प्रियंका चोपड़ा किया था रोहिंग्या कैंप का दौरा

कटियार बोले- प्रियंका चोपड़ा भारत छोड़ो,सोशल मीडिया यूजर्स ने प्रियंका से पूछा कि क्या कभी कश्मीरी पंडितों के बीच भी गई? इसके अलावा, उन्हें यह सलाह भी दी गई है कि कभी उन्हें देश के अंदर झांककर भी देखना चाहिए। क्योंकि गरीबी यहां भी कम नहीं है।

नई दिल्ली , 24 मई ! यूएन एंबेसडर के तौर पर रोहिंग्या शरणार्थियों से बांग्लादेश में प्रियंका चोपड़ा के मिलने पर बीजेपी नेता विनय कटियार ने फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को भारत छोड़ने को कहा है. रोहिंग्या शरणार्थियों पर कटियार ने कहा कि वे न सिर्फ दूसरों की जिंदगी छीन लेते हैं, बल्कि दूसरे लोगों का मांस भी खाते हैं. एक दिन भी खराब किए बिना उन्हें यहां नहीं रहने देना चाहिए. उन्हें इस देश से बाहर भगा देना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘प्रियंका चोपड़ा को वहां नहीं जाना चाहिए था, ये उनका निजी फैसला हो सकता है. लेकिन ये सही नहीं है, जिन लोगों को रोहिंग्याओं से सहानुभूति है, उन्हें इस देश में रहने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.’

कटियार ने कहा कि रोहिंग्याओं ने बहुत सारे हिंदुओं को मारा है, इसलिए उनका जीना इस देश के लिए खतरनाक है.

जांच रिपोर्ट में आया था हिंदुओं की हत्या का मामला

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने हाल ही में अपनी एक जांच के बाद जारी रिपोर्ट में कहा है कि म्यांमार में पिछले साल अगस्त में रोहिंग्या मुस्लिम चरमपंथियों ने करीब सौ हिंदुओं को हमले में मार दिया था. बीबीसी ने एमनेस्टी की रिपोर्ट के आधार पर लिखा है कि अराकन रोहिंग्या सैल्वेशन आर्मी (अरसा) नाम के संगठन ने एक या दो समूहों में किए गए कत्लेआम में 99 हिन्दुओं की जान ले ली. हालांकि, अरसा ने आरोपों से इनकार किया था.

इन मामलों पर भी बोले कटियार

दिल्ली स्थित चर्च द्वारा 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले देशहित में प्रार्थना के आयोजन को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में बीजेपी नेता ने कहा कि आप इसकी अनुमति कैसे दे सकते हैं. ये सही नहीं है. कटियार ने इसके लिए सोनिया गांधी और विदेशी फंडिंग को जिम्मेदार ठहरा डाला और कहा कि इस पूरे मामले की जांच की जानी चाहिए.

बीजेपी और मोदी के खिलाफ विपक्ष के एकजुट होने के सवाल पर कटियार वे कहा कि ये कोई चैलेंज नहीं है. इन लोगों के खिलाफ हमने चुनाव जीता है और 2019 में एक बार फिर इन्हीं के खिलाफ चुनाव जीतेंगे. कर्नाटक की सरकार पर कटियार ने कहा कि इस बात पर बहुत सुबहा है कि राज्य की सरकार कितने दिन चलेगी.

बांग्‍लादेश में रोहिंग्या के बीच पहुंच कर ‘बदल’ गयीं प्रियंका चोपड़ा…!

बांग्‍लादेश में रोहिंग्या के बीच पहुंच कर 'बदल' गयीं प्रियंका चोपड़ा...!

रोहिंग्या के बीच जाते वक्त प्लेन में प्रियंका और उनके बीच पहुंचने के बाद दूसरे अंदाज में.

बांग्लादेश गई थीं प्रियंका

प्रियंका ने यूनिसेफ की वैश्विक सद्भावना दूत के तौर पर बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए बनाए शिविरों का दौरा किया था. सोमवार को प्रियंका ने अपनी एक तस्वीर ट्वीट कर दौरे की जानकारी दी. उन्होंने लिखा- ‘मैं यूनिसेफ फील्ड विजिट पर रोहिंग्या शरणार्थी शिविरों के दौरे पर हूं. मेरे अनुभवों को जानने लिए मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करें. बच्चे बेघर हो गए हैं, दुनिया को ख्याल रखने की जरूरत है. हमें ख्याल रखना चाहिए.’

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा फैशन आइकन के तौर जानी जाती हैं. सोशल मीडिया पर उनकी तसवीरें छाईं रहती हैं और उनका ड्रेसिंग सेंस फैशन बन जाता है. हाल ही में प्रियंका ब्रिटेन के प्रिंस हैरी और अभिनेत्री मेगन मार्केल की रॉयल वेडिंग में शामिल हुई थीं. वेडिंग में प्रियंका अपने आउटफिट्स के चलते भारतीय और विदेशी मीडिया में छाई रहीं. उन्होंने इससे जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया था. इसी महीने की शुरुआत में वे कांस फिल्‍म फेस्टिवल के रेड कारपेट पर नजर आयीं, जहां एक बार फिर वे लोगों का ध्‍यान खींचने में कामयाब रहीं. सोमवार को यूनिसेफ (UNICEF) की गुडविल एंबेसेडर प्रियंका बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में रोहिंग्या शरणार्थियों से मुलाकात करने पहुंची थीं. लेकिन इस दौरान उनका लुक बेहद अलग दिखा.

प्रियंका ने अपने बांग्‍लादेश जाने की जानकारी देते हुए सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर की थी जिसमें हवाई सफर के दौरान उन्‍होंने चश्‍मा पहन रखा था और बालों का बन बनाया हुआ था. लेकिन जैसे ही वे रोहिंग्‍या शरणाथियों से मिलने पहुंची उन्‍होंने अपने लुक को पूरी तरह से बदल दिया. दरअसल प्रियंका इस बात को बखूबी समझती है कहां, कौन सा लुक अपनाना है. ग्लैमरस प्रियंका यहां एक्टिविस्ट के रूप में नजर आयीं.

रोहिंग्या शरणार्थियों के बीच पहुंची प्रियंका व्‍हाइट कलर के यूनिसेफ के टीशर्ट और स्‍कार्फ में नजर आयीं. उन्‍होंने वहां रोहिंग्या शरणार्थियों के बच्चों से बात की. तसवीरों को गौर से देखा जाये तो प्रियंका बच्‍चे के साथ सहजता से बात कर रही हैं और बहुत साधारण दिख रही हैं.  प्रियंका की लुक्‍स से साफ है कि वे मौके के अनुसार खुद को ढालना बखूबी जानती हैं.

इससे पहले भी प्रियंका जॉर्डन की राजधानी अमान पहुंची थी. वहां यूनिसेफ के ‘जॉर्डन कंट्री ऑफिस’ में बच्चों के साथ उन्‍होंने वक्त गुजारा था और बच्चों के साथ अलग-अलग खेल खेलती दिखीं थीं. उन्‍होंने एक तसवीर पोस्‍ट की थी जिसमें वे भावुक नजर आयीं थीं. बता दें कि प्रियंका पिछले 12 सालों से यूनिसेफ से जुड़ी हैं.

बॉलीवुड से हॉलीवुड का सफर तय करनेवाली प्रियंका सफल अभिनेत्र‍ियों में शुमार की जाती हैं. प्रियंका ने साल 2003 में फिल्‍म ‘ द हीरो: लव स्‍टोरी ऑफ एक स्‍पाय’ से फिल्‍मों डेब्‍यू किया था. अपनी कड़ी मेहनत के दम पर आज प्रियंका इस मुकाम पर हैं. उन्‍होंने पर्दे पर निगेटिव किरदार भी निभाये लेकिन इससे उनकी पॉजिटिव छवि धूमिल नहीं हुई. प्रियंका इस बात को बखूबी समझती हैं कि सफलता पाने का कोई शॉर्टकट नहीं है. और, वे अलग-अलग मौकों पर हालात के अनुसार भी खुद को ढालना जानती हैं.

सोशल मीडिया यूजर्स बोले- पाकिस्तान भी चली जाओ

सोशल मीडिया यूजर्स प्रियंका की फोटो और उसके कैप्शन पर अपने-अपने तरीके से रिएक्ट कर रहे हैं।यूनिसेफ की ब्रांड एम्बेसडर और बॉलीवुड-हॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा सोमवार को बांग्लादेश के कॉक्स बाजार इलाके में मौजूद रोहिंग्या शरणार्थियों के कैंप पहुंचीं। इस मौके की फोटोज भी उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर की हैं और अपने मैसेज में रोहिंग्या शरणार्थियों की हालत पर चिंता जाहिर की। हालांकि, फोटो शेयर करने के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स ने किए ऐसे कमेंट्स..

  • undefined मीडिया यूजर्स प्रियंका की फोटो और उसके कैप्शन पर अपने-अपने तरीके से रिएक्ट कर रहे हैं। यूजर्स ने प्रियंका से सवाल पूछा है कि क्या कभी वे कश्मीरी पंडितों के बीच भी गई हैं? इसके अलावा, उन्हें यह सलाह भी दी गई है कि कभी उन्हें देश के अंदर झांककर भी देखना चाहिए। क्योंकि गरीबी यहां भी कम नहीं है। एक यूजर ने लिखा है, “कभी कश्मीरी पंडितों के बारे में भी सोचना…वो तो अपने देश के थे।” एक अन्य यूजर ने लिखा, ” इंडिया से कमाते हो और दूसरे देशों में बांटते हो।” वहीं एक यूजर ने सलाह दी कि प्रियंका को पाकिस्तान भी जाना चाहिए, वहां हिंदू नरक की जिंदगी जी रहे हैं। वे सलाखों के पीछे नहीं हैं, लेकिन कैदियों की तरह रहने को मजबूर हैं।” एक ट्रोलर ने प्रियंका से सवाल किया है कि वे कितने रोहिंग्या बच्चों को गोद ले रही हैं। वहीं, कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने इसे प्रियंका का पब्लिसिटी स्टंट बताते हुए चैलेंज दिया है कि असली चैरिटी तो तब होगी,जब वे किसी रोहिंग्या से शादी कर लेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *