फैक्ट चेक / हरिद्वार मनसा देवी मंदिर झूले में आग से लोग जले जिंदा , लेकिन भारत का ही नहीं है 4 साल पुराना वीडियो

क्या फेक : हरिद्वार के मनसा देवी मंदिर के झूले में आग लगने से कई लोग जिंदा जले, वीडियो वायरल

  • क्या सच : वायरल वीडियो भारत का नहीं है, ये फिलीस्तीन में 2015 में लगी आग का वीडियो है

फैक्ट चेक डेस्क. उत्तराखंड के हरिद्वार में मंशा देवी रोपवे की ट्रॉली में आग लगने का वीडियो आज-कल वायरल हो रहा है। यह वीडियो जब सोशल मीडिया के माध्यम से  हमारे पास पहुंचा तो हमने इसे लगाने से पहले इसकी तफतीश करना जरूरी समझा। रोपवे अधिकारियों और पुलिस से जब इस विषय में बात कर पड़ताल की गई तो सामने आया कि यह वीडियो फर्जी है। चलिए आगे जानते हैं इस खबर का पूरा सच।एक पाठक ने हमें जलती हुई केबल कार का एक वीडियो भेजा और उसकी सच्चाई जाननी चाही। वीडियो में तीन केबल कार दिखाई दे रही है, जिसमें से एक में आग लगी हुई है। आस पास से चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनी जा सकती है।दावा किया जा रहा है कि वीडियो हरिद्वार के मनसा देवी मंदिर झूले में आग लगने से हुए हादसे का है, जिसमें कई लोग जिंदा जल गए।दो दिन से सोशल मीडिया पर यह वीडियो छाया हुआ है। इस वीडियो में एक ट्रॉली जलती दिख रही है। वीडियो वायरल होने से अफवाह फैल गई कि मंशा देवी रोपवे की ट्रॉली  में आग लग गई है। इसकी जानकारी होने पर तत्काल हरकत में आई स्थानीय पुलिस रोपवे पर पहुंच गई। रोपवे अधिकारियों को इस मामले की पूरी जानकारी दी गई। कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि मंशा देवी रोपवे पर सब कुछ सामान्य है।कंपनी अधिकारियों ने अपील की कि आमजन अफवाह न फैलाएं। मंशा देवी रोपवे पर सबकुछ ठीक है। उषा ब्रेको कंपनी के प्रबंधक मनोज डोभाल ने कहा कि कंपनी अपनी गुणवत्ता और मानकों से कोई समझौता नहीं करती है। कंपनी को लेकर जिस तरह का प्रचार किया जा रहा है वह बेबुनियाद है।
उन्होंने बताया कि जिस वीडियो को हमारी कंपनी का बताकर प्रचारित किया जा रहा है। वह फिलीपींस में तीन साल पहले शूट किए गए एक टीवी कार्यक्रम की शूटिंग का है। उन्होंने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने का आग्रह किया।

क्या वायरल

  • वीडियो 2015 और 2016 में भी इसी दावे के साथ शेयर किया गया था।

क्यों फेक

  • वीडियो के स्क्रीनशॉट लेकर रिवर्स इमेज सर्च टूल की मदद से सर्च करने पर पता चला कि वीडियो भारत का नहीं है।
  • वायरल वीडियो में पीछे की तरफ सुनाई दे रही आवाजों में कोई भारतीय भाषा नहीं है।
  • वीडियो मार्च 2015 में फिलिस्तीन की एक केबल कार में लगी आग का है।
  • इसे कई मीडिया हाउसेज ने कवर किया था। ब्रिटिश वेबसाइट मेट्रो पर पब्लिश की गई खबर में वायरल वीडियो भी लगाया गया है।

''

  • खबर के अनुसार एक टीवी प्रोग्राम के शूट के दौरान प्रोडक्शन असिस्टेंट ने बिना अनुमति लिए केबल कार में ही पटाखा फोड़ दिया था।
  • इससे केबल कार में आग लग गई। हादसे में दो लोगों को हल्की चोटें आई थी।
  • पड़ताल से साफ है कि वायरल वीडियो भारत का नहीं बल्कि फिलिस्तीन का है। केबल कार में लगी आग में सिर्फ दो लोगों को हल्की चोटें आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *