पाक एजेंसियों ने लौटाये भारतीय उच्चायोग इफ्तार पार्टी मेहमान

पाक एजेंसियों ने भारतीय उच्चायोग के मेहमानों के साथ बदसलूकी करते हुए उन्हें फोन पर भी धमकी दी। सूत्रों के मुताबिक पाक एजेंसियों ने आमंत्रित लोगों को गुप्त नंबरों से फोन किया और भारत की ओर से आयोजित इफ्तार में शामिल होने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी।                                                                                                        पाकिस्तान ने फिर की बदसलूकी

  • इस्लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास में आयोजित इफ्तार पार्टी के मेहमानों को पाक प्रशासन की ओर से रोके जाने का मामला सामने आया है
  • पार्टी में आने वाले करीब सैकड़ों मेहमानों को एजेंसियों ने वापस भेज दिया। यही नहीं उनका उत्पीड़न भी किया गया
  •   गुप्त नंबरों से फोन किया और इफ्तार में शामिल होने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी
  • भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी, प्रधानमंत्री इमरान खान और अन्य राजनीतिक गणमान्य लोगों को निमंत्रण भेजा गया था
  • इस्‍लामाबाद : भारत और पाकिस्‍तान के बीच हाल के दिनों में कुछ हद तक तनाव कम देखने को मिला था, जिससे उम्‍मीद की जा रही थी कि दोनों देशों के संबंध एक बार फिर से पटरी पर लौट सकते हैं। लेकिन पाकिस्‍तान स्थित भारतीय उच्‍चायोग की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी के दौरान जिस तरह से मेहमानों के साथ पाकिस्‍तानी एजेंसियों ने दुव्‍यर्वहार किया, उससे ऐसी उम्‍मीदों को बड़ा झटका लगा है।भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। पाकिस्‍तान में भारत के उच्‍चायुक्‍त अजय बिसारिया ने कहा कि ऐसा करके पाकिस्‍तानी एजेंसियों ने न केवल कूटनीतिक आचारण और सभ्‍य व्यवहार के मानकों का उल्‍लंघन किया है, बल्कि उनका यह व्‍यवहार द्विपक्षीय संबंधों को सामान्‍य बनाने की दिशा में उठाए जाने वाले कदमों के भी विपरीत है और उस पर असर डालने वाला है।View image on Twitter

    बिसारिया यहां भारतीय उच्‍चायोग की ओर से होटल सेरेना में शनिवार को आयोजित इफ्तार पार्टी के लिए पहुंचे मेहमानों से पाकिस्‍तानी एजेंसियों द्वारा बदसलूकी किए जाने के बाद बोल रहे थे। आरोप है कि पाकिस्‍तानी एजेंसियों ने सैकड़ों मेहमानों को होटल के अंदर भी नहीं जाने दिया। इतना ही नहीं उनके साथ मारपीट भी की गई और उन्‍हें धमकी दी गई कि अगर उन्‍होंने भारतीय उच्‍चायोग की ओर से आयोजित इफ्तार में हिस्‍सा लिया तो इसके गंभीर नतीजे होंगे।

    बिसारिया ने मेहमानों से माफी भी मांगी, जिन्‍हें पाकिस्‍तानी अधिकारियों के कारण दुव्‍यर्वहार व उत्‍पीड़न का सामना करना पड़ा। उन्‍होंने कहा, ‘हम हमारे सभी अतिथियों से माफी मांगते हैं, जिन्‍हें हमारी इफ्तार पार्टी से कल (शनिवार) जबरन भेज दिया गया। इस तरह का धमकीभरा रवैया बेहद निराशाजनक है।’

    पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायुक्त में आयोजित इफ्तार पार्टी में आमंत्रित भारतीय राजनयिकों उस वक्त अपमान का सामना करना पड़ा जब वहां जाने के लिए उनके साथ गलत व्यवहार किया गया. मिली जानकारी के अनुसार भारतीय उच्चायुक्त ने शनिवार को इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था. वहां जाने के लिए जब मेहमान और अन्य भारतीय राजनयिक पहुंचे तो सिक्योरिटी गार्ड्स ने उनके साथ बदतमीजी की.
    भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी, प्रधानमंत्री इमरान खान और अन्य राजनीतिक गणमान्य लोगों को निमंत्रण भेजा गया था. हालांकि अल्वी और खान, भारतीय उच्चायुक्त के निमंत्रण पर पार्टी में पहुंचे नहीं.
    पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के नेता फरहातुल्लाह बाबर ने ट्वीट कर कहा कि सेरेना होटल में बैरिकेटिंग लगी है. उन्हें रोक कर कहा गया कि पार्टी कैंसिल हो गई है. बाबर ने लिखा- ‘भारतीय उच्चायुक्त द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी में शामिल होने के लिए सेरेना होटल पहुंचा. होटल के आस पास बैरिकेंटिंग की गई है. बताया गया कि इफ्तार रद्द कर दिया गया है. जब कोशिश की तो मुझे बताया गया की दूसरे गेट से जाऊं. दूसरा गेट भी बंद है और मुझे वापस फ्रंट गेट की ओर जाने के लिए कहा गया. क्या हो रहा है, कुछ तो गड़बड़ है.’

    उच्चायुक्त ने मांगी माफी
    बिसारिया ने मेहमानों से माफी भी मांगी, जिन्‍हें पाकिस्‍तानी अधिकारियों के कारण दुव्‍यर्वहार व उत्‍पीड़न का सामना करना पड़ा। उन्‍होंने कहा, ‘हम हमारे सभी अतिथियों से माफी मांगते हैं, जिन्‍हें हमारी इफ्तार पार्टी से कल (शनिवार) जबरन भेज दिया गया। इस तरह का धमकीभरा रवैया बेहद निराशाजनक है।’
    एक वीडियो में बिसारिया ने कहा, मैं उन लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जो यहां आए हैं. खासकर उन मेहमानों का जो कराची और लाहौर से यहां पहुंचे हैं. साथ ही माफी मांगता हूं कि लोगों को अंदर आने में काफी परेशानी हुई और कई दोस्त यहां तक नहीं आ सके हैं.
    समाचार एजेंसी ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तानी एजेंसियों ने होटल पर ‘घेराबंदी’ की और’सैकड़ों मेहमानों को परेशान किया, डराया और धमकाया’ गया. एक सूत्र ने कहा, ‘इससे पहले, उन्होंने आमंत्रितों को बुलाया और इफ्तार में भाग लेने पर उन्हें परिणाम भुगतने की की धमकी दी

 सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तानी एजेंसियों ने होटल सेरेना में आयोजित की गई इफ्तार पार्टी का रास्ता रोकने का प्रयास किया । शनिवार की पार्टी में आने वाले करीब सैकड़ों मेहमानों को एजेंसियों ने वापस भेज दिया। यही नहीं ,उनका उत्पीड़न भी किया गया।
यही नहीं एजेंसियों ने भारतीय उच्चायोग के मेहमानों के साथ बदसलूकी करते हुए उन्हें फोन पर भी धमकी दी। सूत्रों के मुताबिक पाक एजेंसियों ने आमंत्रित लोगों को गुप्त नंबरों से फोन किया और भारत की ओर से आयोजित इफ्तार में शामिल होने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी।
इस पर टिप्पणी करते हुए पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने कहा कि हम अपने उन सभी मेहमानों से माफी मांगते हैं, जिन्हें वापस लौटा दिया गया। पाक एजेंसियों की इस तरह की हरकत निराशाजनक है। उन्होंने कहा, ‘पाक अधिकारियों ने न सिर्फ कूटनीतिक प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया बल्कि असभ्य व्यवहार किया। इससे द्विपक्षीय संबंधों पर असर पड़ेगा।’बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में एक बार फिर से जीत दर्ज करने के बाद बिम्सटेक देशों के राष्ट्राध्यक्षों को अपने शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया, लेकिन पाकिस्तान को इससे दूर ही रखा। यही नहीं पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने उन्हें बधाई देने के लिए फोन किया तो उन्हें भी नसीहत दी कि क्षेत्र में आतंक मुक्त वातावरण होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *