देहरादून, । भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक संसद में सवाल करने, जन संपर्क, सांसद निधि खर्च, पार्टी कार्यकर्ताओं से तालमेल बनाने के साथ ही सोशल मीडिया पर भी खासे सक्रिय रहे। केंद्र की योजनाओं संसदीय क्षेत्र में बखूबी लागू हो, इसे लेकर भी मशक्कत दिखाई दी है। अलबत्ता, सांसद आदर्श गांव को संवारने का प्रयास अभी मंजिल तक पहुंचना बाकी है। क्षेत्र में संतुलित विकास पर ज्यादा फोकस रहा। पिछले पांच वर्ष में सांसद विपक्ष के निशाने पर ही नहीं रहे, बल्कि कई बार अपनी पार्टी के बड़े नेता व वरिष्ठ कार्यकर्ता भी सांसद को घेरने में पीछे नहीं रहे। इसके बावजूद निशंक ने व्यवहार कुशलता को हथियार बना चुनौतियों का बखूबी सामना किया।

संसद में पूछे 640 सवाल

संसद में निशंक की उपस्थित से लेकर सवाल पूछने में निरंतरता बनी रही। गंगा, हिमालय, तीर्थाटन, पर्यटन पर उनके सवाल काफी अहम रहे। संसद में सक्रियता के मामले में निशंक राज्य के अन्य सांसदों से काफी आगे रहे। पांच साल के 17 सत्रों में 640 प्रश्न पूछे।  हिमालयी राज्यों के लिए अलग मंत्रालय के गठन को गैर सरकारी संकल्प के साथ ही निशंक ने शैक्षिक संस्थाओं में योग का अनिवार्यता,  उत्तराखंड के लिए मेगा परिपथ, आइडीपीएल को पुनर्जीवित करने, पलायन पर अंकुश, परमाणु उर्जा, पर्यावरण संरक्षण, हिमालयी राज्यों को ग्रीन बोनस व चारधाम परियोजना से जुड़े सवाल संसद में उठाए।

  • वर्ष          पूछे गए प्रश्न
  • 2014-15:    126
  • 2015-16:    145
  • 2016-17:    116
  • 2017-18:    121
  • 2018-19:    132

सांसद निधि खर्च

सांसद निधि खर्च करने के मामले में भी सांसद का प्रदर्शन संतोषजनक रहा। संसदीय क्षेत्र की सभी 14 विधानसभाओं में विकास की गति संतुलित रहे, इस पर भी ध्यान दिया गया। सीसी रोड, विद्यालय, कक्षा कक्ष, हैडपंप, ई लर्निंग, सोलर स्ट्रीट लाइट, स्वच्छता, बिजली, पानी आदि की मूलभूत जरूरतों को वरीयता दी गई। प्रतिवर्ष पांच करोड़ की सांसद निधि का उपयोग भी समयबद्ध रहा।

वित्तीय वर्ष    खर्च

  • 2014-15: 4.94 करोड़
  • 2015-16: 5.07 करोड़
  • 2016-17: 5.58 करोड़
  • 2017-18: 2.22 करोड़
  • 2018-19: 8.31 करोड़

सोशल मीडिया पर सक्रियता

हरिद्वार सांसद डा. रमेश पोखरियाल निशंक सोशल मीेडिया पर काफी सक्रिय रहे हैं, उनका फेसबुक और ट्विटर पर अकाउंट है। उन्होंने 11 मार्च को ही इंस्टाग्राम पर भी खाता खोला है। इन सभी पर वह केंद्र व राज्य सरकार की नीतियों, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों और समाजहित के मुद्दों को लेकर चर्चा में रहते हैं।

फालोअर्स

  • फेसबुक:  9 लाख से अधिक
  • ट्विटर:    57300
  • इंस्टाग्राम:  150

सांसद आदर्श गांव के मामले में मिलाजुला प्रदर्शन 

पांच साल में दो गांवों गोवर्धनपुर और जमालपुर को सांसद आदर्श गांव के तहत गोद लिया गया। पहले साल गोद लिए गए लक्सर विधानसभा के गोवर्धनपुर गांव में मत्स्य पालन, गोशाला निर्माण, हाईस्कूल के उच्चीकरण, पुलिस चौकी के नए भवन के निर्माण, जर्जर बिजली लाइनों को बदलने के काम धरातल पर नहीं उतर पाए। गांव को जलभराव की समस्या की जस की तस बनी है। जमालपुर गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कोई भवन आवंटित नहीं हो पाया। उज्ज्वला योजना के तहत केवल 275 कनेक्शन मिले, जबकि अन्य योजनाएं अभी फाइलों में ही हैं।

जन संपर्क पर रहा फोकस

हरिद्वार सांसद ने जन संपर्क को सामान्य रूप से बनाए रखा, लेकिन सरकारी कार्यक्रमों, उद्घाटनों, समीक्षा बैठकों में उनकी ठीकठाक सक्रियता रही। यह जरूर है कि सांसद की सक्रियता को लेकर विपक्ष के साथ ही अपनी पार्टी के लोग भी सवाल उठाते रहे।