मंदिर में तोड़फोड़ मामला: दिल्ली पुलिस कमिश्नर तलब,फटकार

चावड़ी बाजार घटना पर गृह मंत्री अमित शाह नाराज हैं। इस घटना पर ऐक्शन लेते हुए उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को तलब किया। बता दें कि कुछ दिन पहले एक धर्मस्थल में तोड़फोड़ मामले में अबतक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
हाइलाइट्स
दिल्ली के चावड़ी बाजार के हौज काजी में मंदिर में तोड़फोड़ मामले पर ऐक्शन में गृह मंत्री अमित शाह
शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को तलब कर लगाई फटकार
रविवार को हुई घटना के बाद क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव फैल गया था
पुलिस ने अभी तक इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है, प्रभावित इलाके में आज खुली हैं दुकानें

नई दिल्ली :दिल्ली के हौज काजी इलाके में सांप्रदायिक तनाव और मंदिर में तोड़फोड़ की घटना पर गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को तलब किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना से नाखुश शाह ने दिल्ली पुलिस चीफ को फटकार लगाई। बताया जा रहा है कि शाह इस मामले में दिल्ली पुलिस की अबतक की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। शाह से मुलाकात के बाद पुलिस कमिश्नर पटनायक ने बताया कि उन्होंने गृह मंत्री को ताजा हालात के बारे में जानकारी दी। बता दें कि हौज काजी इलाके में हालात अब सामान्य हैं। मंदिर में तोड़फोड़ में शामिल रहे चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि दिल्ली के हौज काजी इलाके में रविवार को पार्किंग के विवाद ने सांप्रदायिक रंग ले लिया था। इस दौरान एक मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी।
पुलिस और स्थानीय लोगों की पहल से कम हो रहा तनाव
चावड़ी बाजार इलाके में स्थिति अब सामान्य है। लाल कुआं इलाके में आम लोगों, स्थानीय नेताओं और कारोबारियों के आपसी सौहार्द और पुलिस की भारी बंदोबस्ती के बीच बुधवार को बाजार खुला। पुलिस के आश्वासन के बाद कारोबारियों ने सुबह अपनी दुकानों को खोलना शुरू किया। मिली जानकारी के मुताबिक, आज सुबह वहां धार्मिक सौहार्द का एक उदाहरण देखने को मिला। दोनों समुदायों के लोगों ने क्षतिग्रस्त धार्मिक स्थल पर मिल-जुलकर प्रार्थना की।
कांग्रेस नेता ने गृह मंत्री शाह पर उठाए थे सवाल
इस बीच हौज काजी इलाके की घटना पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने गृह मंत्री अमित शाह पर सवाल उठाया था। सिंघवी ने ट्वीट किया था, ‘मंदिर की घटना के 2 दिन बाद भी गृहमंत्री की तरफ से कोई ऐक्शन नहीं। दिल्ली पुलिस बीजेपी शासित केंद्र सरकार के अधीन है। हमें पता है कि सत्ताधारी पार्टी अल्पसंख्यकों की फिक्र नहीं करती, लेकिन वे बहुसंख्यकों की भावनाओं की भी कद्र नहीं करते?’
Abhishek Singhvi

@DrAMSinghvi
Day 2 of the temple incident and no action yet by Home Minister, Delhi Police under the BJP rules Centre. We know the ruling party doesn’t care about minorities but does it also not care for the sentiments of majority?
1,890
9:29 AM – Jul 3, 2019
Twitter Ads info and privacy
1,108 people are talking about this
स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुआ विवाद
बता दें कि 30 जून को दिल्ली के हौज काजी इलाके में स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुए झगड़े के साम्प्रदायिक रंग लेने के बाद एक मंदिर में तोड़फोड़ के मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शांति का प्रयास करते हुए संबंधित दोनों समुदायों के लोगों के बीच बैठक कराई। पुलिस उपायुक्त (मध्य) मंदीप सिंह रंधावा ने मंगलवार को कहा था, ‘दोनों समुदायों की बैठक में फैसला किया गया कि गुनहगारों को सजा मिलनी चाहिए। हर कोई शांति से रहेगा और बुधवार से बाजार खुलेगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *