बुलंदशहर हिंसा / इंस्पेक्टर सुबोध का 30 लाख बैंक कर्ज भी चुकाएगी सरकार, परिजन से योगी के 7 वादे

सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं।सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ योगी से मिलने लखनऊ पहुंची थीं।

सुबोध कुमार का परिवार गुरुवार सुबह मुख्यमंत्री योगी से उनके बंगले पर मिला

  • योगी का वादा- शहीद के परिवार की हरसंभव मदद करेंगे, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

लखनऊ. बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजन गुरुवार सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से यहां उनके बंगले पर मिले। मुख्यमंत्री ने उनसे कुछ और वादे किए। सरकार की ओर से इस परिवार से सात वादे किए जा चुके हैं।

योगी ने ये 7 वादे किए

  1. पत्नी को 40 लाख रुपए का चेक दिया
  2. माता-पिता को 10 लाख देंगे
  3. जैथरा-कुरौली रोड का नाम शहीद सुबोध कुमार सिंह मार्ग होगा
  4. पैतृक गांव तिरगवां में शहीद सुबोध के नाम पर इंटर कॉलेज बनेगा
  5. मकान और बच्चों की पढ़ाई के लिए लिया गया बैंक कर्ज 30 लाख रुपए सरकार चुकाएगी
  6. दोनों बेटों की आगे की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी
  7. परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और सुबोध की पत्नी को पेंशन मिलेगी

योगी ने कहा- दोषी बच नहीं सकते

मुख्यमंत्री ने सुबोध के परिवार से कहा- दोषी इस गलतफहमी में न रहें कि वे बच जाएंगे। बुलंदशहर में कई टीमें जांच कर रही हैं। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। योगी से मुलाकात करने सुबोध की पत्नी रजनी दोनों बेटों और बहन के साथ पहुंची थीं। उनके साथ जिले के प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, डीजीपी ओपी सिंह और एटा विधायक सतपाल मौजूद रहे। उत्तर प्रदेश के डीजी पुलिस ओपी सिंह भी मौजूद थे। ओपी सिंह ने इस भेंट के बाद मीडिया को भी संबोधित किया।

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंस्पेक्टर के परिवार को शीघ्र ही न्याय का भरोसा दिलाया है। मुख्यमंत्री ने इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार को आरोपियों पर सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया। मुख्यमंत्री ने परिवार को पूरी मदद का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा है कि हम परिवार के साथ हैं।

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार स्वर्गीय सुबोध कुमार सिंह के दोनों पुत्रों की पढ़ाई का पूरा खर्च वहन करेगी। वह इस परिवार को हर प्रकार की सुविधा तथा सहायता भी देगी। सुबोध कुमार सिंह के पुत्र श्रेय प्रताप सिंह ने कहा कि हमारी सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात हुई है हमने अपनी मांगे उनके सामने रखी हैं।

जिले के प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग ने बताया कि सरकार एटा में सड़क और कॉलेज का शहीद सुबोध कुमार सिंह के नाम पर सरकार रखेगी। सरकार ने इसका आदेश जारी किया है।एटा में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के गांव को जाने वाले सड़क जैठारी-कुरौली मार्ग का नाम शहीद श्री सुबोध कुमार सिंह मार्ग रखा गया है।उन्होंने कहा कि परिवार ने बच्चों की शिक्षा के लिए जो 25 से 30 लाख का परिवार ने कर्ज लिया है वो सरकार अदा करेगी। इसके साथ ही बच्चो की पढ़ाई के लिए पुलिस विभाग की ओर से मदद दी जाएगी। बड़ा बच्चा सिविल सर्विस और छोटा बेटा लॉ की तैयारी कर रहा है।

डीजीपी ने कहा कि पेंशन और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। पहले 40 लाख परिवार को दिया जाना था और अब 10 लाख भी परिवार को जायेगा। इसके साथ सरकार दोनों बच्चों की पढ़ाई का खर्च वहन करेगी। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है परिवार के साथ सरकार खड़ी है। जो जांच होगी सभी की भूमिका तय होगी, कार्यवाही होगी। सुबोध कुमार सिंह को पुलिस विभाग, मुख्यमंत्री व सभी की ओर से श्रद्धांजलि। डीजीपी ने बताया कि इस मामले में मुख्यमंत्री ने इंटेलिजेंस विभाग को जांच दी है। आज रिपोर्ट मिलेगी।

घटना वाले दिन आया था विधायक का फोन
पत्नी रजनी ने मुख्यमंत्री से कहा- घटना से तीन दिन पहले शहीद सुबोध ने गोकशी के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था। घटना वाले दिन इस संबंध में एक विधायक का फोन आया था।

गोकशी के शक में भड़की थी हिंसा
बुलंदशहर के स्याना में सोमवार को गोकशी को लेकर हिंसा फैली थी। आरोप है कि इसकी अगुआई बजरंग दल के नेता योगेश राज ने की थी। हिंसा में गोली लगने से इंस्पेक्टर सुबोध की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। पहली एफआईआर योगेश की शिकायत पर गोकशी मामले में दर्ज की गई है। इसमें सात लोगों के नाम हैं। वहीं, दूसरी एफआईआर हिंसा और इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में दर्ज किया गया। इसमें 27 के नाम हैं, 60 से ज्यादा अज्ञात हैं। इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि चार को हिरासत में लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *