दुश्मनों के बीच अभिनंदन ने दिखाई गजब बुद्धिमानी; निगल गए अहम दस्तावेज, हाथ मलते रह गए पाकिस्तानी

भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान ने पकड़े जाने से पहले गजब की बुद्धिमानी दिखाई। अभिनंदन दस्तावेजों को नष्ट करने के लिए तालाब में कूद गए।

Abhinandan Varthaman

भारतीय पायलट अभिनंदन को रिहा करेगा पाकिस्तान।

नई दिल्ली : पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों का पीछा करने वाले भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान पाक सेना की गिरफ्त में आने से पहले अपने गजब के साहस और हालात को भांपते हुए अद्भुत बुद्धिमानी का परिचय दिया। बुधवार को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों का पीछा करने के दौरान अभिनंदन का मिग-21 पीओके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हालांकि, अभिनंदन पैराशूट के जरिए सुरक्षित जमीन पर उतर गए। पीओके के दुश्मनों के बीच खुद को घिरे पाकर अभिनंदन ने जिस बुद्धिमानी का परिचय दिया वह अद्भुत है। उनके पास भारतीय वायु सेना के ऑपरेशन से जुड़ीं अहम जानकारियां थीं और ये सूचनाएं यदि पाकिस्तानी सेना के हाथ लग जातीं तो देश को सामरिक रूप से नुकसान हो सकता था।पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक भारतीय वायु सेना का मिग-21 जिसे अभिनंदन उड़ा रहे थे, वह नियंत्रण रेखा (एलओसी) से सात किलोमीटर अंदर पीओके में दुर्घटनाग्रस्त हुआ। विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से ठीक पहले अभिनंदन पैराशूट से निकलने में कामयाब हो गए। हालांकि जैसे ही वह जमीन पर उतरे तो उनका सामना सबसे पहले वहां के स्थानीय नागरिकों से हुआ। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्टों की मानें तो स्थानीय लोगों ने अभिनंदन को यह जताने की कोशिश की कि वह भारत में हैं। हालांकि, अभिनंदन को यह भांपने में देर नहीं लगी कि वह भारत में नहीं बल्कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हैं।Image result for पायलट अभिनंदन

खुद को कठिन स्थितियों में भांपकर अभिनंदन नियंत्रण रेखा की तरफ भागने लगे और इस दौरान उन्होंने चेतावनी देते हुए हवा में गोलियां चलाईं लेकिन जब उन्हें लगा कि वह एलओसी तक नहीं पहुंच पाएंगे और दुश्मनों के हाथ लग जाएंगे तो वह गजब की बुद्धिमत्ता का परिचय देते हुए एक तालाब में कूद गए।

इस दौरान अभिनंदन ने यह सुनिश्चित किया कि उनके पास गोपनीय एवं ऑपरेशन से जुड़े जो अहम दस्तावेज उनके पास हैं, वे किसी भी तरह पाकिस्तानी फौज के हाथ न लगें। रिपोर्टों में कहा गया कि अभिनंदन ने कुछ दस्तावेजों को निगलने की कोशिश की और इसके बाद तालाब में कूद गए ताकि दस्तावेज पानी में घुलकर बेकार हो जाएं। इसी बीच, पाकिस्तानी सेना के जवान वहां पहुंच गए और उन्होंने अभिनंदन को अपनी हिरासत में ले लिया। रिपोर्टों में कहा गया कि हिरासत में लिए जाने के बाद उन्हें भीमबेर अस्पताल ले जाया गया। Image result for पायलट अभिनंदन

पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने बुधवार सुबह जम्मू-कश्मीर में भारतीय वायु सीमा का उल्लंघन किया और वहां रक्षा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की लेकिन भारतीय वायु सेना के विमानों ने उन्हें चुनौती देते हुए खदेड़ दिया। मिग-21 जिसे अभिनंदन उड़ा रहे थे, वह दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले पाकिस्तान के एक एफ-16 को मार गिराया।

पहले फैमिली- घर का पूछ अभिनंदन से किया दोस्ती का दिखावा, फिर दुश्मन मेजर ने पूछी ऐसी बात, जिससे साबित हुआ कि वो वाकई पाकिस्तानी है

पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को खदेड़ने में भारत का मिग-21 क्रैश हो गया। पायलट ने क्रैश होते विमान से एक्जिट किया, लेकिन पाकिस्तान की सीमा में जा गिरा। इसके बाद जो हुआ उसे पूरी दुनिया ने देखा। किस तरह से भारतीय पायलट को डराया गया, प्रताड़ित किया गया, इसके वाबजूद पायलट अभिनंनद ने अपनी वीरता का परिचय दिया। दुश्मन की जमीन पर खड़े होकर हाथ में चाय की प्याली लिए नजर आए।पाकिस्तानी मेजर सवाल पर सवाल कर रहा था, लेकिन सूजी हुई आंखों और चोट के बावजूद वो जरा सा भी डरे नहीं। मेजर की आंखों में आंखे डालकर जवाब दिया। कोई भी ऐसी जानकारी दुश्मन को नहीं दी, जिससे देश को खतरा हो।

पाकिस्तानी मेजर कर रहा था सवाल-जवाब : विंग कमांडर अभिनंदन के 1.19 मिनट के वायरल वीडियो में दिख रहा है कि वो निर्भीक होकर मेजर के सवालों के जवाब दे रहे हैं। इस दौरान पाकिस्तानी मेजर ने पहले दोस्ताना रवैया दिखाया, लेकिन कुछ देर बाद भी अभिनंदन से उनके मिशन और कुछ खूफिया जानकारी जाननी चाही। ये मेजर का वो रूप था, जो पाकिस्तान की हकीकत है। हालांकि अभिनंदन ने बड़ी खूबसूरती से मेजर के सवालों का जवाब देने से मना कर दिया।

मेजर ने अभिनंदन से पूछे ये सात सवाल :

सवाल न. 1- पाक मेजर : आपका नाम क्या है
जवाब- अभिनंदन : मेरा नाम विंग कमांडर अभिनंदन है। मेरे पास उसके सबूत भी हैं।

सवाल न. 2- पाक मेजर : उम्मीद है कि आपके साथ यहां अच्छा व्यवहार किया जा रहा है ?
जवाब- अभिनंदन : हां, मेरे साथ अच्छा व्यवहार किया जा रहा है। मेरा ये बयान भारत लौटने पर भी नहीं बदलेगा। कैप्टन ने मुझे भीड़ से बचाया। आप सभी भले लोग हैं। मैं चाहता हूं भारतीय सेना भी इसी तरह का व्यवहार करें।

सवाल न. 3- पाक मेजर: कहां के रहने वाले हैं?
जवाब- अभिनंदन: मैं ये नहीं बता सकता। दक्षिण भारत में कहीं का हूं।

सवाल न. 4- पाक मेजर : क्या आपने शादी की है?
जवाब- अभिनंदन : हां मैंने शादी की है।Image result for पायलट अभिनंदन

सवाल न. 5- पाक मेजर : पाक मेजर: चाय पसंद आई ?
जवाब- अभिनंदन : बहुत अच्छी है, थैंक्यू।

सवाल न. 6- पाक मेजर: कौन सा विमान उड़ा रहे थे ?
जवाब- अभिनंदन : सॉरी! मैं ये भी नही बता सकता। लेकिन, विमान के मलबे से आपको पता चल गया होगा।

सवाल न. 7- पाक मेजर: आपका मिशन क्या था ?
जवाब- अभिनंदन: सॉरी मेजर ! मैं ये भी आपको नहीं बता सकता।

अभिनंदन ने पाकिस्तान में देशभक्ति के नारे लगाए, गोलियां चलाईं

विंग कमांडर अभिनंदनइमेज कॉपीरइटSOCIAL MEDIA

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने का आदेश दिया है. प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने यह घोषणा संसद में की.

भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन जब पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के इलाक़े में गिरे तो क्या हुआ, यह सब लोग जानना चाहते हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा है कि विंग कमांडर को शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा लेकिन ये सवाल सभी के दिमाग़ में है कि विंग कमांडर अभिनंदन आख़िर कैसे पकड़े गए?

इसके बारे में भिंबर ज़िले के होर्रान गांव के सरपंच मोहम्मद रज़ाक चौधरी ने बीबीसी कोआँखों देखा हाल सुनाया.

58 साल के रज़ाक चौधरी इमरान ख़ान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ़ से भी जुड़े हैं.

अभिनंदन ने पूछा यह भारत है या पाक

चौधरी ने बताया कि भिंबर ज़िले में, नियंत्रण रेखा से सात किलोमीटर दूर होर्रान गांव के लोगों ने आसमान में लड़ाकू विमानों के बीच लड़ाई देखी थी. पता चला कि दो विमान हिट हुए हैं, जिनमें से एक तेज़ी से नियंत्रण रेखा के पार चला गया जबकि दूसरे में आग लग गई और वह तेज़ रफ़्तार से नीचे आने लगा.गांव वालों ने विमान का मलबा गिरता देखा और पैराशूट से सुरक्षित उतरते हुए पायलट को भी देखा.

विंग कमांडर अभिनंदन

यह पायलट अभिनंदन थे, उनके पास पिस्तौल थी और उन्होंने पूछा कि ‘ये भारत है या पाकिस्तान.’

नक्शा और पिस्तौल
नक्शा और पिस्तौल

चौधरी बताते हैं, “इस पर एक होशियार पाकिस्तानी लड़के ने जवाब दिया कि ये भारत है. इसके बाद पायलट ने भारत की देशभक्ति वाले कुछ नारे लगाए, इसके जवाब में गांव के लोगों ने ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे लगाए.”

सरपंच चौधरी ने बीबीसी को बताया, “मैंने देख लिया था कि पैराशूट पर भारत का झंडा बना था, मैं जान चुका था कि वह भारतीय पायलट है. मेरा इरादा पायलट को ज़िंदा पकड़ने का था. स्थानीय लोग उस ओर दौड़े जिधर पायलट का पैराशूट गिरा था, मैं समझ गया था कि ये लोग पायलट को नुकसान पहुंचा सकते हैं, या पायलट उनको नुकसान पहुँचा सकता था.”

 

अभिनंदन ने दस्तावेज़ नष्ट कर दिए

चौधरी ने बताया, “भारतीय पायलट ने कहा कि उनकी पीठ में चोट लगी है और उन्होंने पीने के लिए पानी मांगा. नारेबाज़ी से नाराज़ गांव के लड़कों ने हाथ में पत्थर उठा लिए. तभी मामला समझकर लड़कों को डराने के लिए पायलट ने हवा में गोलियां चलाईं. भारतीय पायलट पीछे की तरफ़ आधा किलोमीटर भागा और पिस्तौल का निशाना नौजवानों पर लगाए हुआ था. पायलट आगे और गांव के लड़के पीछे, वह पिस्तौल से नहीं डरे”.

दस्तावेज़पाकिस्तानी सेना द्वारा जारी दस्तावेज़

मौक़े पर मौजूद लोगों के मुताबिक़, भारतीय पायलट ने छोटे से तालाब में छलांग लगा दी, जेब से कुछ सामान और दस्तावेज़ निकाले. कुछ निगलने की कोशिश की, कुछ पानी में डालकर ख़राब करने की.

दस्तावेज़ पाकिस्तानी सेना द्वारा जारी दस्तावेज़

चौधरी ने बताया, “नौजवानों ने पायलट को पकड़ लिया. कुछ ने उन्हें लात-घूंसे मारे, जबकि दूसरे लोग उन्हें रोकने की कोशिश कर रहे थे, तभी पाकिस्तानी सेना के लोग पहुंचे और विंग कमांडर अभिनंदन को अपनी हिरासत में ले लिया और गुस्साई भीड़ को पिटाई करने से रोका.”

हिरासत में लेने के बाद विंग कमांडर को भिंबर की सैन्य इकाई में ले जाया गया, पिटाई की वजह से उन्हें जो चोटों आईं थीं उनसे ही ख़ून निकल रहा था. वैसे आसमान से गिरने के बाद उन्हें कोई चोट नहीं आई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *