बरेली, । बरेली के नवाबगंज में सगे चाचा से निकाह करने से नाराज भाई ने बहन की गोली मारकर हत्या कर दी। क्योलड़िया थाने के एक गांव में रविवार दोपहर वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी घर में ताला लगाकर परिवार समेत भाग गया।

मृतका के पति ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। 21 वर्षीय युवती रविवार दोपहर 12 बजे ससुराल में रोटियां बना रही थी। बिना गेट वाले घर में पीछे से आए भाई ने अचानक उसे गोली मार दी। फायरिंग हुई तो पड़ोसी बाहर निकले।

उन्होंने एक युवक को तमंचा लेकर भागते देखा तो तुरंत घर पहुंचे। वहां चूल्हे के पास महिला का शव पड़ा था। काफी खून बह रहा था। पति की सूचना पर सीओ जगमोहन बुटोला ने घटनास्थल का मुआयना किया। शव का पोस्टमार्टम सोमवार को होगा।

पुलिस आरोपी के घर पहुंची तो मेन गेट पर अंदर से कुंडी लगी थी। गेट न खुला तो पीछे का दरवाजा देखा। वहां ताला लगा था। पड़ोसियों से पूछताछ में पता चला कि पूरा परिवार आनन फानन में कहीं चला गया है। 

मृतका के पति ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा है कि उसने अपनी भतीजी से शादी की थी। आरोपी रंजिश मानता था। इसी कारण वारदात को अंजाम दिया गया है।

युवती सगे चाचा से निकाह करके गांव में ही रह रही थी। युवती के परिवार ने इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई थी, लेकिन बदनामी की वजह से बैर मान लिया था। रविवार को भाई ने बहन के घर जाकर उसकी हत्या कर दी। आरोपी की तलाश की जा रही है।
– संसार सिंह, एसपी देहात

 चाचा से निकाह करने पर नाराज भाई ने बड़ी बहन की घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गया। घटना का पता चलते ही गांव में सनसनी फैल गई। मौके पर भीड़ जुट गई। पुलिस भी आ गई।

क्योलड़िया क्षेत्र के गांव परशुरामपुर निवासी शबाना (20) का अपने चचेरे चाचा जाबिर हुसैन (38) से प्रेम प्रसंग हो गया जिससे शबाना घर छोड़कर जाबिर के यहां चली गई। दोनों परिवारों में इसको लेकर काफी तनातनी हुई। जिसके बाद 17 दिसंबर 2018 को दोनों ने निकाह कर लिया। शबाना का छोटा भाई तालिब हुसैन शुरू से ही इस निकाह के खिलाफ था। चूंकि दोनों के घर आस-पास थे इसलिए शबाना के परिजनों को काफी अपमान बर्दाश्त करना पड़ा था। शादी के बाद शबाना जाबिर के साथ कहीं दूसरी जगह चली गई थी।

जनवरी में शबाना जाबिर लौट आए और घर में रहने लगे। यह पता चलने पर तालिब जनवरी में ही दिल्ली से बरेली आ रहा था। लेकिन रास्ते से ही परिजनों ने उसे लौटा दिया। दो दिन पहले एकाएक तालिब गांव लौट आया। उसे पता चला कि बहन शबाना गांव लौट आई है। यह जानकर वह आग बबूला हो गया। रविवार दोपहर एक बजे तालिब तमंचा लेकर शबाना के घर में घुस गया।

उस समय शबाना चूल्हे पर खाना बना रही थी। जबकि जाबिर अंदर कमरे में था। तालिब ने शबाना के पीछे से सिर में गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद वह भाग गया। मौके पर भीड़ जुट गई। पुलिस भी आ गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस आरोपित भाई की तलाश कर रही है।

14 साल पहले हुई थी जाबिर की पहली शादी

जाबिर की पहली शादी 14 साल पूर्व पीलीभीत के न्यूरिया कस्बा की गुलजारा बेगम से हुआ था। पांच साल पहले गुलजारा अपने बेटे नूर मोहम्मद व छोटू को लेकर मायके चली गई। उसने पति के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा कर रखा है।

बेटी को कर लिया कब्जे में

शबाना के पिता इरशाद का कहना है कि जाबिर तांत्रिक है। उसने उसकी बेटी को अपने कब्जे में कर लिया। उसे कई बार समझाया गया लेकिन वह नहीं माना। बेटी भी फंसकर घर वालों की बात मानने को तैयार नहीं थी।

मुकदमा दर्ज कर हत्यारोपित भाई को ढूंढ रही पुलिस

युवती के पति की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपित भाई की तलाश की जा रही है जल्द उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। – सुधीर कुमार विश्नोई, एसओ क्योलड़िया