पंजाब: कैप्टन पर बयान,सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू राज्‍य की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। एक तरह जहां मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से माफी मांगने के लिए उन पर दबाव बढ़ता जा रहा है, वहीं सिद्धू इसके मूड में दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। सिद्धू का मुद्दा सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में उठ सकता है।

हाइलाइट्स

  • पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर माफी मांगने का बढ़ा दबाव
  •  राज्‍य कैबिनेट बैठक में उठ सकता है सिद्धू का मुद्दा
  • सिद्धू ने कहा था, ‘मेरे कैप्‍टन राहुल गांधी हैं, अमरिंदर सेना के एक कैप्‍टन थे’
  • कहा जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू इस बैठक में शामिल नहीं होंगे
चंडीगढ़ :कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को अपना ‘कैप्‍टन’ बताकर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर तंज कसने वाले पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ राज्य के 18 मंत्रियों ने मोर्चा खोल दिया है। पंजाब के इन मंत्रियों की मांग है कि सिद्धू सीएम से माफी मांगें। वहीं सिद्धू अमरिंदर से माफी मांगने के मूड में नहीं दिख रहे हैं। आज शाम पंजाब सरकार की कैबिनेट बैठक भी होने जा रही है। माना जा रहा है कि कैप्‍टन के वफादार मंत्री बैठक में सिद्धू का मुद्दा उठा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक ये सभी मंत्री सिद्धू के माफी न मांगने पर उनपर इस्तीफे का दबाव बनाने के लिए कैबिनेट में प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहे हैं। इस बीच, ऐसी भी खबरें हैं कि सिद्धू इस बैठक में शामिल नहीं होंगे।
क्या था सिद्धू का कैप्टन पर तंज
सिद्धू ने हैदराबाद में अमरिंदर का उस वक्त मजाक उड़ाया था जब पत्रकारों ने उनसे करतारपुर गलियारे के शिलान्यास समारोह में शिरकत को लेकर हुई उनकी पाकिस्तान यात्रा के बारे में पूछा था। सिद्धू ने कहा था, ‘राहुल गांधी मेरे कैप्टन हैं। उन्होंने मुझे पाकिस्तान भेजा। राहुल गांधी कैप्टन (अमरिंदर) के भी कैप्टन हैं।’ इस बयान के बाद से सिद्धू अमरिंदर के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेताओं के निशाने पर हैं।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

ANI
 ✔@ANI

Punjab: Posters with ‘Punjab Da Captain Sadda Captain’ printed on them, seen in different parts of Ludhiana.

मंत्रियों ने खोला सिद्धू के खिलाफ मोर्चा
पंजाब के मंत्री तृप्‍त रजिंदर सिंह बाजवा ने सिद्धू से कहा कि वह या तो इस्‍तीफा दें या माफी मांगें। इस बीच खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह ने कहा, ‘मेरे कैबिनेट के ज्‍यादातर साथी चाहेंगे कि इस मुद्दे पर कैबिनेट की बैठक में चर्चा हो। विशेषकर इसलिए कि इसने लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी को कमजोर किया है।’ राज्‍य के एक अन्‍य मंत्री ने कहा, ‘अमरिंदर सिंह के ज्‍यादातर वफादार मंत्री इस मुद्दे को कैबिनेट में उठाने के लिए उत्‍सुक हैं।’ रविवार को पंजाब सरकार में मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने भी कहा था, ‘मैं यह सुनकर थोड़ा नाराज हूं (नवजोत सिंह सिद्धू का बयान), बिल्‍कुल राहुल गांधी हमारे इंडियन कैप्टन हैं लेकिन सिद्धू यह भूल गए कि अमरिंदरजी हमारे  मुख्यमंत्री हैं। उन्हें सम्मान करना चाहिए, यह कपिल शर्मा का शो नहीं है।’

“ऐसा लगता है कि सिद्धू साहिब भूल गए हैं कि वह मंत्री हैं। उन्हें समझना चाहिए कि वह यहां कोई कॉमिडी शो नहीं कर रहे। उन्हें बड़ों का सम्मान करना सीखना चाहिए और मुख्यमंत्री से माफी मांगनी चाहिए।”-साधु सिंह धरमसोत, पंजाब सरकार में वन मंत्री

बयान पर अभी भी अड़े हैं सिद्धू
चौतरफा घिरने का बावजूद सिद्धू अपने बयान पर अड़े हैं। बकौल सिद्धू उन्‍होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। राजस्‍थान में चुनाव प्रचार कर रहे सिद्धू ने कहा, ‘मैं ऐसे स्‍थान पर रहता हूं जहां दिमाग बिना भय के रहता है और सिर ऊंचा रहता है।’

पत्नी बोलीं, सिद्धू के पिता जैसे हैं कैप्टन
सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने रविवार को उनके बचाव में सफाई दी। कौर ने यह कहकर विवाद थामने की कोशिश की है कि उनके पति हमेशा कहते हैं कि कैप्टन साहब उनके पिता के समान हैं। नवजोत कौर सिद्धू ने कहा, ‘नवजोतजी हमेशा कहते हैं कि कैप्टन साहब उनके पिता की तरह हैं। हम यह बात हमेशा स्पष्ट रखते हैं कि कैप्टन साहब का सम्मान सभी चीजों से ऊपर है। सिद्धू का आधा-अधूरा नहीं बल्कि पूरा बयान पढ़ा जाना चाहिए।’

punjab ministers demand navjot singh sidhus resignation

पंजाब: सीएम अमरिंदर से असहमति जताने पर मंत्रियों ने मांगा नवजोत सिद्धू का इस्ती…
  • फाइल फोटो: कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *