पाक ने तुर्की से की बात, इमरान बोले- हर हालात के लिए तैयार रहें

भारत की कार्रवाई के बाद पाक में मची खलबली, चीन बोला- ‘संयम बरतें’

चीन ने पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर भारत के हवाई हमले के बाद ‘संयम’ बरतने का आह्वान किया है. चीन हमेशा पाकिस्तान का बचाव करता रहा है. जैश ए मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने में भी चीन ने अड़ंगा लगा रखा है.

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना (Indian air force) के लड़ाकू विमानों ‘मिराज 2000 (Mirage 2000)’ की ओर से मंगलवार तड़के नियंत्रण रेखा पार कर पाकिस्तान में आतंकवादी ठिकानों पर की गई बमबारी की गूंज पूरी दुनिया में हो रही है. इस कार्रवाई् के बाद पाकिस्तान में पूरी तरह खलबली मची हुई है. वहीं पाकिस्तान के दोस्त चीन ने इस पर बयान जारी किया है. चीन ने पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर भारत के हवाई हमले के बाद ‘संयम’ बरतने का आह्वान किया है.

चीन की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘इस एयर स्ट्राइक से इतर भारत और पाकिस्तान मिलकर द्विपक्षीय संबंधों में सुधार करें. दक्षिण एशिया में शांति कायम रखने के लिए दोनों देशों के बीच स्थिरता जरूरी है.’

सके बाद चीन की पहली प्रतिक्रिया आई है। चीन ने मंगलवार को भारत और पाकिस्तान से ‘संयम बरतने’ का आह्वान किया और नयी दिल्ली से आतंकवाद के खिलाफ अपनी लड़ाई अंतरराष्ट्रीय सहयोग के जरिए जारी रखने को कहा

चीन की यह टिप्पणी तड़के पाकिस्तान में आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर पर भारतीय लड़ाकू विमानों के हमले के कुछ घंटे बाद आई है। पाकिस्तान में आतंकवादी शिविरों पर भारत के हवाई हमलों के संबंध में चीन की प्रतिक्रिया पूछे जाने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने यहां मीडिया से कहा, ‘हमने संबंधित खबरों को देखा है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं कहना चाहता हूं कि भारत और पाकिस्तान दक्षिण एशिया में दो महत्वपूर्ण देश है। दोनों के बीच मधुर संबंध और सहयोग दोनों देशों के हित में है और दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता के लिए भी अहम है।’

न्होंने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि भारत और पाकिस्तान संयम बरतेंगे तथा अपने द्विपक्षीय रिश्तों को परस्पर और मजबूत करेंगे।’ पुलवामा हमले के बाद त्वरित एवं सटीक हवाई हमले में भारत ने मंगलवार को तड़के पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को ध्वस्त कर दिया।

इस कार्रवाई में बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक और वरिष्ठ कमांडर ढेर हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। गैर सैन्य और एहतियातन हमला बताए जा रहे इस अभियान की समूचे राजनीतिक परिदृश्य और सैन्य विशेषज्ञों ने सराहना की है जो 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से प्रतिशोध की वकालत कर रहे थे। गौरतलब है कि 12 दिन पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए आत्मघाती हमले में बल के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली थी।

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों की ओर से बरसाए गए बम की गूंज पाकिस्तानी संसद में भी सुनने को मिली. यहां विपक्षी नेताओं ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का नाम लेकर ‘शर्म करो…’ के नारे लगाए. इस्लामाबाद में पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा कि भारत ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है और पाकिस्तान को जवाब देने का हक है.

विदेश मंत्रालय में विचार-विमर्श के लिए आयोजित उच्चाधिकारियों की ‘आपात बैठक’ के कुरैशी ने संवाददाताओं से कहा, ‘पहले तो उन्होंने आज पाकिस्तान के खिलाफ उकसावे की कार्रवाई की. यह नियंत्रण रेखा का उल्लंघन है. मैं इसे नियंत्रण रेखा का उल्लंघन मानता हूं और पाकिस्तान को आत्मरक्षा के लिए समुचित जवाब देने का हक है.’ विदेश मंत्रालय में बैठक के बाद कुरैशी ने प्रधानमंत्री खान को इसकी जानकारी दी.

इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) का उल्लंघन किया है.

सेना की मीडिया शाखा अंतर-सेवा जन संपर्क (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया है, ‘भारतीय वायुसेना के विमान मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसे. पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से समय पर और प्रभावी जवाब मिलने के बाद वह जल्दबाजी में अपने बम गिरा कर बालाकोट के करीब से बाहर निकल गए. जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है.’

उन्होंने लिखा है, ‘भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है. पाकिस्तानी वायुसेना ने तुरंत जवाब दिया. भारतीय विमान लौट गए.’ घंटों बाद आईएसपीआर ने कहा कि भारतीय विमान मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा के भीतर पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में सिर्फ तीन-चार मील ही अंदर घुसे थे.

आईएसपीआर का कहना है, ‘जल्दबाजी में वापस लौटते हुए विमानों ने बम गिराए जो खाली मैदानों में गिरे. किसी अवसंरचना को नुकसान नहीं पहुंचा है. कोई हताहत नहीं हुआ है. तकनीकी जानकारी और अन्य महत्वपूर्ण सूचनाएं जल्दी ही मिलेंगी.’ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख नेता सीनेटर शेरी रहमान ने कहा कि भारत द्वारा नियंत्रण रेखा का उल्लंघन गलत कदम है.

हाइलाइट्स

: भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने मंगलवार कड़के नियंत्रण रेखा (LoC) पार करके पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के टेरर कैंप्स को तबाह कर दिया. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के करीब दो हफ्ते बाद किए गए वायुसेना के इस हमले को सर्जिकल स्ट्राइक-2 का नाम दिया जा रहा है. इस बीच राजस्थान के चुरू में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह देश सुरक्षित हाथों में है. इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा.’
वहीं आतंकी कैप्स पर भारतीय वायुसेना के इस हमले को लेकर विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा, ‘इस हमले में जैश के कई आतंकी, ट्रेनर्स और सीनियर कमांडर मारे गए हैं. इस कैंप को जैश सरगना मसूद अजहर का साला मौलाना यूसुफ अजहर चला रहा था.’ वहीं भारतीय वायुसेना से जुड़े सूत्रों ने NEWS18 को बताया कि वायुसेना के विमानों ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार आतंकी कैंप्स पर करीब 1000 किलोग्राम के बम बरसाए. उन्होंने साथ ही बताया कि इस हमले में करीब 200-300 आतंकियों की मौत हो गई.
इस हमले के बाद भारत-पाकिस्तान सीमा पर तनाव बढ़ने की आशंका है, जिसे देखते हुए सीमा पर तैनात सभी सुरक्षाबलों को अलर्ट कर रखा गया है. उधर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा भारतीय वायुसेना के इस हमले को उकसावे वाली कार्रवाई करार दिया और कहा कि पाकिस्तान के पास आत्मरक्षा और जवाबी कार्रवाई का अधिकार है. वहीं इस हमले को लेकर पाकिस्तान की संसद में आज जबरदस्त हंगामा हुआ. इस दौरान विपक्षी सासंदों ने इमरान खान के विरोध में में नारे लगाए.
इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर वायुसेना के हमले की जानकारी दी है. वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है. शाम पांच बजे होने वाली इस बैठक में सभी दलों के साथ पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के खिलाफ वायुसेना के इस हमले की जानकारी साझा की जाएगी.

3:27 pm (IST)

वहीं इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी ने कल एक विशेष बैठक बुलाई है. पार्टी की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा है कि इमरान खान ने पाकिस्तान के लोगों और सैन्य बलों सहित सभी राष्ट्रीय शक्तियों को हर हालात के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है.

खुफिया सूत्रों ने बताया कि बालाकोट में जैश के कैंप पर हमले में करीब 200 एके राइफल्स, अनगिनत हथगोले, विस्फोटक और डेटोनेटर तबाह हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *