देहरादून,: केंद्रीय कानून एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को सपत्नीक भगवान बदरी विशाल और बाबा केदार के दर्शन किए। उन्होंने विभिन्न पूजाओं में भी भाग लिया। इस दौरान श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह ने केंद्रीय मंत्री के समक्ष बदरीनाथ मंदिर परिसर के विस्तारीकरण की योजना भी रखी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस मामले में वह मुख्यंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से वार्ता करेंगे। उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से भी इस मामले में उचित मदद का भरोसा दिलाया।

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पत्नी डॉ. माया शंकर के साथ सुबह केदारनाथ से सीधे बदरीनाथ धाम पहुंचे। दोनों ने मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद वेदपाठ पूजा में भी भाग लिया। दर्शनों से लौटते हुए सिंहद्वार के बाहर पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि धाम में संचार व्यवस्था बेहतर बनाने के लिए वह दूरसंचार मंत्रालय से संपर्क करेंगे।

कहा कि ढाई वर्ष पूर्व जब दूरसंचार मंत्रालय उनके पास था, तब संचार व्यवस्था को ढर्रे पर लाने की कोशिश की गई थी। इस मौके पर डीएम आशीष जोशी, एसडीएम योगेंद्र सिंह, विनोद नवनी आदि मौजूद थे। इससे पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबह 7.35 बजे केदारनाथ पहुंचे और लगभग आधा घंटे तक मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस मौके पर उन्होंने डीएम मंगेश घिल्डियाल से धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों की जानकारी ली। डीएम ने उन्हें अवगत कराया कि पूरी केदारपुरी वाई-फाई से जुड़ गई है। इस पर केंद्रीय मंत्री ने इस व्यवस्था को बनाए रखने को कहा। उन्होंने डीएम से केदारनाथ में कॉमन सर्विस सेंटर स्थापित करने के लिए भी कहा।

पीएम के समक्ष रखेंगे केदारपुरी को सड़क से जोड़ने की मांग

केदारनाथ में केंद्रीय मंत्री ने तीर्थ पुरोहितों व स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की। तीर्थ पुरोहितों ने उनके समक्ष केदानाथ धाम को सड़क मार्ग से जोड़ने, आपदा पीड़ि‍त पुरोहितों को मुआवजा देने और धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों को पहाड़ी शिल्प के अनुरूप कराए जाने की मांग रखी। केंद्रीय मंत्री ने भरोसा दिलाया कि तीर्थ पुरोहितों की मांगों को वह प्रधानमंत्री के समक्ष रखेंगे। इस मौके पर तीर्थ पुरोहित श्रीनिवास पोस्ती, व्यापार संघ केदारनाथ के अध्यक्ष महेश बगवाड़ी, विनोद शुक्ला आदि मौजूद थे।