प्रयागराज, । बरेली के बिथरी चैनपुर के भाजपा विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी और अनुसूचित जाति के युवक के प्रेम विवाह के हाई प्रोफाइल मामले में उस मंदिर के महंत के बयान से नया मोड़ आ गया, जहां से विवाह का प्रमाण पत्र जारी हुआ है। अति प्राचीन राम जानकी मंदिर के महंत परशुराम सिंह ने इस विवाह की जानकारी से ही इनकार कर शादी के प्रमाण पत्र को ही फर्जी करार दिया है। यह भी कहा कि वह इस मामले में कानूनी मदद लेंगे।

अनुसूचित जाति के युवक से शादी करने के बाद बरेली के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी और उसके पति ने हाई कोर्ट की शरण ली है। कोर्ट में साक्षी ने अपनी व अपने पति की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा मांगी है। इन दोनों की तरफ से हाई कोर्ट में अपने विवाह का प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया गया, जिसमें प्रयागराज के बेगम सराय स्थित अति प्राचीन राम जानकी मंदिर में विवाह होने और वहीं से प्रमाण पत्र प्राप्त होनेे की जानकारी दी गई है। इस प्रमाण पत्र पर साहित्याचार्य कर्मकांड विशेषज्ञ आचार्य विश्वपति जी शुक्ल का नाम दर्ज है।

मंदिर के महंत परशुराम सिंह का कहना है कि उनके मंदिर में न कोई शादी होती है और न ही ऐसा प्रमाण पत्र जारी होता है। उन्होंने आचार्य विश्वपति जी शुक्ल के बारे में जानकारी से साफ इनकार किया। उन्होंने कहा कि इस मंदिर का नाम बदनाम कराया जा रहा है। इस बारे में कानूनी मदद लेंगे।

वीडियो वायरल कर जान का खतरा बताया

बरेली के बिथरी चैनपुर के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी दो जुलाई को घर छोड़कर प्रेमी अजितेश के साथ चली गई थीं। चार जुलाई को दोनों ने प्रयागराज में एक मंदिर में शादी कर ली। इसके चार दिन बाद साक्षी ने अजितेश के साथ दो वीडियो वायरल किए जिसमें उसने खुद को जान का खतरा बताया और सुरक्षा मांगी। वीडियो में यह भी कहा गया है कि यदि उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार पप्पू भरतौल और उनके कुछ सहयोगी होंगे।

बेटी चाहे जहां रहे, खुश रहे

साक्षी ने जिस युवक अजितेश से शादी की है वह भी एक विधायक का रिश्तेदार है और बरेली में वीर सावरकर नगर कॉलोनी में रहता है। एक वीडियो में अजितेश ने भी साक्षी के साथ ही खुद को जान का खतरा बताया है और कहा है कि अनुसूचित जाति का होने की वजह से उनका विरोध किया जा रहा है। साक्षी ने वीडियो में किसी राजीव राणा का जिक्र करते हुए कहा कि उनके पिता ने उनकी हत्या के लिए उन्हें ही पीछे लगाया है। इस मामले में विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने कहा है कि बेटी बालिग है, उसको फैसला लेने का अधिकार है। मैंने या मेरे किसी समर्थक ने कोई धमकी नहीं दी। बेटी चाहे जहां रहे, खुश रहे।

प्लीज पापा, अपनी सोच बदलो

सोशल मीडिया पर जारी साक्षी ने अपील की है कि पापा और विक्की। पापा बोले तो माननीय विधायक पप्पू भरतौल जी और विक्की भरतौल जी। प्लीज अब मान जाओ और शांति से जिओ और रहने दो, क्योंकि मैैंने सच में शादी कर ली है। ये सिंदूर मैंने फैशन में नहीं लगा रखा है। शादी कर ली है इसलिए लगा रखा है। और प्लीज पापा अपनी सोच बदलो। अजि (अजितेश) और अजि की फैमिली इंसान ही हैैं, कोई जानवर नहीं हैैं वो लोग। तो प्लीज अपनी सोच बदलो। अच्छे लोग हैैं। मैैं खुश रहूंगी उनके साथ।

खतरा बताया पर सामने न आई विधायक की बेटी

साक्षी ने वीडियो जारी कर परिवार से खुद को खतरा तो बताया, मगर अभी तक पुलिस के सामने नहीं आई हैं। वह प्रेमी अजितेश के साथ दो जुलाई को शहर से चली गईं थीं। वीडियो जारी हुआ तो पुलिस ने तलाश की, मगर दोनों का जिलों में कुछ पता नहीं चला। अब पुलिस उनके फोन नंबर जुटाकर बात करने की कोशिश में लगी हुई है। साक्षी व अजितेश के फोन नंबर बंद जा रहे।