रामदेव के साथ 1 लाख से ज्यादा ने किया योग , गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज

 कार्यक्रम में पहुंचीं सीएम वसुंधरा राजे ने रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के साथ ही मंच पर योग किया।
    • लंदन से आई गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड के आब्जर्वर की टीम
    • प्रवेश के लिए 8 गेट बनाए गए, हर व्यक्ति को बारकोड दिया गया

    नई दिल्‍ली, जेएनएन। आज अतंरराष्‍ट्रीय योग दिवस है। विश्‍व के कई देशों में योगाभ्‍यास किया जा रहा है। कंबोडिया में अंगकोर वाट से पेरिस में एफिल टॉवर तक स्विस आल्प्स से लेकर मिस्र के पिरामिड तक योग ही योग हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देहरादून में 50 हजार से ज्‍यादा लोगों के साथ योगासन किए। आइए हम आपको दिखाते हैं कि अलग-अलग देशों में कैसे योग दिवस मनाया जा रहा है।

    कोटा   योग शिविर में कोचिंग सेंटर्स और स्कूलों के एक लाख स्टूडेंट्स, सेना के जवान एवं एक लाख अन्य लोग , कोटा के साथ ही बूंदी, झालावाड़ और बारां जिलों के लोगों को भी बुलाया गया ! अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और योग गुरु रामदेव की मौजूदगी में 1 लाख से ज्यादा लोगों ने एकसाथ योगाभ्यास कर गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज कराया। Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्डतीन दिवसीय राज्य स्तरीय योग शिविर का मुख्य समारोह गुरुवार को यहां के आरएसी ग्राउंड में हुआ। कार्यक्रम में 2 लाख लोगों के जुटने का दावा किया गया। इनकी गिनती पूरी होने के बाद रिकॉर्ड का आंकड़ा बढ़ सकता है। अभी तक यह रिकॉर्ड मैसूर के नाम था। पिछले साल वहां योग दिवस पर 55 हजार 506 लोगों ने एकसाथ योग किया था।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने योग करने वाले हर 50 लोगों पर एक व्यक्ति को मूल्यांकन के लिए तैनात किया गया। उसने देखा कि लोग योग कर रहे हैं या नहीं।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड दो जज लंदन से आए। स्वतंत्र ऑडिटर भी बुलाए गए, जिन्होंने परिसर का मूल्यांकन किया। ड्रोन से वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी भी हुई।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    हर व्यक्ति को एक बार कोड दिया गया:आरसीए मैदान में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति को एक बार कोड दिया गया। इसके आधार पर उसकी एंट्री हुई। एंट्री के लिए बनाए गए 10 गेट पर करीब 100 बार कोड रीडर लगे थे।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    तीन दिन 100 रिकॉर्ड बने:योग साधकों ने कोटा में पिछले तीन दिन में अलग-अलग तरीके से रिकाॅर्ड बनाए। सोमवार और मंगलवार को 49 और बुधवार को 51 रिकाॅर्ड बनाए गए। ये सभी रिकाॅर्ड गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड में दर्ज हो चुके हैं।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    तैयारी के लिए 125 घंटों की मीटिंग: एक सप्ताह से सभी अधिकारियों का फोकस सिर्फ इसी समारोह पर था। इसके लिए 125 घंटे अफसरों ने मीटिंग ली और 20 बार मैदान का निरीक्षण किया। पतंजलि की टीम के लाेग भी अधिकारियों के लगातार संपर्क में रहे।Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    रामदेव ने की थी अपील- लोग वक्त पर पहुंचें:रामदेव ने लोगों से कहा था कि आज गिनीज बुक रिकॉर्ड बनेगा, जहां एक ही जगह पर दो लाख से ज्यादा लोग योग करेंगे। इसलिए ध्यान रहे कि सबको टाइम पर आना पड़ेगा और अनुशासित तरीके से योग करना पड़ेगा, नहीं तो यह रिकॉर्ड नहीं बन पाएगा। Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्डउन्होंने कहा कि कुछ लोग मेरी बुराई भी करते हैं, लेकिन पीछे से यह भी कहते हैं कि बाबा सही कर रहे हैं। उनके मुताबिक, हमें 60 मिनट याेग करने से 18 घंटे तक काम करने की ताकत मिलती है ।                                    Image result for कोटा योग गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड

    योग शिविर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ ही सांसद दुष्यंत सिंह, सांसद ओम बिड़ला, कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, परिवहन मंत्री यूनुस खान, खाघ राज्यमंत्री बाबूलाल वर्मा, विधायक भवानी सिंह राजावत, संदीप वर्मा, प्रहलाद गुंजल, हीरालाल और चन्द्रकांता मेघवाल सहित प्रशासनिक अधिकारी शामिल हुए ।

    बाबा रामदेव ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कोटा देश की कोचिंग नगरी के तौर पर पूरे देश में प्रसिद्ध है। कोटा में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक के स्टूडेंट्स विभिन्न प्रवेश एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए आते है। पिछले कुछ समय से देखने में आया है कि यहां के स्टूडेंट्स में तनाव बढ़ रहा है। स्टूडेंट्स आत्महत्याएं कर रहे है।

    उन्होंने कहा कि स्टूडेंट्स में तनाव कम करने और भविष्य सुधारने के लिहाज से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आग्रह पर ही मै यहां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आया हूं। बाबा रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री स्टूडेंट्स का भविष्य संवारना चाहते है।

    राज्य सरकार ने जिला मुख्यालयों पर बृहस्पतिवार को योग शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। इन योग शिवरों में जिलों के प्रभारी मंत्री, विधायक और अधिकारी शामिल होंगे।

    बाबा रामदेव बोले, राहुल गांधी से मेरी कोई दुश्मनी नहीं

    अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर कोटा के आरएसी मैदान में बाबा रामदेव की मौजूदगी में होने वाले योग शिविर का कांग्रेस ने विरोध की घोषणा की तो बाबा रामदेव ने बुधवार को फिर कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मेरी कोई दुश्मनी नहीं है। रामदेव ने कहा कि मै तो साधु हूं, उन्होंने कांग्रेसजनों से योग शिविर में शामिल होने की अपील की। वे मंगलवार को भी इस तरह का बयान दे चुके है।

    मिस्र के पिरामिड से पेरिस में एफिल टॉवर तक योग ही योग

    International Yoga Day: मिस्र के पिरामिड से पेरिस में एफिल टॉवर तक योग ही योग
    आज अतंरराष्‍ट्रीय योग दिवस है। विश्‍व के कई देशों में योगाभ्‍यास किया जा रहा है। कंबोडिया में अंगकोर वाट से पेरिस में एफिल टॉवर तक स्विस आल्प्स से लेकर मिस्र के पिरामिड तक योग ही योग हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देहरादून में 50 हजार से ज्‍यादा लोगों के साथ योगासन किए। आइए हम आपको दिखाते हैं कि अलग-अलग देशों में कैसे योग दिवस मनाया जा रहा है।

    पेरिस में एफिल टॉवर के सामने योगासन करते लोग।

    मिस्र में पिरामिड के सामने योग करते कुछ लोग।

    चौथे अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योगाभ्यास करते उज़्बेकिस्तानी।

    चीन की राजधानी बीजिंग में भी योग के प्रति लोग का क्रेज देखने को मिला। यहां काफी संख्‍या में लोग योगाभ्‍यास करते नजर आए।

    योग दिवस के अवसर पर मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में योगाभ्यास करते केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर।

    लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योग

  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगचौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पूरी दुनिया में अलग अलग जगहों पर लोग योग करते नजर आए. इस दौरान देश के जवानों ने भी योग किया. ITBP के जवानों ने योग दिवस पर जम्मू कश्मीर के लद्दाख में 19000 फीट की ऊंचाई पर योग किया. यहां का तापमान – 40 तक पहुंच जाता है.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगरोहतांग दर्रे के पास लगभग 13200 फीट की ऊंचाई पर आईटीबीपी के जवानों ने योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगहिम् मरुस्थल समझे जाने वाले लद्दाख में चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आईटीबीपी जवानों ने सूर्य नमस्कार किया.

    अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर ITBP के जांबाज जवानों ने भारत चीन सरहद पर भी योग किया.

    लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योग

  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगदिल्ली में राजपथ पर भी CISF के जवानों ने योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगदिल्ली में राजपथ पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में CISF के जवानों ने योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगअहमदाबाद के एक स्कूल में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मुस्लिम महिलाओं ने भी योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगयोग दिवस पर जहां जवानों पहाड़, पानी और हवा में योग किया वहीं, लोगों ने भी योग करने के लिए अलग अलग तरीके अपनाए. कुछ लोगों ने नाव पर खड़े होकर योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगअंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हर वर्ग और उम्र के लोगों ने योग किया

    चेन्नई में कॉलेज छात्रा ने अपने चेहरे पर बनवाई योगा की पेंटिंग.

    लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योग

  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योग
    राजपथ पर दिल्ली के गवर्नर अनिल बैजल ने भी जवानों और लोगों के साथ योग किया.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगदेश के गांवों में भी महिलाओं ने योग किया. स्कूलों में योग दिवस पर कार्यक्रम हुए.
  • लद्दाख में 19 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों ने किया योगबेंगलुरु में महिलाओं ने इस अनोखे तरीके से योग किया.
  • क्या है योग दिवस का इतिहास?
    गौरतलब है कि यह पीएम मोदी का ही प्रयास था जिस कारण 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाने लगा। पीएम मोदी ने 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान देने की बात रखी। इसके बाद 11 दिसंबर 2014 को यूएन में 177 सदस्य देशों ने 21 जून को इस दिवस के रूप में अपनी सहमति जता दी। मोदी के इस प्रस्ताव को महज 90 दिनों के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो यूएन में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय का रिकॉर्ड है। आपको बता दें कि ये चौथा योग दिवस है। इससे पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग-अलग शहरों में जाकर योग दिवस मनाया था। पीएम मोदी ने पहला योग दिवस दिल्ली में, दूसरा योग दिवस चंडीगढ़ में, तीसरा योग दिवस लखनऊ में मनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *