दुश्मन की कैद फिर भी दृढ़, नहीं डिगा विंग कमांडर अभिनंदन का फौजी जज्बा

विंग कमांडर अभिनंदन

नयी दिल्ली: भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के पाकिस्तानी प्रयास को विफल करने के दौरान क्रैश हुए मिग लड़ाकू विमान के विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षा को लेकर जहां देशभर में चिंता है वहीं दुश्मन की कस्टडी में होने के बावजूद भी विंग कमाडंर अभिनंदन का फौजी जज्बा बना हुआ है। अभिनंदन का एक वीडियो सोशल मीडिया में साझा किया जा रहा है जिनमें साफ दिख रहा है कि वो दृढ़ता के साथ अपना संतुलन बनाए हुए हैं।

विडियो में अभिनंदन हाथ में एक चाय का कप पकड़े हुए नजर आ रहे हैं और कह रहे हैं, ‘मेरा नाम विंग कमांडर अभिनंदन हैं और मैं बताना चाहता हूं कि पाकिस्तान आर्मी के ऑफिसर मेरा पूरा ख्याल रख रहे हैं। मैं भारत जाकर भी अपना बयान नहीं बदलूंगा। पाक आर्मी ने मुझे भीड़ से मुझे बचाया। मैं उम्मीद करूंगा कि मेरी आर्मी भी ऐसा ही बर्ताव करे।’  जब पाकिस्तानी आर्मी के ऑफिसर उनसे पूछते हैं कि वह भारत में कौन सी जगह से ताल्लुक रखते हैं तो विंग कमांडर पूरी दृढता से जवाब देते हुए कहते हैं, ‘क्या मुझे यह बताना चाहिए? सॉरी मेजर… मैं नहीं बता सकता।’ इसके बाद जब पाकिस्तानी अधिकारी उनसे कहते हैं, ‘उम्मीद है कि चाय आपको पंसद आई होगी?’,  इस पर विंग कमांडर कहते हैं, ‘चाय बहुत जबरदस्त है, थैक्यू।”

जब उनसे पूछा गया कि वह कौन सा एयरक्राफ्ट उड़ा रहे थे, जवाब देते हुए विंग कमांडर कहते हैं, ‘सॉरी मेजर मैं यह नहीं बता सकता’ जब उनसे पूछा जाता है कि आप कौन से मिशन पर थे, तो उन्होंने कहा, ‘सॉरी मैं अपने मिशन के बारे में नहीं बता सकता हूं।’ कहा जा रहा है कि यह वीडियो पाकिस्तानी आर्मी का प्रपोगेंडा भी हो सकता है तांकि विश्व को बताया जा सके कि हम भारतीय ऑफिसर का पूरा ध्यान रख रहे हैं।

इससे पहले भारत ने बुधवार को पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को तलब किया और दोनों देशों की वायुसेनाओं के बीच हवाई झड़प के बाद पाकिस्तान द्वारा हिरासत में लिए गए भारतीय पायलट की तत्काल और सुरक्षित वापसी की मांग की।विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान को स्पष्ट कर दिया गया है कि भारतीय रक्षाकर्मी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए।

पाक का पायलट वापसी का ‘पैंतरा’, भारत ने दिया कड़ा जवाब

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच पाकिस्तान ने नया पैंतरा चला है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने एक टीवी चैनल से कहा कि अगर पायलट (विंग कमांडर अभिनंदन) की वापसी से डि-एस्केलेशन होता है, तो पाकिस्तान पायलट को भी लौटने के लिए तैयार है। कुरैशी ने एक और पैंतरा चलते हुए कहा कि इमरान खान भारत के पीएम (नरेंद्र मोदी) को फोन करने को भी तैयार है। भारत ने इसका कड़ा जवाब दिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि पायलट की जल्द रिहाई होनी चाहिए, सौदेबाजी का तो सवाल ही नहीं उठता है।
सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान कंधार मामले जैसा दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है लेकिन भारत किसी भी तरह की सौदेबाजी के लिए तैयार नहीं है।सूत्रों ने कहा, भारत ने किसी नागरिक या सैन्य ठिकानों पर हमला नहीं किया था लेकिन पाकिस्तान भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर तनाव बढ़ाने का काम कर रहा है। भारत ने जानबूझकर एलओसी को पार नहीं किया था। भारत ने पाकिस्तान के युद्ध जैसी स्थिति पैदा करने के प्रयासों के विफल किया है। सूत्रों के अनुसार, भारत विंग कमांडर अभिनंदन की जल्द रिहाई की उम्मीद कर रहा है। यहां किसी तरह की डील का कोई सवाल नहीं है। अगर पाकिस्तान सोचता है कि उनके पास मोलभाव का कोई कार्ड है तो वे गलत हैं। भारत उम्मीद करता है कि विंग कमांडर के साथ मानवीय व्यवहार किया जाएगा। 
पाकिस्तान का नया पैंतरा

उधर, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, ‘पाकिस्तान भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई से दोनों देशों के बीच तनाव कम होता है तो वह इसके लिए विचार करने को तैयार हैं।’ उन्होंने पाकिस्तानी मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि इमरान खान भारत से फोन पर बातचीत के लिए तैयार हैं।

अभिनंदन को युद्धबंदी के दर्जे पर फैसला जल्द: पाक
वहीं, रक्षा मंत्रालय ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया है कि वह विंग कमांडर अभिनंदन के साथ सही व्यवहार नहीं कर रहा है। पाकिस्तान पर जिनीवा कन्वेंशन के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए भारत ने उससे तत्काल अपने पायलट को रिहा करने को कहा है। दूसरी तरफ पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को युद्धबंदी का दर्जा देने पर कुछ दिनों में फैसला हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *