मानवाधिकार राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रति. जीती कुमायूँ पुलिस परिक्षेत्र व उनि नापु तनुजा शर्मा, हरिद्वार ने

देहरादून:राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग, नई दिल्ली के दिशा-निर्देशों के अनुपालन में पुलिस कर्मियों में मानवाधिकार के प्रति जागरुकता लाने तथा मानवाधिकारों के प्रचार प्रसार हेतु मानवाधिकार विषय पर 13वीं राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता  (Debate Competition) का आयोजन आज 12-06-2018 को पुलिस लाइन देहरादून में किया गया।

राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु चयनित विषयमानवाधिकार बाधा नहीं यह एक मार्गदर्शी सिद्धांत है ।” थाः-इससे पूर्व प्रदेश के सभी जनपद एवं रेंज स्तर पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का प्रथम एवं द्वितीय चरण आयोजित किया गया था। दोनों रेंज से कुल 12 प्रतिभागियो को राज्य स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता हेतु चयन किया गया।

प्रतियोगिता का संचालन श्रीमती जया बलूनी, क्षेत्राधिकारी डालनवाला, देहरादून ने किया । प्रतियोगिता की निर्णायक समिति में आर0के0 भाटिया, सेवानिवृत पुलिस महानिदेशक, आई0टी0बी0पी0, सुनील कुमार गुप्ता (एच0जे0एस0, से0नि0)निबंधक (विधि), उत्तराखण्ड मानवाधिकार आयोग,  दीपम सेठ पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था,  उत्तराखण्ड मौजूद रहे।

विषय पर पक्ष एवं विपक्ष में बोलने वाले प्रतिभागियों ने अपने-अपने विचार रखे। जहां पक्ष में बोलने वालों ने मानवाधिकार को वर्तमान परिवेश की आवश्यकता बताते हुये इसे मार्गदर्शी सिद्धांत बताया, वहीं विपक्ष के वक्ताओं ने मानवाधिकार को बाधा बताते हुये दिशा-निर्देशों में संशोधन एवं पुर्नविश्लेषण की मांग की।

 प्रतियोगिता की समाप्ति के पश्चात निर्णायक समिति के सदस्यों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त करते हुए प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। निर्णायक मण्डल ने प्रतिभागियों के प्रस्तुत विषयवस्तु, प्रस्तुतिकरण तथा वाकपटुता की भूरी-भूरी प्रशंसा की  । साथ ही वर्तमान परिवेश में मानवाधिकारों की महत्ता तथा पुलिस द्वारा उनके संरक्षण की आवश्यकता की बात कही गयी।

निम्नलिखित प्रतिभागियों ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किये –

1-     उपनिरीक्षक नागरिक पुलिस तनुजा शर्माहरिद्वार                         प्रथम

2–     कांस्टेबल 2616 शुभम जोशी46वीं वाहिनी      –               द्वितीय

3–     पीसी अनिता राणा31वीं वाहिनी पीएसी   –               तृतीय 

        प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः 3000/-, 2000/- एवं 1000/- रुपये का नकद पारितोषिक, प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं प्रतियोगिता में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली कुमायूँ परिक्षेत्र की टीम को चल बैजयन्ती  (Running Trophy)  निर्णायक समिति के सदस्यों ने प्रतियोगिता स्थल पर ही प्रदान किये ।

प्रतियोगिता के सफल संचालन हेतु श्री अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड ने श्रीमती प्रीति प्रियदर्शनी, पुलिस अधीक्षक, मानवाधिकार, श्री चक्रधर अन्थवाल, पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस मुख्यालय तथा एस0सी0 बलूनी, प्रतिसार निरीक्षक, पुलिस लाईन देहरादून, को बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *