दून की मिताली ने साधे एक साथ तीन लक्ष्य

पहली को श्रीनगर में ठाकुर गुमान सिंह बिष्ट स्वर्ण पदक
देहरादून 27 नवंबर ! लक्ष्य प्राप्ति और जीवन में सफलता को सयाने कहते रहे हैं कि ’एकै साधे सब सधे,सब साधे सब जाय’ ! और भी कि ’ आधी छोड सारी को धावे,ऐसा डूबा पार न पावे’ ! इन सब समझाईशों का एक ही अर्थ है कि एक साथ एक से ज्यादा लक्ष्य साधने की कोशिशें विफलता का कारण बनती हे और समझदार को एक समय एक ही लक्ष्य संधान करना चाहिये ! लेकिन यदि कोई इन कहावतों को ही गलत साबित कर दे तो़? मानना पडेगा कि उसमें कुछ तो खास है !
ऐसा ही कर दिखाया है देहरादून के एक विशिष्ट पत्रकार तथा प्रकाशक की पुत्री मिताली कंडारी ने ! इस युवती ने एक ही सांस में हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर वर्श 2018 की परीक्षा में एमए इकोनोमिक्स में स्वर्ण पदक ही नही पाया बल्कि समान वर्ष में भारतीय स्टेट बैंक की प्रोबेशनरी आफिसर की परीक्षा भी उत्तीर्ण की है ! जैसे यही काफी न था ! मिताली ने इसी वर्ष विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से अर्थ शास्त्र विषय को ही लेकर नेट भी क्वालिफाई कर लिया हे !
एक समय डीबीएस डिग्री कालेज के छात्रनेता रहे मिताली के पिता महीपाल सिंह कंडारी  बताते हैं कि मिताली ने यह सफलता अपने प्रथम प्रयास में बिना कोचिंग के प्राप्त की है ! याद रहे, अविभाजित उत्तर प्रदेश के समय से महीपाल सिंह कंडारी ’उत्तरांचल गुंजन’ पत्रिका का प्रकाशन कर रहे हैं जिसका विषय ही शिक्षा जगत Image may contain: 4 people, including Mahipal Kandari, people standingहै ! संपर्क किये जाने पर उन्होने बताया कि मिताली को पहली दिसंबर को स्वामी मनमथन आडिटोरियम चौरास कैंम्पस श्रीनगर में आयोजित विश्वविद्यालय के छठें दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि भारतीय तटरक्षक के महानिदेशक राजेंद्र सिंह के हाथों ठाकुर गुमान सिंह बिष्ट स्मृति स्वर्ण पदक दिया जायेगा ! विगत दिनों दून विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उच्च शिक्षा मंत्री डाक्टर धन सिंह रावत तथा कुलपति प्रोफेसर चंद्रशेखर नौटियाल की पत्रकार वार्ता में मिले अपनी पुत्री की सफलताओं से गदगद कंडारी कहते हैं कि संतान से माता-पिता की पहचान बढे, इससे बढकर किसी के लिये और कोई सौभाग्य नही हो सकता और मिताली की मेहनत ने जीवन में उनके संघर्ष को एक गर्व करने लायक सौपान मिल गया है !
यहां 23 ओम विहार ,माता मंदिर रोड,देहरादून निवासी मिताली के माता श्रीमती बीना कंडारी बताती हैं कि मिताली की प्रारंभिक शिक्षा रिवरडेल स्कूल,बलबीर रोड की हे जिसके बाद 12 वीं तक की शिक्षा सेंट जोसेफ्स एकेडमी से प्राप्त कर मिताली ने 2016 में बीए इकोनोमिक्स आनर्स एमसीएन डीएवी कालेज चंडीगढ से किया ! मिताली के दादा सुरक्षा बलों से सेवानिवृत्त हैं जिन्हे अपनी पोत्री की उपलब्धियों पर स्वाभाविक रूप से गर्व है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *