पहली बार रक्षा क्षेत्र को 3 लाख करोड़ से ज्‍यादा, जवानों के भत्‍ते में भी इजाफा

2019-20 को रक्षा क्षेत्र को 3,05,296 करोड़ रूपये दिए गए

उन्‍होंने यह भी साफ किया कि अगर देश की सीमाओं को सुरक्षित और बेहतर बनाए रखने के लिए अगर जरूरत होगी तो और पैसा दिया जाएगा. हाई रिस्क में ड्यूटी कर देश की रक्षा करने वाले जवानों के साहस को सलाम करते हुए उनके भत्ते में भी इजाफा किया गया है.

गोयल ने संसद में कहा कि हमारे सैनिक दुर्गम हालातों में हमारी सीमाओं की रक्षा करते हैं और वे हमारा गर्व और सम्‍मान हैं. लिहाजा सरकार ने उनके सम्‍मान पर महत्‍वपूर्ण रूप से ध्‍यान दिया है. उन्‍होंने कहा कि वक रैंक, वन पेंशन (ओआरओपी) का मुद्दा, जो पिछले 40 सालों से लंबित था, अब इसे हल कर दिया गया है. पिछली  सरकार ने तीन बजटों में इसकी घोषणा की थी, लेकिन 2014-15 के अंतरिम बजट में मात्र 500 करोड़ रूपये का आवंटन किया गया. इसकी तुलना में सच्‍ची भावना के साथ हम पहले से ही 35,000 करोड़ रूपये से ही अधिक आवंटन कर चुके हैं.

उन्‍होंने कहा वक सरकार सभी सेना कर्मियों की सैन्‍य सेवा वेतनमान (एमएसपी) में महत्‍वपूर्ण रूप से बढोत्‍तरी और अत्‍याधिक जोखिम भरे क्षेत्रों में तैनात नौसेना और वायुसेना कर्मियों को विशेष भत्‍ते दिए जाने की घोषणा कर चुकी है.

जब बजट के दौरान संसद में लगे मोदी-मोदी के नारे, तब ऐसा था राहुल गांधी का रिएक्शन

संसद में मोदी-मोदी के नारे लगने लगे और राहुल गांधी मुंह में हाथ रखकर बैठे रहे.

जब बजट के दौरान संसद में लगे मोदी-मोदी के नारे, तब ऐसा था राहुल गांधी का रिएक्शन

राहुल गांधी ने मोदी-मोदी के नारों पर ऐसा दिया रिएक्‍शन. मोदी सरकार मे अपने कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया और हर वर्ग का खास ख्याल रखा. उन्होंने मिडिल क्लास को बंपर राहत दी जबकि किसानों का भी विशेष ख्याल रखा. मजदूरों को मासिक पेंशन देकर उन्होंने उनका सम्मान किया. पीयूष गोयल जैसे-जैसे घोषणा कर रहे थे, बीजेपी सांसद मेज थपथपाकर घोषणाओं का स्वागत कर रहे थे. जैसे ही केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने 5 लाख तक की आय को टैक्स फ्री करने की घोषणा की. संसद में मोदी-मोदी के नारे लगने लगे और राहुल गांधी मुंह में हाथ रखकर बैठे रहे.
चुनाव से पहले मोदी सरकार ने करदाताओं के लिए बहुत बड़ी घोषणा की. मोदी सरकार ने घोषणा की पांच लाख से ऊपर आय वालों को 13 हजार रुपये का फायदा होगा. इसी के साथ एफडी के ब्याज पर 40 हजार तक टैक्स नहीं देना होगा. अबतक 10 हजार  ब्याज पर टैक्स नहीं था. निवेश के साथ 6.5 लाख रुपये की आय पर कोई टैक्‍स नहीं देना होगा. महिलाओं को बैंक से 40 हजार तक ब्‍याज पर टैक्‍स नहीं देना होगा.

वेतनभोगियों को बड़ी खुशखबरी दी है. गोयल ने ग्रेच्युटी भुगतान सीमा को 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये कर दिया गया है. इसका मतलब यह है कि अब लगभग पांच साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया गया है.

इसकी घोषणा होते ही सांसदों ने खुशी से मोदी-मोदी के नारे लगाने शुरू किए, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मुंह लटकाए संसद में बैठे नजर आए. ऐसा लगा मानों लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के सिक्सर से राहुल गांधी गहरा धक्का लगा है.

जब आडवाणी ने बजट के बीच पीयूष गोयल को ‘उरी..’ की याद दिलाई

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अखबार ‘ऑर्गनाइजर’ में एक फिल्म समीक्षक रह चुके आडवाणी ने हाल ही में ‘उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ फिल्म देखी.

Budget2019: जब आडवाणी ने बजट के बीच पीयूष गोयल को 'उरी..' की याद दिलाई

‘उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ वर्ष 2016 में पाकिस्तानी आतंकी ठिकानों पर भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर आधारित है.

आडवाणी द्वारा याद दिलाए जाने के बाद गोयल ने फिल्म की प्रशंसा करते हुए कहा, “मुझे भी हाल ही में इस फिल्म को देखने का अवसर मिला..’क्या जोश था क्या माहौल था.”जैसे ही गोयल ने फिल्म के बारे में बात की, परेश रावल सहित कई भाजपा नेताओं ने मेज थपथपाकर खुशी व्यक्त की. फिल्म में परेश रावल भी प्रमुख भूमिका में हैं.

इससे पहले भी, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे कई राजनीतिज्ञों ने फिल्म की प्रशंसा की है. यहां तक कि मोदी ने एक कार्यक्रम में फिल्म-उद्योग का अभिवादन करते हुए कहा था कि ‘हाउज द जोश.”उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ वर्ष 2016 में पाकिस्तानी आतंकी ठिकानों पर भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर आधारित है. यह सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तानी आतंकियों द्वारा उरी वायुसेना अड्डे पर किए गए हमले के बाद की गई थी. उरी आतंकी हमले में कई सैनिक मारे गए थे.यह फिल्म 11 जनवरी को रिलीज हुई थी, जिसमें यामी गौतम और मोहित रैना जैसे सितारे प्रमुख भूमिकाओं में हैं.

 मोदी सरकार के बजट से पहली बार खुश हुआ बॉलीवुड

हाल ही में एंटरटेनमेंट सेक्टर को बड़ी राहत देते हुए सरकार ने जीएसटी को 12 फीसदी करने की घोषणा की थी

Budget 2019: मोदी सरकार के बजट से पहली बार खुश हुआ बॉलीवुड

वित्त मंत्री पियूष गोयल आज संसद में साल 2019 का बजट पेश किया है. इस बजट के दौरान पियूष गोयल ने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री को रोजगार देने वाले प्रमुख उद्योगों में से एक माना है. उन्होंने अपनी बात रखते हुए फिल्म इंडस्ट्री के लिए दो बड़ी घोषणाएं की हैं, जो सही मायनों में फिल्म इंडस्ट्री के लिए काफी कारगर साबित होंगी.

फिल्म इंडस्ट्री के लिए हुईं दो घोषणाएं

साल 2019-20 का बजट आज वित्त मंत्री पियूष गोयल ने पेश कर दिया है. इस दौरान उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री के लिए दो बड़ी घोषणाएं की हैं. पहली घोषणा के अंतर्गत भारत में फिल्म शूट करने वाले सभी निर्देशकों को सिंगल विंडो क्लीयरेंस देने की घोषणा की. दूसरी उन्होंने फिल्म के जरिए रोजगार बढ़ाने की बात पर जोर दिया. इस दौरान वित्त मंत्री ने फिल्म ‘उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक’ देखने की बात भी कही, जिसके बाद संसद में जोर-जोर से तालियां बजीं.

विदेशी फिल्म निर्देशकों को मिलती थी छूट

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, कुछ दिनों पहले ही फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े दिग्गजों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी, जिसमें उन्होंने टिकट की कीमत घटाने को लेकर बात की थी, जिसके बाद टिकटों की कीमत कम कर दी गई. एंटरटेनमेंट सेक्टर को बड़ी राहत देते हुए जीएसटी को 12 फीसदी करने की घोषणा की थी, जिससे बॉलीवुड तो खुश था ही लेकिन इससे पहले सिंगल विंडो क्लीयरेंस मात्र विदेशी फिल्म निर्देशकों को ही मिलता था लेकिन अब भारत के किसी भी भाषा में फिल्म शूट करने वाले निर्देशकों को इसका लाभ मिलेगा. इससे भी बॉलीवुड बेहद खुश है. अब लोगों को दर दर भटकना नहीं पड़ेगा. एक ही विंडो से सभी काम हो जाएंगे. वहीं, इस दौरान उन्होंने सिनेमैटोग्राफी एक्ट को सख्त करने की भी बात कही, जिसके अंतर्गत पायरेसी को रोका जाएगा. काफी समय से फिल्म इंडस्ट्री के लोग सिंगल विंडो क्लीयरेंस की मांग कर रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *