‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन में 500 स्थानों पर चर्चा करेंगे मोदी, माया-अखिलेश ने किया वार

रविशंकर प्रसाद ने बताया कि आज हम देश के लोगों का अभिनंदन करना चाहते हैं कि महज कुछ दिनों में ही इस आंदोलन के साथ करोड़ों लोग जुड़े हैं। बीजेपी लीडर ने कहा कि यह एक बड़ा जनांदोलन बन गया है। इसमें डॉक्टर, प्रफेशनल, किसान और स्वच्छता कर्मचारी समेत सभी जुड़े हैं।
हाइलाइट्स

  • मायावती ने कहा शाही जीवन जीने वाले पहले चायवाला बना था और अब चौकीदार
  • अखिलेश यादव ने भी तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘विकास पूछ रहा है कि खाद की बोरी से चोरी रोकने के लिए भी कोई चौकीदार है क्या?
  • मोदी देश की 500 लोकेशंस पर 31 मार्च को’मैं भी चौकीदार’ आंदोलन का समर्थन करने वाले लोगों के साथ चर्चा करेंगे

Akhilesh Yadav
 ✔@yadavakhilesh

‘विकास’ पूछ रहा है… उत्तर प्रदेश के ठोकीदार से त्रस्त जनता के लिए राहत का कोई उपाय है क्या? प्रदेश की जनता को भाजपा सरकार के दो साल संकट के सौ साल लग रहे हैं. #VikasPoochhRahaHai#UttarPradeshKaThokidaar#MahaParivartan

इस बीच बीजेपी ने ‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन को चुनावी थीम बनाने का ही फैसला ले लिया है। मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि नरेंद्र मोदी देश की 500 लोकेशंस पर 31 मार्च को विडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ‘मैं भी चौकीदार’ आंदोलन का समर्थन करने वाले लोगों के साथ चर्चा करेंगे।

View image on Twitter

Akhilesh Yadav
@yadavakhilesh

‘विकास’ पूछ रहा है…खाद की बोरी से चोरी रोकने के लिए भी कोई चौकीदार है क्या?#VikasPoochhRahaHai

बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि आज हम देश के लोगों का अभिनंदन करना चाहते हैं कि महज कुछ दिनों में ही इस आंदोलन के साथ करोड़ों लोग जुड़े हैं। बीजेपी लीडर ने कहा कि यह एक बड़ा जनांदोलन बन गया है। इसमें डॉक्टर, प्रफेशनल किसान और स्वच्छता कर्मचारी समेत सभी जुड़े हैं। कुछ लोगों को इससे परेशानी है, आप मोदी जी से नफरत करते हैं, लेकिन आप भी चौकीदार बन जाते तो क्या दिक्कत थी।
रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर अटैक करते हुए कहा, ‘जो बेल पर हैं, उन्हें ‘मैं भी चौकीदार हूं’ कैंपेन से परेशानी है। जिनका परिवार और संपत्ति कठिनाई में हैं, उनकी परेशानी में है। जो खुद परिवार सहित कानूनी कार्रवाई झेल रहे, जिन पर छिपाने के लिए कुछ है, उन्हें परेशानी है।’
प्रसाद ने कहा कि वह कह रहे हैं कि चौकीदार अमीरों के लिए होता है, गरीबों के लिए नहीं। जब सत्ता में थे तो जनता का 12 लाख करोड़ रुपये लूटा। क्या बताने की जरूरत है कि किसे चौकीदार की जरूरत है और किसे नहीं।

इसलिए शुरू हुआ ‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘मैं भी चौकीदार’ भले ही आज कैंपेन के तौर पर चल रहा है, लेकिन यह बात पीएम मोदी ने 2014 में ही कही थी। प्रसाद ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी को यह क्यों शुरू करना पड़ा। याद करिए 2014 में जब चुनाव हो रहा था, तब देश की क्या स्थिति थी। इकॉनमी के मोर्चे पर भारत की हालत खराब थी। करप्शन फ्री नीति की जरूरत थी, छवि खराब थी। टूजी, कोलगेट और सबमरीन घोटालों के चलते नरेंद्र मोदी ने उस दौरान प्रचार में कहा था कि मैं भारत का प्रधानसेवक बनूंगा और चौकीदार बनूंगा।’

‘मैं भी चौकीदार’ में हुए 20 लाख ट्वीट

रविशंकार प्रसाद ने कहा कि यह कैंपेन एक दिन ग्लोबल ट्रेंड था। इसे 20 लाख लोगों ने ट्वीट किया। इसका इंप्रेशन 1680 करोड़ था। 1 करोड़ लोगों ने सोशल मीडिया और नमो ऐप पर चौकीदार होने की शपथ ली है। सभी प्लैटफॉर्म्स पर इस विडियो को एक करोड़ लोगों ने देखा।

राहुल से सवाल पूछा तो जेल भेज दिया
बेंगलुरु में टेक कंपनियों से जुड़े लोगों को सवाल पूछने पर अरेस्ट किए जाने को लेकर रविशंकर प्रसाद ने सीधे राहुल गांधी पर वार किया। उन्होंने कहा, ‘बेंगलुरु में कुछ लोगों को सवाल पूछने पर अरेस्ट कर लिया गया। दो साल पहले टुकड़े गैंग के साथ खड़े थे, लेकिन दूसरी तरफ आईटी प्रफेशनल उनका विरोध करते हैं तो उनको बंद किया जाता है। हमसे सवाल वह और उनकी बहन पूछते हैं कि बोलने की आजादी छिनी जा रही है।’ हमें नहीं बल्कि राहुल गांधी को बहुत कुछ सीखने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *