प. बंगाल में बवालः बीजेपी के मार्च पर आंसू गैस के गोले, लाठीचार्ज, पानी की बौछार

पश्चिम बंगाल में तनाव की स्थिति लगातार बनी हुई है। सूबे में एक और बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिलने के बाद तनाव और बढ़ गया है। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बुधवार को सड़क पर उतरकर ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

हाइलाइट्स

पश्चिम बंगाल में एक और बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिलने के बाद सूबे में तनाव और बढ़ गया
लगातार हिंसा के खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता ममता सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर गए हैं
बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ममता सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज
मंगलवार को उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनारा में बम धमाके में 2 लोगों की मौत हो गई थीप. बंगाल में बवालः के लिए इमेज परिणाम
कोलकाता: पश्चिम बंगाल में कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में भाजपा ने बुधवार को कोलकाता के लाल बाजार स्थित पुलिस मुख्यालय का घेराव किया। इस दौरान कुछ लोगों के बैरिकेड तोड़ने की कोशिश करने पर पुलिस ने पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले दागे। प्रदर्शन के मद्देनजर 3 हजार से ज्यादा जवान तैनात हैं। भाजपा नेता मुकुल रॉय का आरोप है कि 8 जून की रात तृणमूल समर्थकों ने बशीरहाट में उनके 4 कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी थी।भाजपा के एक कार्यकर्ता ने कहा- ”हमने कोई बैरिकेड नहीं तोड़ा। हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। बंगाल पुलिस ने गलत तरीके से बल प्रयोग किया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कोलकाता के पुलिस कमिश्नर को इसका जवाब देना चाहिए।”प. बंगाल में बवालः के लिए इमेज परिणाम

ममता ने कहा था- बंगाल को गुजरात बनाने की कोशिश

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा था कि राज्य में फैली हिंसा में तृणमूल के 8 और भाजपा के 2 कार्यकर्ता मारे गए। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भाजपा बंगाल को गुजरात बनाने की कोशिश कर रही है। मैं जेल जाने के लिए तैयार हूं लेकिन यह नहीं होने दूंगी। ममता ने इसी दिन कोलकाता के कॉलेज स्ट्रीट और विद्यासागर कॉलेज में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा का अनावरण भी किया था।

भाजपा का आरोप- जय श्री राम बोलने पर हत्या
उत्तर 24 परगना जिले में सोमवार को हुए विस्फोट में 2 लोगों की मौत हो गई। जबकि चार घायल हो गए। उधर, भाजपा ने आरोप लगाया है कि जय श्री राम के नारे लगाने पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यकर्ता की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने फिलहाल हत्या के कारणों पर कुछ नहीं कहा।

विजयवर्गीय ने कहा- बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है
भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था, ‘‘बंगाल में हिंसा की जिम्मेदारी ममता बनर्जी की है। वे बदले की भावना से लोगों को भड़का रही हैं। ममता अपने कार्यकर्ताओं से कह रही हैं कि जहां से उनकी पार्टी हार रही है, वहां भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जाए। सारे गुंडे सत्ताधारी तृणमूल के पास ही हैं, उनके पास पिस्तौल और बम हैं। हमारे कार्यकर्ताओं के पास कोई हथियार नहीं है। बंगाल में ऐसे ही हिंसा होती रही तो केंद्र को हस्तक्षेप करना पड़ेगा। जरूरी हुआ तो बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है।’’प. बंगाल में बवालः के लिए इमेज परिणाम

बंगाल के चीफ सेक्रेटरी ने कहा- हालात नियंत्रण में
बंगाल में जारी हिंसा पर गृह मंत्रालय ने रविवार को एडवाइजरी जारी की थी। इसमें ममता सरकार को नागरिकों में विश्वास बनाए रखने में विफल बताया। बंगाल के चीफ सेक्रेटरी मलय कुमार ने सोमवार को जवाब देते हुए दावा किया है कि राज्य में हालात नियंत्रण में हैं। कुमार ने पत्र में लिखा, ‘‘चुनाव के बाद कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा हिंसा की गई थी। इस प्रकार के मामलों को रोकने के लिए अधिकारियों द्वारा बिना किसी देरी के कार्रवाई की गई।’’

पश्चिम बंगाल में बुधवार को एक और बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिलने के बाद सूबे में तनाव और बढ़ गया है। लगातार हिंसा के खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता बुधवार को ममता सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर गए। पुलिस मुख्यालय की तरफ बढ़ते बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। इसके अलावा पानी की तेज बौछार से बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की गई। बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद से ही सूबे में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ता आमने-सामने हैं। सूबे में हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है।प. बंगाल में बवालः के लिए इमेज परिणाम

दरअसल, बुधवार को तनाव उस समय और बढ़ गया जब मालदा में दो दिन से लापता बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिला। पिछले कुछ दिनों से लगातार बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या से नाराज बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा इससे और भड़क गया।

ममता सरकार के खिलाफ सड़क पर बीजेपी कार्यकर्ता
राजधानी कोलकाता में गुस्साए बीजेपी कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर ममता सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। अपनी नाराजगी जताने के लिए पुलिस मुख्यालय का घेराव करने के लिए आगे बढ़ रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। बड़ी संख्या में सड़क पर उतरे उग्र बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस को पानी की बौझार के साथ ही आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े।

बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या से बढ़ा विवाद
इससे पहले मंगलवार को पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनारा में बम धमाके में 2 लोगों की मौत हो गई जबकि 4 लोग घायल हो गए। लोकसभा चुनाव के बाद से ही टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प जारी है। उत्तर 24 परगना में हिंसा के मामले ने इस विवाद को मंगलवार को और बढ़ा दियाप. बंगाल में बवालः के लिए इमेज परिणाम

आरएसएस और बीजेपी कार्यकर्ता के शव मिलने पर हंगामा
इससे पहले एक आरएसएस और एक बीजेपी के कार्यकर्ता के पेड़ से लटकते शव पाए जाने से सनसनी फैल गई थी। सोमवार को हावड़ा के आमटा स्थित सरपोटा गांव में बीजेपी कार्यकर्ता समातुल दोलुई का शव पेड़ से लटकते हुए मिला था। दोलुई के परिवार और बीजेपी नेताओं ने इस घटना के पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ बताया है।

One thought on “प. बंगाल में बवालः बीजेपी के मार्च पर आंसू गैस के गोले, लाठीचार्ज, पानी की बौछार

  • June 12, 2019 at 3:46 pm
    Permalink

    ये क्या हो रहा है हमारे देश के राजनेता और पब्लिक को, जो की देश को एकजुट रखने में सहयोग के बजाय देश को तोरने में लगे हुआ है | इससे कुछ हासिल नहीं हो सकता, कृपया कर के हिंसा को ख़तम कर देश के बारे में सोचे | जय हिंदी, जय भारत

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *