मिलावटी हल्दी से सावधान,जानलेवा भी हो सकती है ‘मसालों की रानी’ 

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीबायोटिक, एंटीफंगल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं.

मिलावट वाली हल्दी से रहें सावधान, 'मसालों की रानी' जानलेवा भी हो सकती है
आजकल हल्दी में लेड क्रोमेट मिलाकर बेची जा रही है जो स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है. (फाइल)

गौतम बुद्ध नगर के फूड एंट ड्रग सेफ्टी विभाग ने पिछले साल नवंबर में दीवाली के वक्त कई जगहों से सैम्पल जांच के लिये फोरेंसिक लैब में भेजे थे. जांच के नतीजे आये तो पता चला की ग्रेटर नोएडा की मसालों की एक फैक्ट्री में बनने वाली हल्दी में लैड क्रोमेट की मिलावट की गयी है. लैड क्रोमेट दरअसल पीले या नारंगी रंग का एक केमिकल कंपाउंड होता है, हल्दी में रंग और चमक बढ़ाने के लिये इसका इस्तेमाल किया जाता है लेकिन सेहत के लिये ये बहुत ही खतरनाक होता है. लंबे समय तक अगर ये केमिकल शरीर में जाता है तो इससे त्वचा और दिल की बीमारी के साथ साथ कैंसर तक का भी खतरा रहता है.

मिलावट पाये जाने के बाद गौतम बुद्ध नगर के फूड एंड ड्रग सेफ्टी विभाग ने प्रदेश सरकार को इस कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की प्रक्रिया शुरु करने के लिये भी लिखा है. इस मामले में फूड सेफ्टी एक्ट 2006 (punishment for unsafe food) के सेक्शन 59 के तहत 1 साल तक की जेल और एक लाख तक का जुर्माना या फिर दोनों हो सकते हैं. हल्दी जैसे मसाले में मिलावट की बात सुनकर आमलोग भी परेशान हैं.

दरअसल हल्दी मसाले के साथ साथ एक बहुत ही अच्छी जड़ी बूटी भी है. इसे “मसालों की रानी” के नाम से भी जाना जाता है. भारतीय व्यंजनों में हल्दी सबसे महत्वपूर्ण मसालों में से एक है. भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में लोग हल्दी की इस्तमाल करते हैं. हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीबायोटिक, एंटीफंगल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं.

इतना ही नहीं हल्‍दी कैंसर के इलाज में भी कारगर है. विशेषज्ञों के मुताबिक हल्दी में पाया जाने वाला करकुमिन कैंसर के इलाज में बेहद मददगार है. हल्दी कैंसर के जीवाणुओं के संक्रमण को कम करने में मदद करती है. हल्दी की जड़ों में पाया जाने वाला करक्यूमिन न सिर्फ खाने को स्‍वाद बनाता है, बल्कि साथ ही दोबारा कैंसर होने के खतरे को भी कम करता है. हल्दी में पायी गयी इस मिलावट से सचेत होते हुये गौतम बुद्ध नगर के फूड एंड ड्रग सेफ्टी विभाग ने होली से पहले दूसरी फैक्ट्रियों, जनरल स्टोर्स और मिठाई की दुकानों में सैंपल्स की चेकिंग शुरु कर दी है.

हैरान कर देने वाले हैं हल्दी के फायदे

हल्दी का प्रयोग आमतौर पर खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है. कई बार हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है. 

हल्दी का प्रयोग आमतौर पर खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है. कई बार हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है.

हल्दी का प्रयोग आमतौर पर खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है. कई बार हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है. आमतौर पर हल्दी का सेवन दूध में मिलाकर ही किया जाता है. हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं, वहीं दूध में मौजूद कैल्शियम हल्दी के साथ मिलकर शरीर को फायदा पहुंचाता है. इस लेख के जरिए के माध्यम से आगे की स्लाइड में हम आपको बताएंगे हल्दी का सेवन करने से होने वाले फायदों के बारे में.

benefits of turmeric in hindi

हल्दी का सेवन शरीर को सुडौल बनाता है. प्रतिदिन एक गिलास दूध में सुबह के समय आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से शरीर सुडौल हो जाता है. गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होने लगता है. इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व वजन कम करने में भी मददगार होते हैं.

benefits of turmeric in hindi

आयुर्वेद में हल्दी को रक्त शोधन में महत्वपूर्ण बताया गया है. हल्दी के सेवन से रक्त शोधित होता रहता है. इसे खाने से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और इससे ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है. पतला होने के बाद रक्त का धमनियों में प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे व्यक्ति को हृदय संबंधी परेशानियां नहीं होती.

benefits of turmeric in hindi

हल्दी को चूने में मिलाकर गुम चोट में लगाने से यह दर्द को खींच देती है. इसके अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीने से कान दर्द जैसी कई समस्याओं में आराम मिलता है. इससे शरीर का रक्त संचार बढ़ जाता है जिससे दर्द में तेजी से राहत मिलती है.

benefits of turmeric in hindi

हल्दी में किसी चोट के घाव को तेजी से भरने का भी गुण होता है. यदि आपके चोट लगने पर तेजी से खून बह रहा है तो आप उस जगह तुरंत हल्दी डाल दें. इससे आपकी चोट का खून बहना कम हो जाएगा. हो सके तो डॉक्टर के यहां पहुंचने से पहले इस पट्टी को न खोलें.

benefits of turmeric in hindi

सर्दी, जुकाम या कफ की समस्या होने पर हल्दी मिले दूध का सेवन लाभकारी साबित होता है. इससे सर्दी, जुकाम तो ठीक होता ही है, साथ ही गर्म दूध के सेवन से फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी निकल जाता है. सर्दी के मौसम में इसका सेवन आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है.

benefits of turmeric in hindi

दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं. दूध में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजूती देता है और हल्दी के गुणों के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है. जिससे हड्डी संबंधित तमाम समस्याओं से छुटकारा मिलता है. साथ ही ऑस्टियोपोरोसिस में भी कमी आती है.

यदि आपको भी रात में नींद नहीं आने की समस्या है और आप रात भर विचारों में खोए रहते हैं तो हल्दी वाला दूध आपके लिए अच्छी नींद में सहायक हो सकता है. रात का भोजन करने के बाद सोने से आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीएं फिर देखिए आपको रात में कैसी नींद आती है.

benefits of turmeric in hindi

खून में ब्लड शुगर की मात्रा ज्यादा होने पर मधुमेह रोग हो जाता है. खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है. दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है. लेकिन या द रहे हल्दी का ज्यादा सेवन ब्लड शुगर की निर्धारित मात्रा को भी कम कर सकता हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *