पाक में चैनल बंद, बाहर हुए पत्रकारों ने अपनाया मोदी का फंडा…

पाकिस्तान की मीडिया के अंदर इन दिनों कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर मीडिया संस्थानों को दबाने का आरोप लगा है। उन पर यह आरोप यहां के पत्रकारों ने लगाया है। बताया जा रहा है कि इसी दबाव के चलते एक न्यूज चैनल का संचालन ही बंद कर दिया गया है और सभी पत्रकारों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

लेकिन इस बीच एक ऐसा विडियो वायरल हुआ है, जिसमें निष्कासित पत्रकार मोदी की कही बातों पर अमल करते हुए दिखाई दे रहे हैं। दरअसल इमरान सरकार का ध्यान खींचने और अपना विरोध जताने के लिए कई पत्रकारों ने पाकिस्तानी संसद के बाहर पकौड़े तलने शुरू कर दिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में इन दिनों आर्थिक बदहाली से जूझ रहा है। लिहाजा इमरान की सत्ता वाली सरकार इस बदहाली से निपटने के लिए तरह-तरह के पैतरे अपना रही है। इस बीच नवनिर्वाचित सरकार मीडिया संस्थानों पर भी नियंत्रण की कोशिश कर रही है, जिसके चलते पाकिस्तान के कुछ भागों में मीडिया चैनलों के प्रसारण रोक दिया गया है।

सरकार ने मीडिया घरानों को सरकारी विज्ञापनों के रूप में दी जा रही सब्सिडी पर भी रोक लगा दी है, जिसकी वजह से अब कई पत्रकारों को नौकरी से निकाला जा रहा है। इतना ही नहीं कई संस्थानों में पत्रकारों को सैलरी देर से मिल रही है। सरकारी मदद न मिलने की वजह से उर्दू न्यूज चैनल ‘वक्त न्यूज’ का ऑपरेशन हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है और सभी पत्रकारों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। इन्हीं निकाले गए पत्रकारों ने संसद भवन के सामने पकौड़े तले और उसे स्टॉल लगाकर बेचा।

वहीं पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) भी पत्रकारों के समर्थन में आ गई है। पीपीपी के मुखिया बिलावल भुट्टो पत्रकारों के समर्थन में पहुंचे। उन्होंने पत्रकारों से बात की और इस मामलें का निपटारा करने का भरोसा दिलाया। इस दौरान भुट्टो ने देश में हो रहे पत्रकारों पर हमले की निंदा की।

सरकारी न्यूज चैनल ने प्रधानमंत्री का कुछ यूं बना दिया मजाक

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण के लाइव प्रसारण के दौरान यहां के एक टीवी चैनल ने ऐसे शब्द का इस्तेमाल कर दिया, जिसे लेकर उसे माफी मांगनी पड़ गई। यह गलती किसी और चैनल से नहीं बल्कि सरकारी न्यूज चैनल ‘पीटीवी’ से हुई है।

दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस समय चीन की आधिकारिक यात्रा पर हैं और वे रविवार को बीजिंग स्थित सेंट्रल पार्टी स्कूल में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे, जिसका सीधा प्रसारण पाकिस्तान टेलिविजन कॉरपोरेशन (पीटीवी) चैनल पर हो रहा था। इमरान खान के इसी भाषण के लाइव प्रसारण के दौरान स्क्रीन पर ‘बीजिंग’ की जगह अंग्रेजी शब्द ‘बेगिंग’ (भीख मांगना) लिख दिया, टीवी स्क्रीन पर यह शब्द करीब 20 सेकेंड तक दिखता रहा, जिसे बाद में बदल दिया गया। हालांकि इसके बाद सोशल मीडिया पर चैनल की जमकर आलोचना हुई।

हालांकि इसके बाद, पीटीवी न्यूज के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया, ‘चीन की यात्रा पर गए प्रधानमंत्री के संबोधन के आज सीधे प्रसारण के दौरान वर्तनी से संबंधित गलती हुई। यह गलती करीब 20 सेकेंड तक बनी रही, जिसे बाद में हटा लिया गया। इस घटना पर हमें खेद है। संबंधित अधिकारियों के खिलाफ नियम के तहत कार्रवाई शुरू कर दी गई है।’

स्थानीय मीडिया के अनुसार यह चूक इसलिए भी खासतौर पर मजाक का पात्र बन गई, क्योंकि खान आसन्न आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को इस संकट से उबारने की अपनी कोशिश के तहत चीन की यात्रा कर रहे हैं।

वहीं, पाकिस्तान के सूचना-प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने पीटीवी द्वारा दिखाए गए ‘डेटलाइन स्लग’ (जगह का नाम) को लेकर हुई व्यापक आलोचना के संदर्भ में जांच के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *