव में 91 लोकसभा सीटों और दूसरे चरण के चुनाव में 97 लोकसभा सीटों पर चुनाव होंगे. तीसरे चरण में 115 सीटों पर मतदान होगा.

9-चौथे चरण में 71 सीटों पर और पांचवें चरण में 51 सीट पर चुनाव होंगे. छठे चरण में 59 सीट पर चुनाव और सातवें चरण में 59 सीटों पर चुनाव होंगे.

10-मतगणना 23 मई को होगी

देश में सात चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे और 23 मई को मतगणना होगी।
लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 11 अप्रैल को 91, दूसरे चरण में 18 अप्रैल को 97, तीसरे चरण में 23 अप्रैल को 115, चौथे चरण में 29 अप्रैल को 71, पांचवें चरण में 6 मई को 51, छठे चरण में 12 मई को 59, सातवें चरण में 19 मई को 59 सीटों पर मतदान होगा। लोकसभा चुनावों के साथ अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, आंध्र प्रदेश और ओडिशा के विधानसभा चुनाव होंगे।

पहले चरण में आंध्र प्रदेश-24, अरुणाचल प्रदेश-2, असम-5, बिहार-4, छत्तीसगढ़-1, जम्मू-कश्मीर-2, महाराष्ट्र-7, मणिपुर-1, मेघालय-2, मिजोरम-1, नागालैंड-1, ओडिशा-4, सिक्किम-1, तेलंगाना-17, त्रिपुरा-1, यूपी-8, उत्तराखंड-5, पश्चिम बंगाल-2, अंडमान ऐंड निकोबार-1 और लक्षद्वीप-1 सीटों पर मतदान होगा।

दूसरे चरण में असम-5, बिहार-5, छत्तीसगढ़-3, जम्मू-कश्मीर-2, कर्नाटक-14, महाराष्ट्र-10, मणिपुर-1, ओडिशा-5, तमिलनाडु की सभी 39, त्रिपुरा-1, उत्तर प्रदेश-8, पश्चिम बंगाल-3 और पुदुचेरी की 1 सीटों के लिए 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

तीसरे चरण में असम-4, बिहार-5, छत्तीसगढ़-7, गुजरात-26, गोवा-2, जम्मू-कश्मीर-1, कर्नाटक-14, केरल-20, महाराष्ट्र-14, ओडिशा-6, यूपी-10, पश्चिम बंगाल-5, दादरा ऐंड नागर हवेली-1, दमन दीव-1 सीटों पर 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।  चौथे चरण में 29 अप्रैल को बिहार (5), जम्मू कश्मीर (1) झारखंड (1), मध्यप्रदेश (6), महाराष्ट्र (17), उड़ीसा (6), राजस्थान (13), यूपी (13), बंगाल (8) सीटों में मतदान होगा।

पांचवें फेज में 7 राज्यों की 51 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। इसके लिए 16 अप्रैल को अधिसूचना जारी होगी और 6 मई को वोट डाले जाएंगे।

वहीं, छठे फेज में 7 राज्यों की 59 सीटों पर चुनाव कराए जाएंगे। इसके लिए 12 मई को वोट डाले जाएंगे।

सातवें चरण में बिहार में 8, झारखंड में 3, मध्य प्रदेश में 8, पंजाब में 13, पश्चिम बंगाल में 9, चंडीगढ़ में 1, यूपी में 13, हिमाचल प्रदेश की 4 सीटों पर वोट डाले जाएंगे।उत्‍तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में सात चरण में होंगे चुनाव। झारखंड, मध्‍यप्रदेश, महाराष्ट्र और ओडिशा में चार चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में चुनाव कराया जाएगा। असम और छत्तीसगढ़ में तीन चरणों में चुनाव होंगे। कनार्टक, मणिपुर, तेलंगाना, त्रिपुरा, राजस्थान में दो चरणों में मतदान कराए जाएंगे।

हर मशीन में होगी VVPAT की सुविधा 
लोकससभा के दौरान इस बार सभी पोलिंग स्टेशनों पर वीवीपैट मशीनें होंगी। यही नहीं, ईवीएम की भी कई स्तरीय सुरक्षा होगी। हर उम्मीदवार को फॉर्म 26 भरना होगा। देश भऱ में कुल 10 लाख पोलिंग स्टेशनों पर मतदान कराया जाएगा। 2014 में यह संख्या 9 लाख के करीब थी। सभी मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे। पूरी चुनावी प्रक्रिया की विडियोग्रफी भी होगी।

उम्मीदवारों को देना होगा पैनकार्ड, तीन बार ही अखबारों में विज्ञापन 
चुनाव प्रचार के लिए ईको-फ्रेंडली सामग्री के इस्तेमाल की भी सलाह दी गई है। कोई भी उम्मीदवार अखबार में 3 बार ही विज्ञापन दे सकेगा। यदि कोई उम्मीदवार अपने पैन कार्ड की जानकारी नहीं देता है तो उसकी उम्मीदवारी निरस्त कर दी जाएगी। यही नहीं, उम्मीदवार चुनाव प्रचार के लिए रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। सोशल मीडिया पर खर्च की गई रकम को भी उम्मीदवारों के चुनावी खर्च में जोड़ा जाएगा। सभी उम्मीदवारों को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स की जानकारी भी देनी होगी।

बता दें कि 16वीं लोकसभा चुनाव 2014 में हुआ था। इस दौरान ‘मोदी लहर’ की बदौलत एनडीए को 336 सीटें मिली थी। इसमें अकेले भाजपा ने 282 सीटें जीती थीं। इस चुनाव में कांग्रेस के खाते में कुल 44 सीटें आई थीं। यूपीए ने कुल 60 सीटें जीती थीं। शिवसेना ने 2014 के लोकसभा चुनाव में 18 सीटें जीती थी। इसके अलावा एनसीपी के खाते में 6 सीटें गई थीं। इस बार के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में वापसी के प्रयास में जुटे हैं और कुछ विपक्षी दलों ने सत्ताधारी भाजपा को टक्कर देने के लिए गठबंधन बनाया है।

अब है 90 करोड़ मतदाताओं की बारी, जो तय करेंगे राजनीतिक दलों का भविष्य!

2019 में देश भर में 10,35,932 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे, पहली बार वोट देने वालों पर सभी दलों की नजर…

Lok sabha election 2019: अब है 90 करोड़ मतदाताओं की बारी, जो तय करेंगे राजनीतिक दलों का भविष्य!फाइल फोटो
चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों का ऐलान कर दिया है. इस चुनाव में करीब 90 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करके नई सरकार चुनेंगे, यानी 17वीं लोकसभा का स्वरूप तय करेंगे. राजनीतिक दलों का हिसाब-किताब लेंगे. यह चुनाव अपने आप में खास होगा, क्योंकि यह इस सदी का पहला आम चुनाव होगा जिसमें इसी सदी में पैदा हुए युवा मतदान कर सकेंगे. 2019 के ऐसे मतदाता वोट देने के पात्र होंगे जिनका जन्म 1 जनवरी 2000 या उसके बाद हुआ है.

 Election Commission, Lok Sabha Elections 2019, Lok Sabha poll schedule, 2019 Lok Sabha election schedule, bjp, congress, sp, bsp, rjd, narendra modi, youth voter, dates of 2019 lok sabha election, 2019 लोकसभा चुनाव की तारीख, चुनाव आयोग, लोकसभा चुनाव 2019, लोकसभा चुनाव का शेड्यूल, 2019 लोकसभा चुनाव कब-कब कहां-कहां होंगे, bjp, कांग्रेस, सपा, bsp, बीजेपी, rjd, नरेंद्र मोदी, आरजेडी, युवा मतदाता, first time voter       43.2 करोड़ महिलाएं वोट डालेंगी! (file photo)

2014 के लोकसभा चुनाव में 834,101,497 रजिस्टर्ड वोटर थे, जिनमें से 553,801,801 यानी करीब 66.4 परसेंट ने अपने मत का इस्तेमाल किया था. चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया कि 1 जनवरी 2019 तक के आंकड़े 22 फरवरी को जारी हुए थे, जिसके मुताबिक 89.7 करोड़ मतदाता हैं. इनमें से 46.5 करोड़ पुरुष और 43.2 करोड़ महिलाएं हैं. 33,109 मतदाताओं ने खुद को थर्ड जेंडर में शामिल किया है. इसी प्रकार करीब 16.6 लाख सर्विस वोटर हैं.
2014 में यह सिर्फ 13.6 लाख थे. सर्विस वोटर ऐसे मतदाता होते हैं जो सरकारी अधिकारी, सैन्य बल, सशस्त्र पुलिस बल या विदेशों में नौकरी करते हैं. वो अपना मतदान प्रॉक्सी या पोस्टल बैलेट के जरिए कर सकते हैं. आठ करोड़ से अधिक युवा पहली बार मतदान करेंगे. इन पर सभी राजनीतिक दलों की नजर है.
 Election Commission, Lok Sabha Elections 2019, Lok Sabha poll schedule, 2019 Lok Sabha election schedule, bjp, congress, sp, bsp, rjd, narendra modi, youth voter, dates of 2019 lok sabha election, 2019 लोकसभा चुनाव की तारीख, चुनाव आयोग, लोकसभा चुनाव 2019, लोकसभा चुनाव का शेड्यूल, 2019 लोकसभा चुनाव कब-कब कहां-कहां होंगे, bjp, कांग्रेस, सपा, bsp, बीजेपी, rjd, नरेंद्र मोदी, आरजेडी, युवा मतदाता, first time voter         सांकेतिक तस्वीर

चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक 2019 में देश भर में 10,35,932 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे. 2014 के लोकसभा चुनाव में 9,28,237 स्टेशन बनाए गए थे. इसी तरह 2009 के चुनाव में 8,30,866 पोलिंग स्टेशन थे. 2014 में 1339402 बैलेट यूनिट और 1029513 कंट्रोल यूनिट का इस्तेमाल किया गया था.

  इस बार लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा. पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा. इस चरण में 91 सीटों पर चुनाव होगा. दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को होगा. इस चरण में 13 राज्यों 97 सीटों पर मतदान होगा. तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल को होगा. इस चरण में 14 राज्यों के 115 सीटों पर मतदान होगा.

चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा. इस चरण में 9 राज्यों की 71 सीटों पर मतदान होगा.पांचवे चरण का चुनाव 6 मई को होगा. इस चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर मतदान होगा. छठें चरण का मतदान 12 मई को होगा. इस चरण में 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा. सातवें चरण का चुनाव 19 मई को होगा.इस चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा.

22  राज्यों में एक चरण में चुनाव होंगे जिसमें आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, उत्तराखंड,अंडमान निकोबार, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लक्षद्वीप, दिल्ली, पुड्डुचेरी और चंडीगढ़ शामिल है.

पहले चरण में आंध्र, अरुणाचल, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल, केरल, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लक्षद्वीप, दिल्ली, पुड्डुचेरी, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ में मतदान होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *