पहले भी बना चुके हैं वर्ल्ड रिकॉर्ड
गौरतलब हो कि 10 जून 2018 को गोला निवासी यतीश चंद्र शुक्ला ने गोरखपुर में 148 घंटे 14 मिनट 23 सेकेंड तक विद्यार्थियों को लगातार पढ़ाकर पहला विश्व रिकॉर्ड बनाया था। उसके बाद गोला के कृषक समाज इंटर कॉलेज में 25 से 30 सितंबर 2018 के बीच 12 घंटे 33 मिनट 44 सेकेंड तक लगातार 42 किताबों को पढ़कर दूसरा विश्व रिकॉर्ड बनाया। इसके बाद उन्होंने 100 घंटे तक लगातार भाषण देकर तीसरा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का आगाज शनिवार से कर दिया है। इनकी प्रारंभिक शिक्षा प्राथमिक विद्यालय और उच्च शिक्षा शिया पीजी कॉलेज लखनऊ से प्राप्त की है।

लखीमपुर,। लांगेस्ट स्पीच मैराथन का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में लगे यतीश चन्द्र शुक्ला नेपांचवे दिन बुधवार को एक और विश्व इतिहास रचा। जिले स्थित कृष्ण मैरेज लान आनंद सिनेमा रोड में शनिवार दोपहर ढाई बजे से शुरू कर यतीश ने सबसे लंबी स्पीच का 90 घंटे का कीर्तिमान ध्वस्त कर दिया। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र देकर वर्ल्ड चैंपियन घोषित किया गया। अब तक तीन विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं। उधर,  बधाई देने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी।

नेपाल के 90 घंटे के रिकॉर्ड को भारत के यतीश शुक्ला ने बुधवार को तोड़ दिया। यतीश सुबह 10:40 पर नेपाल के रिकॉर्ड से एक घण्टे ज्यादा का भाषण दिया। इसी के साथ उन्होंने अपना रिकॉर्ड तैयार करने की कवायद तेज कर दी है। गोला इलाके के रहरिया गांव में रहने वाले यतीश शुक्ला ने शनिवार की दोपहर से यह विश्व कीर्तिमान बनाने की कवायद शुरू की थी।yatish shukla

दुनिया में सबसे ज्यादा देर तक भाषण देने का रिकॉर्ड नेपाल के केसी अनंता के नाम था। केसी अनंता ने 90 घंटे 2 मिनट तक भाषण देकर पूरी दुनिया में अपने डंका बजाया था। नेपाल के इस रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए खीरी जिले का यतीश शुक्ला ने कोशिश शुरू की। बिना सोए, बिना थमे यतीश लगातार भाषण देते रहे। इस दौरान उन्होंने 2 घंटों का ब्रेक लिया। इस ब्रेक टाइम में ही यतीश ने अपने जरूरी काम भी निपटाए। लखीमपुर शहर में बन रहे इस रिकॉर्ड के साक्षी बनने के लिए 4 दिनों से तमाम लोग मौजूद रहे। हर कोई विश्व कीर्तिमान को अपनी आंखों के सामने बनते देखना चाह रहा था। सभी के दिलों में यह विश्व कीर्तिमान भारत के नाम लाने का सपना पल रहा था। बुधवार की सुबह 10:40 पर यतीश शुक्ला ने 91 घण्टे का भाषण पूरा कर नेपाल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के जज राकेश वैद्य ने उनको विश्व कीर्तिमान रचने का प्रमाणपत्र प्रदान किया। इसके बावजूद वह थमे नहीं। नेपाल का रिकॉर्ड तोड़ने के बाद अब भारत का अपना रिकॉर्ड तैयार करने में लग गए हैं।

कड़ाके की ठंड में भी हौसले बुलंद
बता दें, तीसरे दिन यानी सोमवार को शाम 6 बजे तक 65 घंटे पूरे करते ही शहर में युवाओं का जोश दुगुना हो गया। युवाओं ने नगर के विभिन्न मार्गों से लांगेस्ट स्पीच मैराथन के लिए जागरूकता रैली निकाली। वहीं, कड़ाके की ठंड होने के बाद भी यतीश के हौसले बुलंद दिखे। रविवार शाम 5.48 बजे जैसे ही 25 घंटे पूरे किए।सुबह 5:14 पर 12 घंटे बाद 5 मिनट का पहला ब्रेक लिया। दूसरा ब्रेक 8:30 पर 4 मिनट का तीसरा ब्रेक 11 बजे एक मिनट का लिया। इस दौरान उन्होंने एक ब्लैक कॉफी और ग्रीन टी के अलावा दाल का सूप पिया।

मंत्री ने भी सुनीं स्पीच
मंत्री अनुपमा जायसवाल भी यतीश को लगातार भाषण देते देखने के लिए आईं। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शरद वाजपेयी, शिवकांत मिश्र और नगर विधायक योगेश वर्मा ने भी आकर यतीश का उत्साहवर्धन किया।