भाजपा की फायरब्रांड नेता साध्वी प्राची तृणमूल कांग्रेस सांसद नुसरत के समर्थन में आ गई हैं। साध्वी प्राची ने टीएमसी सांसद नुसरत जहां के मंगलसूत्र पहनने पर दिए मुस्लिम फतवे पर जोरदार तंज कसा है।साध्वी प्राची ने कहा है कि अगर मुस्लिम महिलाएं किसी हिंदू से शादी कर लें और उसके बाद बिंदी-मंगलसूत्र पहने तो ये मुस्लिम मौलवी उसे हराम कहते हैं, लेकिन अगर कोई मुस्लिम, लव जिहाद के जरिए हिंदू युवती से शादी कर उसे बुर्का पहनाते हैं वह हराम नहीं है, वह जायज होता है।


साध्वी प्राची ने कहा कि अगर मुस्लिम मौलवियों को फतवे ही जारी करने थे तो तीन तलाक के समर्थन में करते, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बल्कि इन्होंने नुसरत जहां के खिलाफ फतवा जारी कर दिया है कि उसने मंगलसूत्र क्यों पहना। साध्वी प्राची ने बेहद सख्त लहजे में कहा कि अगर यह मौलवी अभी नहीं सुधरे तो मुझे लगता है कि यह कुछ समय में पूरे इस्लाम को भी हराम करार दे देंगे।

देवबंद ने जारी किया था फतवा
बता दें, टीएमसी सांसद नुसरत जहां मंगलवार को जब शपथ लेने संसद पहुंचीं तो वह सत्र के दौरान पारंपर‍िक अंदाज में नजर आईं। नुसरत ने माथे पर सिंदूर, हाथों में मेहंदी और चूड़ा पहना हुआ था। उनकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी, जिसके बाद देवबंदी उलेमा ने इस पर एतराज जताते हुए नुसरत जहां के खिलाफ फतवा जारी कर दिया था। बंगाल के बशीरहाट से निर्वाचित टीएमसी सांसद के हिंदू लड़के से विवाह करने और उसके बाद मंगलसूत्र पहनने पर देवबंदी उलेमा ने ऐतराज जताया। सहारनपुर के इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने नुसरत के मंगलसूत्र पहनने पर फतवा जारी किया है। नुसरत जहां ने हाल ही में कोलकाता के बिजनसमैन निखिल जैन से शादी की है। शादी के बाद सांसद नुसरत जहां संसद में शपथ लेने पहुंची थीं।

पश्चिम बंगाल से टीएमसी की सांसद नुसरत जहां जब मंगलवार, 25 जून 2019 को संसद पहुंची तो सुर्खियों में छा गईं। दरअसल हाल ही में शादी के बंधन में बंधी अभिनेत्री और सांसद नुसरत हिंदू विवाहिता के परिवेश में दिखीं जिसकी चर्चा चारों ओर होने लगी। वे सफेद व बैंगनी रंग की साड़ी में आई थीं। उनके हाथों में मेहंदी लगी थी। उन्होंने मंगलसूत्र पहन रखा था और सिंदूर भी लगाया था। उनकी शादी बिजनेसमैन निखिल जैन के साथ हुई है।

Image result for nusrat jahan jain

उनके इस अंदाज को लेकर सोशल मीडिया पर एक बहस छिड़ गई। कई यूजर्स ने उनके मंगलसूत्र पहनने और सिंदूर लगाने को लेकर सवाल उठाए। अब इस मामले में देवबंदी उलेमा की प्रतिक्रिया सामने आई है। खबरों के अनुसार देवबंदी उलेमा मुफ्ती असद कासमी, मोहतमिम मदरसा जामिया शेख-उल-हिंद ने कहा,”नुसरत जहां जो बंगाल से अभी अभी लोकसभा सांसद बनी हैं। उनके बारे में पता चला कि मीडिया के माध्यम से कि जब वो लोकसभा पहुंची तो उन्होंने सिंदूर भी लगाया था और मंगलसूत्र भी पहना था। तहकीकात से पता चला कि उन्होंने जैन धर्म में शादी की है। इस्लाम ये कहता है कि मुसलमान सिर्फ मुसलमान से शादी कर सकता है किसी और से नहीं।”

deoband ulema statement on bengal tmc mp nusrat jahan

उन्होने कहा,”नुरसत फिल्मों में काम करती हैं, एक्टर जो होते हैं दीन उनके लिए अहमियत नहीं रखता, उन्हें जो करना होता है वह करते हैं। तो इस विषय में कोई बात करना ही बेकार है। जो शरीयत का हुकुम था वह मैंने मीडिया तक पहुंचाया है।”

इस संबंध में जमीयत दावतुल मुसलमीन के संरक्षक और प्रसिद्ध आलिम-ए-दीन कारी इस्हाक गोरा ने कहा, “आज के समय में हर शख्स समझदार है और उसको खुद पता होता है कि उसने गलत किया है या सही किया है। यह हकीकत है कि इंसान अपने आमाल से इस्लाम में रहता है और खुद अपने तौर तरीकों से ही वह इस्लाम से खारिज हो जाता है। शरीयत में है कि इंसान के अपने आमाल उसके खुद और अल्लाह के दरमियान (बीच) रहते हैं। हम बस अल्लाह से ये दुआ करते हैं कि हर इंसान को अक्ल दे और तमाम हिंदुस्तानियों की हिफाजत फरमाएं।

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस सांसद नुसरत जहां रूही व मिमी चक्रवर्ती ने मंगलवार को 17वीं लोकसभा के सदस्य के तौर पर बांग्ला में शपथ ली। दोनों पहले शपथ नहीं ले सकी थीं। नुसरत जहां ने हाल ही में तुर्की में शादी रचाई और मिमी इस शादी समारोह में गई थीं। नुसरत जहां पश्चिम बंगाल के बशीरहाट से व मिमी चक्रवर्ती जादवपुर से निर्वाचित हुई हैं। दोनों ने बांग्ला में शपथ ली और शपथ के बाद ‘वंदे मातरम’, ‘जय हिंद’ व ‘जय बांग्ला’ का नारा लगाया।

'जन्म से इस्लाम को मानती आई हूं, यही मेरा धर्म रहेगा'

बता दें कि,बंगाली अभिनेत्री और नवनिर्वाचित सांसद नुसरत जहां ने व्यवसायी निखिल जैन के साथ तुर्की के बोडरम में शादी की थी। निखिल की टेक्सटाइल चेन के साथ काम करने के दौरान 29 वर्षीय अभिनेत्री की उनसे मुलाकात हुई थी।