मोदी के खिलाफ कन्हैया पर आपत्तिजनक टिप्पणी का आरोप, अदालत में शिकायत दर्ज

Case Filed Against Kanhaiya Kumar For Alleged Remarks Against PM Modi

नई दिल्ली:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के खिलाफ बुधवार को बिहार के किशनगंज की एक अदालत में शिकायत दर्ज की गई. कन्हैया कुमार के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अल्पसंख्यक सेल के उपाध्यक्ष टीटू बडवाल द्वारा मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में याचिका दायर की गई.

टीटू बडवाल ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि कन्हैया कुमार ने सोमवार को किशनगंज के अंजुमन इस्लामिया हॉल में “भड़काऊ” टिप्पणियां की थीं. मामला अदालत की रजिस्ट्री में दायर किया गया है और इसपर नियत समय में सुनवाई किया जाएगा.बता दें कि कन्हैया कुमार ने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) के टिकट पर बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनावी अभियान की शुरुआत करते हुए पार्टी द्वारा आयोजित एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे.पूर्व में कन्हैया कुमार एआईएसए से जुड़े थे. कन्हैया कुमार तीन साल पहले उस वक्त खबरों में आए थे जब जेएनयू कैंपस के अंदर कथित भारत विरोधी नारे लगाने के संबंधित मामले में उनको गिरफ्तार किया गया था.

भाकपा के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक कन्हैया का बेगूसराय सीट से चुनाव लड़ना लगभग तय है। उम्मीद है कि राज्य कार्यकारिणी मार्च के पहले सप्ताह में होने वाली बैठक में उनके नाम को अनुमोदन कर देगी। इन सूत्रों का दावा है कि भाकपा का महागठबंधन से सीटों के तालमेल की वार्ता जारी है। लेकिन इतना तय है कि सीट शेयरिंग का मसला सुलझे या नहीं सुलझे, बेगूसराय से कन्हैया हर हाल में चुनाव लड़ेंगे। बेगूसराय के अलावा पार्टी तीन अन्य सीटों मोतिहारी, खगड़िया और मधुबनी पर दावा कर रही है। भाकपा नेता डी राजा इन सीटों पर अपना दावा लालू प्रसाद से मिलकर जता चुके हैं। इन तीन सीटों पर फिलहाल महागठबंधन में अनिर्णय की स्थिति है।

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया (Kanhaiya Kumar) को बेगूसराय से महागठबंधन का उम्मीदवार बनाने को लेकर ऊहापोह की स्थिति है। सूत्रों के मुताबिक राजद का मानना है कि वह बेगूसराय की सीट पर ज्यादा मजबूत है, इसलिए यह सीट किसी और को देने का सवाल ही नहीं उठता। इस आधार पर राजद कन्हैया के लिए बेगूसराय छोड़ने के मूड में नहीं है।

चर्चा तो यह भी है कि राजद किसी भी सीट से कन्हैया को उम्मीदवार बनाने के पक्ष में नहीं है। समाचार चैनलों पर चल रही खबरों में यह भी कहा गया कि राजद बिहार में बीएसपी के साथ गठबंधन कर सकता है। बीएसपी का एक कैंडिडेट बिहार में महागठबंधन से चुनाव लड़ सकता है। राजनीतिक गलियारों में चल रही खबरों के अनुसार तेजस्वी के साथ मुलाकात में मायावती इस बात का जिक्र भी कर चुकी हैं।

राजद पहले से ही कई पार्टियों के साथ गठबंधन में है और चुनाव से पहले कई और पार्टियों के साथ आने की चर्चा चल रही है। लेकिन बीएसपी को गठबंधन में शामिल करना तेजस्वी के लिए आसान नहीं होगा। गौरतलब है कि लगातार ऐसी खबरें आती रही हैं कि कन्हैया बेगूसराय से महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं। यह दीगर है कि कन्हैया कुमार कह चुके हैं कि इसका फैसला उनकी पार्टी करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *