यूं उतारें भांग का नशा

भांग का नशा उतारने के आयुर्वेदिक प्रहोली के अवसर पर भांग पीना कल्चर का हिस्सा माना जाता है कहा जाता है कि होली के मौके पर अगर भांग का सेवन का किया जाए तो होली का रंग नहीं जमता। लेकिन परेशानी तब होती है जब भांग का नशा सिर पर चढ़ के बोलने लगता है। कुछ सूझ नही पड़ता। बहुत से लोग पकवानों, गुझिया, ठंडई जैसे पकवानों में भांग मिलाकर सबको खिलाते है और भांग का नशा काफी परवान चढ़ता है पर अगर भांग का नशा ज्यादा हो जाए तो स्थिति अस्पताल में भर्ती होने जैसी भी हो सकती है।भांग खाने से शरीर का नर्वस सिस्टम कंट्रोल नहीं रहता है, इसलिए लोग अपनी किसी भी गतिविधि को नियंत्रित नहीं कर पाते हैं। ऐसे में बहुत अधिक हंसना, रोना, सोना आदि लक्षण होते हैंज्यादा भांग का सेवन करने से व्यक्ति कुछ वक्त के लिए व्यक्ति पहचानने अथवा कोई बात याद रखने की स्थिति में न रह जाता।

आयुर्वेद में भांग और शराब का नशा उतारने के कई तरीके बताएं गए हैं उन्ही में से कुछ हम अपने रीडर्स के लिए यहाँ लिख रहे हैं –

 खट्टी चीज़े किसी भी प्रकार के नशे को उतरने में कारगर होती हैं अगर किसी को भांग या शराब बहुत ज्यादा चढ़ गई हो तो उसे नींबू, छाछ, खट्टा दही, कैरी (कच्चा आम) की छाछ या इमली का पानी बनाकर पिलाने से नशा कुछ ही मिनटों में उत्तर जाता है।

 अगर खट्टे फल उपलब्ध हैं तो इन फलों जैसे  संतरा, अंगूर, नींबू आदि में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स नशे देने वाले केमिकल्स को बेअसर करने की क्षमता रखते हैं। इन फलों को खाने के एक घंटे के अंदर ही शरीर का सारा नशा उतर जाता है। साथ में शरीर को खोई हुई एनर्जी भी मिल जाती है।

 भुने हुए चने और संतरे का सेवन, भांग का नशा कम करने का एक बढ़िया विकल्प है।

 नारियल पानी एक अच्छा विकल्प है नारियल पानी पीने से भी नशा तो कम होता ही है साथ ही इसमें मौजूद मिनरल्स तथा इलेक्ट्रोलेट्स बॉडी को रिहाइड्रेट कर देते हैं जिससे नशे के कारण शरीर में पैदा हुई ड्राईनेस खत्म होती है और नशा उतर जाता है।

 बगैर शक्कर या नमक डला हुआ नींबू पानी 4 से 5 बार पिलाने पर भांग का नशा उतर जाएगा।

 बहुत ज्यादा भांग पीने के कारण आदमी बेहोशी की हालत में हो तो सरसों का तेल हल्का गुनगुना करके उस व्यक्ति के दोनों कानों में एक-दो बूंद डाल देने से बेहोशी टूट जाती है।

 भांग का नशा उतारने के लिए शुद्ध देसी घी का भी प्रयोग किया जा सकता है।500 मिलीलीटर तक की मात्रा तक घी का सेवन करवाएं।टकी भर अदरक खिला देने से भी अच्छे से अच्छे नशा तुरंत उतर जाएगा।

 चिकित्सक से सलाह लेकर आप इन आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन कर सकते हैं। इनमें पंचद्रव्यघृत, पंचत्रिकघृत, ब्राह्मी सिपर और क प्रयोग..के अलावा ..भांग का भयंकर से भयंकर नशा उतारने का एक राम बाण नुश्खा है भीगी अरहर की दाल का पानी ,जो शरीर की खुश्की को शांत करता है | बाकी मरीज को सुला देना चाहिये | मीठा नहीं देना चाहिये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *