बरेली, । भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी से चार जुलाई को प्रयागराज के मंदिर में विवाह करने वाले अजितेश कुमार अब बैकफुट पर हैं। सोशल मीडिया पर विधायक से अपनी तथा पत्नी साक्षी मिश्रा की जान का खतरा बताकर वीडियो वायरल करने वाले अजितेश कुमार ने फेसबुक पर अपना अकाउंट डिलीट कर दिया है।

अजितेश कुमार के फेसबुक पर उनके कृत्य को लेकर तमाम तरह के कमेंट आ रहे थे। हथियारों के शौकीन अजितेश कुमार ने फेसबुक पर तमाम हथियारों के साथ अपने फोटो डाले थे। हथियारों के शौक के मामले का खुलासा होने के बाद अजितेश ने कल अपना फेसबुक एकाउंट डिलीट कर दिया। साक्षी से शादी करने से पहले अजितेश ने फेसबुक पेज पर हथियारों के साथ कुछ फोटो पोस्ट की थी। वहीं फेसबुक से खुल रही पोल के कारण अजितेश ने फेसबुक एकाउंट डिलीट कर दिया।

फिलहाल हथियारोंं का शौकिन साक्षी मिश्रा के पति की तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। इससे पहले साक्षी मिश्रा के पति अजितेश कुमार की दूसरी लड़की से सगाई की तस्वीर वायरल हो रही है. अजितेश कुमार की सगाई भोपाल की एक लड़की से पहले ही हो चुकी है। इनकी शादी के लिए 9 दिसंबर की तारीख तय थी। भोपाल में शादी की सारी तैयारियां भी हो गई थी। लड़की के पिता ने इस सगाई में सात लाख से अधिक रुपये खर्च किया था। सगाई टूटने वाली लड़की के पिता ने कहा कि सगाई में लाखों रुपए खर्च किए गए। उसकी भरपाई कौन करेगा। समाज में सगाई टूटने से बदनामी भी काफी हुई।

अजितेश नायक पर उसके पड़ोसियों ने लगाए आरोप

विधायक की बेटी साक्षी के पति अजितेश पर पड़ोसियों ने कई तरह के आरोप लगाए हैं। पड़ोसियों ने कहा कि उसके बारे में अधिक जानकारी के लिए थाना इज्जतनगर और प्रेमनगर से जानकारी ली जा सकती है। अजितेश का परिवार सौ फुटा रोड पर वीर सावरकरनगर कॉलोनी में रहता है। वीरसावरकर नगर कल्याण समिति के अध्यक्ष इंजीनियर एके सिंह ने बताया कि हम तो इसका नाम भी नहीं जानते थे।

कॉलोनी में गाडिय़ों पर अभि ठाकुर लिखता था। उन्होंने अजितेश के पिता हरीश से अपील की कि अगर उन्हें पूरनपुर से विधायकी लडऩी है तो जरूर लड़े, लेकिन ऐसी राजनीति नहीं करें। कॉलोनी के ही दिनेश गिरी ने बताया कि विधायक पहले ही बोल चुके हैं। बेटी बालिग है। अपने निर्णय ले सकती है। फिर ऐसी बातें उन्हें बदनाम करने की साजिश है।

अजितेश के भाई की गाड़ी पर हो चुकी है फायरिंग

जनवरी में वीरसावरकर नगर में अजितेश के भाई का किसी से विवाद हो गया था। तब आरोप लगाया गया था कि अजितेश के भाई की गाड़ी पर हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी। गाड़ी में कुछ खोखे भी मिले थे। इस मामले में दूसरे पक्ष के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था। अजितेश का कुछ लोगों से झगड़ा भी हुआ था। इज्जतनगर इंस्पेक्टर केके वर्मा का कहना है कि अजितेश के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं है।

चार दिन पहले साक्षी मिश्रा ने एक वीडियो जारी किया था। इस वीडियो में उन्होंने अपने पिता, भाई और मित्र से अपनी और पति के जान को खतरा बताया था। बुधवार शाम को जारी किए गए दो वीडियो में साक्षी और अजितेश ने अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई। एक वीडियो में दोनों यह कहते हुए नजर आए कि भाजपा विधायक राजेश मिश्रा के लोग उनके जान के पीछे पड़े हुए हैं।

क्या सच में फर्जी है साक्षी मिश्रा और अजितेश की शादी, अब आगे क्या?

फाइल फोटो
अपने बिंदास और बेधड़क अंदाज के लिए पहचाने जाने वाले विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल बागी हुई अपनी बेटी की ओर से लगाए गए आरोपों के बाद अपने घर की चहारदीवारी में ही सिमटे हुए हैं। वहीं, बेटी के विवाह को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है। दरअसल जिस मंदिर में शादी होने का दावा किया जा रहा है, उसके महंत व विवाह की रस्में संपन्न कराने वाले पुरोहित अलग-अलग बयान दे रहे हैं। एक तरफ जहां महंत मंदिर में शादी कराए जाने से इंकार कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पुरोहित उसी मंदिर में विवाह कराने की बात कह रहे हैं। लोगों की नजरें अब इस बात पर टिक गई है कि अब आगे इस जोड़े का क्या होगा?

विधायक राजेश मिश्रा का दावा
विधायक राजेश मिश्रा का दावा- फोटो : सोशल मीडिया

बता दें कि साक्षी और अजितेश ने अपना मैरिज सर्टिफिकेट दिखा कर शादी करने का दावा किया, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस मैरिज सर्टिफिकेट के अनुसार उनकी शादी प्रयागराज के बेगम सराय में स्थित रामजानकी मंदिर में स्थित दुर्गा देवी मंदिर परिसर में हुई थी। इसके मुताबिक अजितेश और साक्षी का विवाह चार जुलाई की शाम को मंदिर परिसर में वैदिक हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार किया गया। इस विवाह प्रमाणपत्र पर दो गवाहों आयुष कुमार और सुधीर कुमार के हस्ताक्षर भी हैं। इसमें लिखा है कि पुजारी विश्वपति शुक्ला ने अनुष्ठान संपन्न कराए। बेगम बाजार में गंगा तट पर स्थित मंदिर का वास्तविक नाम श्री रामजानकी हनुमान मंदिर है, जिसके महंत परशुराम दास हैं। उनसे जब इस मुद्दे पर बात की गई तो उन्होंने साफ कह दिया कि इस मंदिर में न तो शादी होती है और न ही शादी हुई। विवाह के लिए जारी प्रमाणपत्र को भी उन्होंने गलत बताया। उधर विवाह प्रमाणपत्र जारी करने वाले आचार्य विश्वपति जी शुक्ल का कहना है कि विधायक पुत्री साक्षी व अजितेश का विवाह अतिप्राचीन रामजानकी मंदिर स्थित प्राचीन दुर्गा देवी मंदिर परिसर में आयोजित कराया गया, जिसके लिए उन्हें 1100 रुपये की दक्षिणा भी दी गई। राम जानकी मंदिर के पुजारी का कहना है कि साक्षी मिश्रा और अजितेश शादी के नाम पर जो प्रमाण-पत्र दिखा रहे हैं वो नकली है। वे चाहें तो कोर्ट में रजिस्टार के सामने पंजीकृत विवाह कर सकते हैं। इससे पहले साक्षी मिश्रा और अजितेश ने सुरक्षा की मांग करते हुए 11 जुलाई को इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी। इस याचिका पर सुनवाई के लिए न्यायमूर्ति वाई.के. श्रीवास्तव ने 15 जुलाई की तारीख तय की है। खबरों के मुताबिक इसी दिन इलाहाबाद हाईकोर्ट में दोनों पंजीकृत विवाह कर सकते हैं। वहीं, पुलिस की ओर से साक्षी को सुरक्षा मुहैया करवा दी गई है। इससे पहले दिल्ली की गीता कॉलोनी में आज साक्षी, अजितेश, अजितेश के मामा, भाई और पिता से पुलिस मिली और इन्हें लेकर पुलिस सुरक्षा में सुबह 6 बजे इलाहाबाद रवाना हो गई। इलाहाबाद हाईकोर्ट में 15 जुलाई को इस मामले पर सुनवाई होनी है। वहीं, बेटी के आरोपों को लेकर लगातार किए जा रहे सवालों से हताश विधायक अब इस मुद्दे पर ज्यादा बात भी नहीं करना चाहते। कहते हैं कि अब सब कुछ ईश्वर के ऊपर छोड़ दिया है। वही उनके साथ न्याय करेगा।

कई लड़कियों से छेड़खानी कर चुका अजितेश, पड़ोसियों ने खोली साक्षी के कथित पति की पूरी पोल

फाइल फोटो
विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी ने जिस युवक अजितेश के कारण बागी तेवर दिखाए, उसी के पड़ोसियों ने उसकी पोल खोलकर रख दी है। वीर सावरकर नगर नामक कॉलोनी में अजितेश उर्फ अभि का घर है। टीवी चैनलों से बातचीत के दौरान अजितेश के पड़ोसियों ने ही उसके चरित्र पर सवाल उठाए। इंजीनियर एके सिंह समेत कई लोगों का कहना था कि अजितेश नशे का आदी है और कॉलोनी में काफी दबंग तरीके से रहता था। कई लोगों से उसने मारपीट की थी तो रुतबा कायम करने के लिए अक्सर पिस्टल और नीली बत्ती लगी गाड़ी के साथ अपने फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर चुका था। पड़ोसियों का कहना था कि कॉलोनी में ही अजितेश पर लड़कियों से छेड़खानी करने के कई बार आरोप लगे, थाने में भी ये मामले पहुंचे। एक मामले में मारपीट के बाद अजितेश ने तीन लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले की रिपोर्ट भी लिखाई थी। पड़ोसियों के आरोपों पर अजितेश और उसके पिता हरीश कुमार से फोन पर कई बार बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उनके फोन पर कॉल ही रिसीव नहीं हुई। साक्षी के फोन पर भी घंटी जाती रही, लेकिन उसने भी फोन नहीं उठाया।विधायक राजेश मिश्रा ने कहा कि अजितेश उर्फ अभि उनके बेटे विक्की का दोस्त था। हालांकि उसकी और विक्की की उम्र में काफी अंतर है। उन्होंने बताया कि उन्हें विक्की से अजितेश की दोस्ती की तो जानकारी थी, लेकिन अजितेश उनके घर पर भी अक्सर आता-जाता था, यह उन्हें अब पता लगा है। दरअसल अजितेश तभी उनके घर आता था, जब वह नहीं होते थे। बेटी साक्षी के इस आरोप पर कि वह उसके साथ ज्यादा बात नहीं करते थे, उन्होंने कहा कि यह आरोप गलत है। बेटे और दोनों बेटियों से वह हमेशा दोस्ताना व्यवहार रखते थे। वह जब भी घर पहुंचते थे और कभी उन्हें कोई गुमसुम दिखता था तो वह हंसी-मजाक कर उसे बगैर हंसाए नहीं छोड़ते थे। परिवार को बगैर बताए घर से भागकर प्रेम विवाह करना और फिर विधायक पिता पर हत्या का आरोप लगाया जाना सोशल मीडिया को रास नहीं आया है। सिर्फ साक्षी ही नहीं, अपने टीवी चैनल की डिबेट में विधायक को खलनायक साबित करने की कोशिश करने वाली एंकर अंजना ओम कश्यप भी सोशल मीडिया में निशाने पर हैं। साक्षी और अजितेश को लोग खुलकर लानत-मलामत कर रहे हैं तो अंजना ओम पर भी सवाल दागने से लोग नहीं चूक रहे हैं। फेसबुक पर एक के बाद एक धड़ाधड़ पोस्ट की जा रही हैं। ये पोस्ट करने वालों में सिर्फ बरेली नहीं बल्कि दूसरे शहरों के भी लोग हैं। दो बार वीडियो वायरल कर और फिर टीवी चैनलों पर रोते हुए पिता पर हत्या की कोशिश के आरोप लगाने के बावजूद साक्षी के सपोर्ट में एक भी पोस्ट नहीं दिख रही। लोग आपस में दबी जुबान से उनकी बेटी के आरोपों पर चर्चाएं करते रहे। उसके पति अजितेश उर्फ अभि को लेकर उठ रहे सवाल भी इन चर्चाओं का हिस्सा बनते रहे।

विधायक की बेटी से शादी के नाम पर ‘धोखा’, जानिए क्या है अजितेश की सगाई का असली सचविधायक राजेश मिश्रा का दावा

सगाई टूटने वाली लड़की के पिता ने बताया कि उनकी पांच बेटियां और एक बेटा है। दो बेटियों की पहले शादी हो चुकी है। अजितेश को वह पहले से जानते थे। भोपाल में अजितेश का आना-जाना था। एक दिन अजितेश ने उनकी सबसे छोटी बेटी का हाथ मांगा तो वह दंग रह गए। उन्होंने कहा कि तीसरे नंबर से पहले छोटी बेटी की शादी करूंगा तो समाज को क्या जवाब दूंगा। हालांकि बाद में उन्होंने घर में बात कर जवाब देने की बात कही।

विधायक राजेश मिश्रा

 विधायक राजेश मिश्रा- फोटो : facebook
पिता के मुताबिक, घरवालों को मना लिया और वे अपनी छोटी बेटी की शादी अजितेश से करने को तैयार हो गए। भोपाल के स्थानीय होटल में सगाई समारोह रखा गया। इस सगाई में 7 लाख रुपये से ज्यादा रकम खर्च की गई। शादी के लिए 9 दिसंबर की तारीख तय थी। लड़की के पिता ने ये दावा किया कि उनसे कर्ज लेकर सगाई की थी। शादी से कुछ समय पहले अजितेश के परिवार में किसी का निधन हो गया। वह परिवार को लेकर गया, बाद में सगाई ही टूट गई।
फाइल फोटो

1 of 5

विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी के कथित पति अजितेश के बारे में काफी खुलासे हो रहे हैं। साक्षी के MLA पिता राजेश मिश्रा भरतौल ने दावा किया था कि अजितेश की पहले भी सगाई हो चुकी है, जोकि सही साबित हुआ। अजितेश की पहले भोपाल की एक युवती से सगाई हो चुकी थी। सगाई का असली सच जानने के लिए भोपाल में उस लड़की के पिता से सच जानने की कोशिश की गई, जिसकी बेटी से सगाई हुई और टूट गई।

साक्षी के पति अजितेश और भाई विक्की भरतौल के बीच कैसा था याराना

सक्षी मिश्रा के भाई विक्की ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि उनकी बहन ने अपनी मर्जी से शादी कर ली है. इस पर उन्‍हें कोई आपत्ति नहीं है. बच्चे जब बड़े हो जाते हैं तो अपने फैसले खुद करते हैं.